Take a fresh look at your lifestyle.

गर्भ में बेबी इसीलिए किक करता है क्योंकि वो यह कहना चाहता है?

0

माँ और बच्चे का रिश्ता इस दुनिया का सबसे प्यारा रिश्ता है। तभी तो बच्चे के गर्भ में आने के बाद से ही माँ उसका ख्याल रखना शुरू कर देती है और हर एक काम को करते हुए यह सोचती है की इसे करने से बच्चे को कोई नुकसान तो नहीं होगा। गर्भ में शिशु का हलचल करना, किक मारना प्रेगनेंसी का बहुत ही बेहतरीन पल होता है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की आखिर गर्भ में शिशु किक क्यों मारता है? जी नहीं, इसमें घबराने की कोई बात नहीं हैं, बल्कि गर्भ में शिशु का किक करना अच्छी बात होती है। लेकिन गर्भ में शिशु के किक करने के कई कारण होते हैं तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको गर्भ में शिशु के किक करने के कुछ कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं।

जब आप कुछ खाती है

प्रेग्नेंट महिला जब कुछ खाती है तो उसका स्वाद एमनियोटिक फ्लूड के माध्यम से शिशु तक भी पहुँचता है। ऐसे में माना जाता है की यदि गर्भ में शिशु को उस चीज का स्वाद पसंद आता है तो गर्भ में शिशु तेज हलचल करने लगता है। यानी शायद वो कहना चाहता है की उसे यह टेस्ट अच्छा लगा है।

ज्यादा तेज आवाज़

गर्भ में पांचवें छठे महीने के बाद शिशु की सुनने की क्षमता में भी वृद्धि होने लगती है। ऐसे में जब बाहर तेज आवाज़ होती है, आप शोरगुल वाली जगह पर होती है, तो तेज आवाज़ सुनकर गर्भ में शिशु घबरा जाता है। और शिशु तेजी से हलचल करता है जो की महिला को किक जैसी महसूस होती है।

बाईं और करवट लेकर सोने पर

जब महिला बाईं को करवट लेकर सोती है तो ऐसा करने से गर्भ में शिशु तक रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। और ब्लड फ्लो बढ़ने के कारण शिशु तेजी से हलचल कर सकता है। इसके अलावा महिला जब आराम से बैठती है तो भी शिशु तेजी से मूवमेंट करने लगता है।

ठंडा पानी या ठंडी चीजें खाने पर

जब प्रेग्नेंट महीने ठंडा पानी पीती है या ठंडी चीजों का सेवन करती है। तो ऐसा करने से एमनियोटिक फ्लूड के तापमान में फ़र्क़ आ जाता है जिसके कारण गर्भ में शिशु आपको तेजी से किक करता है।

जब माँ करती है बातें

शिशु से अपने अहसास और रिश्ते को और गहरा करने के लिए जब गर्भवती महिला पेट पर हतः फेरती हुई अपने बच्चे से बातें करती है। तो कई बार शिशु इस पर प्रक्रिया देते हैं और वो इसका जवाब बोलकर तो नहीं देते हैं। लेकिन किक मारकर जरूर बता देते हैं की उन्हें अच्छा लग रहा है।

स्वस्थ शिशु की है निशानी

ऐसा भी नहीं है की जब कुछ होगा तभी शिशु की किक मारेगा। बल्कि जब शिशु गर्भ में मूवमेंट करता है तब भी शिशु किक मारता है। और शिशु का किक मारना इस बात की और इशारा करता है की गर्भ में पलने वाला शिशु बिलकुल स्वस्थ है।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से गर्भ में शिशु किक करता है। तो यदि आप बच्चा भी किक करता है तो आप भी उसे एन्जॉय करें, क्योंकि यह प्रेगनेंसी का एक बेहतरीन अनुभव होता है। जो केवल एक महिला ही महसूस कर पाती है। साथ ही यदि गर्भ में शिशु की हलचल में कमी हो तो यह दिक्कत की बात होती है ऐसे में शिशु की हलचल में कमी होने पर एक बार डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी होता है। साथ ही यदि आपको शिशु की हलचल कभी कम महसूस हो तो आप ऊपर दिए गए टिप्स को शिशु की हलचल महसूस करने के लिए ट्राई भी कर सकते हैं। लेकिन तेज आवाज़ वाला ट्राई न करें क्योंकि इससे शिशु की सुनने की क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है।

Why baby kicks in the mother’s womb during Pregnancy

Leave A Reply

Your email address will not be published.