कौन से फलों का सेवन प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए

प्रेगनेंसी के दौरान फलों का सेवन गर्भवती महिला को जरूर करना चाहिए। क्योंकि फलों का सेवन करने से न केवल गर्भवती महिला को पोषक तत्व मिलते हैं। बल्कि फलों का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली बहुत सी परेशानियों से बचे रहने में भी मदद मिलती है। लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान सभी फलों का सेवन किया जाए यह भी सही नहीं है। क्योंकि कुछ फल ऐसे होते हैं जो प्रेग्नेंट महिला और बच्चे की सेहत पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में कौन से फल नहीं खाने चाहिए।

कच्चा पपीता: गर्भवती महिला को कच्चे पपीते का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इसमें लेटेक्स की मात्रा अधिक होती है साथ ही इसमें मौजूद एंजाइम बच्चे के विकास पर बहुत बुरा असर डालते हैं। साथ ही इसके कारण गर्भपात होने के साथ समय से पहले डिलीवरी होने की आशंका भी हो जाती है।

अंगूर: कभी- कभी गर्भवती महिला चाहे तो स्वाद के लिए दो चार अंगूर का सेवन कर सकती है। जैसे की फ्रूट चाट आदि में डालकर अन्य फलों के रस के साथ मिलाकर अंगूर का रस आदि भी पी सकती है। लेकिन रोजाना और सिमित मात्रा से ज्यादा अंगूर का सेवन करने से गर्भाशय में संकुचन होने का खतरा हो सकता है। जिसके कारण महिला को शुरूआती समय में ब्लीडिंग का खतरा, और प्रेगनेंसी की आखिरी तिमाही में समय से पहले डिलीवरी होने का खतरा हो सकता है।

अनानास: अनानास का सेवन भी गर्भवती महिला को नहीं करना चाहिए क्योंकि अनानास का सेवन करने से भी गर्भाशय में संकुचन का खतरा होता है। जिसके कारण प्रेग्नेंट महिला व् बच्चे दोनों को दिक्कत हो सकती है।

तो यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी इन फलों का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इन फलों का सेवन करने से प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानियां बढ़ सकती है। इसके अलावा जो भी फल आप खाते हैं वो मौसमी फल होना चाहिए। और फलों को अच्छे से धोने के बाद ही खाने के लिए प्रयोग में लाना चाहिए।