गर्भावस्था में इन्फेक्शन से ऐसे करें बचाव

गर्भावस्था में इन्फेक्शन से ऐसे करें बचाव, प्रेगनेंसी के दौरान इन्फेक्शन से बचने के टिप्स, गर्भवती महिला ऐसे करें इन्फेक्शन से बचाव, प्रेगनेंसी में इन्फेक्शन से बचने के लिए अपनाएँ यह टिप्स, गर्भवती महिला इन बातों का रखे खास ध्यान

प्रेगनेंसी किसी भी महिला का सबसे खास और सुखद अहसास होता है, और इस लम्हे को बेहतरीन तरीके से एन्जॉय करने के लिए और गर्भ में शिशु के बेहतर विकास के लिए जरुरी होता है, की गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह की लापरवाही न करे। क्योंकि गर्भ में पल रहे शिशु पूरी तरह से माँ पर ही निर्भर होता है, ऐसे में महिला यदि किसी तरह की लापरवाही करती है तो ऐसा करने से न केवल प्रेग्नेंट महिला के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। बल्कि इसके कारण गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है। जैसे की यदि प्रेगनेंसी के दौरान महिला को इन्फेक्शन की समस्या जाती है तो हो सकता है की गर्भनाल के रास्ते उस इन्फेक्शन का वायरस गर्भ में पल रहे शिशु तक पहुँच जाए। और शिशु का विकास इससे प्रभावित हो जाए, तो आइये आज हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान इन्फेक्शन की समस्या से बचने के लिए आप किन किन टिप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं उनके बारे में बताते हैं।

साफ़ सफाई का रखे ध्यान

गर्भवती महिला को सबसे पहले तो अपने आस पास की चीजों, अपने खाने पीने की चीजों, अपने इस्तेमाल किये जाने वाले अन्य सामान की सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि यदि आप इनकी साफ़ सफाई नहीं रखती है तो इस पर धूल मिट्टी के जमने के कारण हानिकारक बैक्टेरिया का जमाव हो सकता है। जो आपके हाथों के माध्यम से आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है जिसके कारण आपको स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या इन्फेक्शन आदि की समस्या सामना करना पड़ सकता है।

खान पान में बरते सावधानी

ज्यादा देर कटे पड़े फल व् सब्जियां, बिना धुली हुई फल सब्जियां, बिना ढका रखा हुआ खाना , स्प्राउट्स, अंकुरित सब्जियां आदि का सेवन भी गर्भवती महिला नहीं करना चाहिए। क्योंकि इस पर हानिकारक बैक्टेरिया का जमाव हो सकता है जिसके कारण आपको इन्फेक्शन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को बेहतर स्वस्थ और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास के लिए ताजा, संतुलित, पोषक तत्वों से भरपूर आहार ही लेना चाहिए। खाने में एक बात का और खास ध्यान रखें की खाना ताजा होने के साथ अच्छे से पका हुआ भी होना चाहिए, क्योंकि अधपका खाना पेट में इन्फेक्शन की समस्या खड़ी कर सकता है।
साथ ही खाने के बाद और खाने से पहले अपने हाथ अच्छे से धोएं, और सुखाएं।

पानी का करे भरपूर सेवन

पानी की कमी के कारण या शरीर में विषैले पदार्थो के जमाव के कारण प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को यूरिन में इन्फेक्शन की समस्या हो सकती है। और यूरिन में इन्फेक्शन महिला के लिए प्रेगनेंसी के दौरान प्राइवेट पार्ट में जलन, खुजली, बार बार यूरिन की समस्या आदि जैसी परेशानी को बढ़ा सकता है। ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए गर्भवती महिला को पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए, इससे बॉडी को हाइड्रेट रहने, प्रेगनेंसी के दौरान ऊर्जा से भरपूर रहने, यूरिन इन्फेक्शन से बचाव, शरीर से विषैले पदार्थो को बाहर निकालने जैसी समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है।

