Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गला खराब होने और दर्द करने के घरेलू उपचार

0

गले में दर्द के घरेलू उपचार

सर्दी और बारिश के मौसम में सबसे बड़ी परेशानी तबियत खराब होने की ही होती है। बदलता मौसम शरीर और मन को तो सुकून दे देता है लेकिन यही मौसम शरीर को तकलीफ भी देता है। बदलते मौसम की वजह से सर्दी, जुखाम, बुखार, गले में दर्द जैसी समस्याएं होने लगती है। इन सभी में सबसे अधिक तकलीफ गला खराब होने और गले में दर्द होने की होती है। जिसकी वजह से व्यक्ति ना तो ठीक से कुछ खा पाता है और ना ही पी पाता है।

गले में दर्द की समस्या तब तक नहीं जाती जब तक जुखाम और बुखार पूरी तरह ठीक ना हो जाए। गले में दर्द का एक कारण गले का संक्रमण भी होता है जो अधिकतर बारिशों के मौसम में होता है। अगर आपका गले में दर्द हो रहा है और कई उपाय करने के बाद भी ठीक नहीं हो रहा, तो यहाँ हम कुछ घरेलू उपचार बता रहे हैं जिनकी मदद से गला खराब होने में राहत मिल सकती है।

नमक के पानी के गरारे

गुनगुने पानी में नमक मिलाकर गरारे करने से गले में दर्द  की समस्या से राहत मिलती है। गला खराब होने पर भी नमक के पानी के गरारे करने चाहिए। दरअसल नमक में एंटी बायोटिक गुण होते हैं जो गले में पहुंचकर दर्द पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देते है और खराश में आराम देते हैं।

तेजपत्ते की चाय

पानी को गैस पर उबालकर उसमे चायपत्ती, चीनी और तेजपत्ता डालकर अच्छे से खौला लें। अब इस पानी को छान लें और फिर इसमें दूध मिलाएं। गला खराब होने पर इस चाय का सेवन करें गले के दर्द में आराम मिलेगा और जल्द ही गला ठीक हो जाएगा।

लौंग, काली मिर्च और शहद

इस उपाय के लिए एक ग्लास पानी में एक चुटकी काली मिर्च पाउडर, एक चुटकी पीसी हुई लौंग और एक चम्मच शहद मिलाकर काढ़ा बना लें और गला ठीक होने तक रोज सुबह इस काढ़े को पीएं। गला बिलकुल ठीक हो जाएगा।

मेथी के दाने

पानी में थोड़े से मेथी के दाने डालकर उसे गर्म कर लें। अब इस पानी को छान उससे गरारे करें। ऐसा करने से संक्रमण जल्दी ठीक होगा और दर्द में भी आराम मिलेगा।

तुलसी

तुलसी में बहुत से एंटीसेप्टिक गुण होते है जो हर प्रकार के संक्रमण को ठीक करने में सक्षम होते हैं। आप इसकी चाय बनाकर या माउथवाश बनाकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। ये गले को ठंडक पहुँचाने के साथ-साथ संक्रमण को भी ठीक करती है।

अदरक

गले में बहुत दर्द होने या खराश होने पर अदरक का रस पीने से बहुत लाभ मिलता है। इसके लिए आप अदरक को पीसकर उसका रस बना लें और उसमे थोड़ा सा शहद मिलाकर गर्म कर लें। हल्का सहने योग्य होने पर इसका सेवन करें। गले में आराम मिलेगा।

मुलेठी

गला खराब होने पर मुलेठी का छोटा सा टुकड़ा मुंह में रख कर चबाएं और उसके रस का सेवन करें। इससे गले के दर्द में आराम मिलेगा।

प्याज का रस

सर्दी के कारण गले में दर्द होने पर प्याज का रस निकाल लें और उसका सेवन करें। आप चाहे तो इसमें थोड़ा शहद भी मिला सकते हैं।

सिरका

गले में खराश होने पर गुनगुने पानी में थोड़ा सिरका मिलाकर गरारे करने से भी फायदा होता है।

मिश्री

गला बैठ जाने पर मिश्री और काली मिर्च को मुंह में रखकर चबाएं और उसका रस चूसते रहें बैठा हुआ गला ठीक हो जाएगा।

लहसुन

गले में तेज खराश होने के साथ-साथ यदि खांसी हो तो लहसुन की कुछ कलियों को गैस पर काला होने तक भून लें और उसके बाद छीलकर चबाकर खाएं। दर्द और खांसी में आराम मिलेगा।

अंजीर

गला खराब होने पर पानी में 5 अंजीर डालकर उबाल लें। उसके बाद छाने और पानी को गर्म गर्म सुबह और शाम पियें। ऐसा करने से खराब गले में आराम मिलेगा।

इन चीजों से परहेज करें 

उपाय के साथ साथ कुछ परहेज भी करने होंगे – जैसे

  • गले में दर्द होने पर ठंडा पानी का सेवन नहीं करें।
  • बर्फ आदि के सेवन से बचें।
  • बहुत ज्यादा मसालेदार भोजन को खाने से बचें।
  • बाहर का खाना बिलकुल ना खाएं।
  • दही और दूसरी ठंडी चीजों का सेवन ना करें।
  • जितना हो सके गर्म खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  • पानी भी उबालकर पियें।

यदि आप इन सभी बातों का ध्यान रखने के साथ साथ ऊपर बताये गए उपायों का इस्तेमाल करेंगे तो निश्चित रूप से आपके गले का दर्द ठीक हो जाएगा।

Leave a comment