प्रदूषण से बचें

गर्भवती महिला के लिए प्रदूषण से बचाव बहुत जरुरी होता है क्योंकि इसके बुरे प्रभाव से केवल गर्भवती महिला ही नहीं बल्कि गर्भ में पल रहा शिशु भी प्रभावित होता है, जिससे उसके शारीरिक के साथ मानसिक विकास में भी कमी आ सकती है। ऐसे में गर्भवती महिला को अधिक प्रदूषण वाली जगह पर नहीं जाना चाहिए, साथ ही जब भी घर से निकले तो मुँह पर मास्क का प्रयोग करना चाहिए।

बाहर के खाने से बचें

बॉडी में हो रहे हार्मोनल बदलाव के कारण प्रेगनेंसी के दौरान महिला के जीभ के स्वाद में परिवर्तन आना बहुत ही आम होती है। और कई बार महिला का बाहर का चटपटा खाने का मन करता है, जंक फ़ूड खाने का मन करता है, लेकिन महिला को इन सबके सेवन से परहेज करना चाहिए। क्योंकि बाहर का खाना महिला के लिए इन्फेक्शन की समस्या खड़ी कर सकता है।

भीड़भाड़ से बचें

गर्भवती महिला को किसी भी ऐसी जगह पर नहीं जाना चाहिए जहां पर अधिक भीड़ हो या अधिक शोर हो क्योंकि ऐसी भीड़ में जाना भी महिला को इन्फेक्शन से ग्रसित कर सकता है। और ज्यादा शोर आदि में जाने के कारण गर्भ में पाक रहे शिशु के सुनने की क्षमता में कमी आ सकती है। ऐसे में जितना हो सके आपको ऐसी जगह पर जाने से बचना चाहिए।

जिन चीजों से एलर्जी हो उनसे बचें

प्रेगनेंसी में महिला को उन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए जिससे महिला को इन्फेक्शन या एलर्जी होने की सम्भावना रहती है, क्योंकि हो सकता है यह गर्भवती महिला के साथ गर्भ में शिशु को भी प्रभावित करे। साथ ही यदि आपको किसी चीज से एलर्जी हो जाए तो बिना देरी किये तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

कच्चा दूध व् उससे बनी चीजों से रखे परहेज

गर्भवती महिला को कच्चा दूध, उससे बना पनीर आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसमें भी हानिकारक बैक्टेरिया होता है जो गर्भवती महिला के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

घर में जानवर हो तो उससे रखे दूरी

हो सकता हो की आपके घर में कोई पालतू कुत्ता, बिल्ली या अन्य कोई जानवर हो तो ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान आपको उससे भी दूरी रखनी चाहिए। और हो सके तो उसके काम से भी बचना चाहिए लेकिन यदि घर में कोई नहीं है तो आप मास्क और ग्लव्स पहनकर ही उसका काम करें।

इन्फेक्शन के रोगी के पास न जाएँ

गर्भवती महिला को एक बात का खास ध्यान और रखना चाहिए की उन लोगो के संपर्क से दूर रहें जिन्हे इन्फेक्शन की समस्या होती है। क्योंकि इससे इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है, और यदि आपके घर में किसी को इन्फेक्शन हो गया है तो उस व्यक्ति के बर्तन, कपडे सब हो सके तो अलग रखने चाहिए।

डॉक्टर से करवाएं जांच

गर्भवती महिला को समय से अपने सभी इंजेक्शन लगवाने चाहिए, अच्छे से शारीरिक जांच करवानी चाहिए, ताकि महिला को प्रेगनेंसी के दौरान किसी तरह की समस्या न हो और गर्भ में पल रहे शिशु भी स्वस्थ रहे।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिनका इस्तेमाल आप प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ में पल रहे शिशु को इन्फेक्शन से बचाने के लिए कर सकते हैं। साथ ही इस दौरान महिला को अपने खान पान के प्रति बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए, समय से डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए, ताकि प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने के साथ प्रेगनेंसी में होने वाली किसी भी परेशानी से बचाव करने में मदद मिल सके।