Mom Pregnancy Health Lifestyle

गर्भवती महिलाओं को शरीर में तेल क्यों लगाना चाहिए

गर्भवती महिलाओं को शरीर में तेल क्यों लगाना चाहिए
0

गर्भवती महिलाओं को शरीर में तेल क्यों लगाना चाहिए, प्रेगनेंसी में मसाज करने के फायदे, गर्भावस्था के दौरान तेल लगाने के लाभ, प्रेगनेंसी के दौरान मालिश

गर्भावस्था के समय शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला को शारीरिक व् मानसिक रूप से बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में महिला को अपना दुगुना ध्यान रखना चाहिए ताकि इन सभी परेशानियों से निजात पाकर गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके। और इन्हे लिए महिला अपने आहार का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए, उठने बैठने का ध्यान रखना चाहिए, भरपूर आराम करना चाहिए, समय पर जांच करवानी चाहिए, आदि। इससे महिला को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहने में मदद मिलती है इसके अलावा एक और तरीका है जिसे यदि गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान इस्तेमाल करती है।

तो ऐसा करने से महिला को बहुत सी परेशानियों से निजात पाने में मदद मिलती है, और वह तरीका है गर्भावस्था के समय तेल का इस्तेमाल करना, यानी बॉडी की हल्की मसाज आदि करना। तेल लगाने से महिला को न केवल शारीरिक रूप से आराम मिलता है बल्कि मानसिक रूप से भी राहत मिलती है। लेकिन तेल का इस्तेमाल करते हुए एक बात का खास ध्यान रखना चाहिए की आप तेजी से और ज्यादा दबाव डालकर इसे बॉडी के लिए इस्तेमाल न करें। क्योंकि ऐसा करने से गर्भवती महिला और शिशु को परेशानी हो सकती है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी के समय तेल लगाने से कौन कौन से फायदे होते है।

त्वचा की नमी बरकरार रहती है

शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलाव और मांसपेशियों में खिंचाव के कारण स्किन से जुडी समस्या जैसे की स्किन का सुखना आदि भी प्रेगनेंसी के दौरान हो जाती है। ऐसे में स्किन को पोषण देने के लिए और उसकी नमी को बरकरार रखने के लिए आपको स्किन पर तेल लगाना चाहिए ताकि त्वचा की कोमलता को बरकरार रहने में मदद मिल सके।

खुजली से आराम

खुजली की समस्या से भी कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान परेशान रहती हैं। और यदि महिला नारियल, सरसों, या अन्य किसी तेल का इस्तेमाल स्किन के लिए करती है तो ऐसा करने से गर्भवती महिला को खुजली की समस्या से आराम मिल सकता है।

हार्मोनल संतुलन को बनाएं रखता है

गर्भावस्था के शुरुआत से ही बॉडी में हार्मोनल बदलाव होने शुरू हो जाते हैं, जिसके कारण महिला को शारीरिक व् मानसिक रूप से परेशानी हो सकती है। ऐसे में यदि महिला तेल से मसाज करती है तो इससे बॉडी में हार्मोनल संतुलन को बरकरार रखने में मदद मिलती है। जिससे महिला को आराम महसूस होता है।

तनाव कम होता है

प्रेगनेंसी की शुरुआत से हो बॉडी में होने वाले बदलाव व् प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याओं के कारण कुछ महिलाएं तनाव में भी आ जाती है। और तनाव गर्भवती महिला के साथ शिशु के लिए भी नुकसानदायक होता है। ऐसे में तनाव से निजात पाने के लिए भी तेल की मसाज महिला के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है

यदि महिला प्रेगनेंसी के हफ्ते में दो से तीन बार भी हल्के हाथों से अपनी बॉडी की मसाज करती है तो इससे बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर होने में मदद मिलती है। जो की न केवल गर्भवती महिला बल्कि शिशु के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है।

दर्द से आराम

कमजोरी, थकान, शरीर के अंगो में दर्द महसूस होना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है। और यदि आप तेल का इस्तेमाल गर्भवती महिला अपने शरीर के लिए करती है तो ऐसा करने से मांसपेशियों को आराम मिलता है। जिससे आपको शरीर के किसी भी अंग में होने वाली दर्द की समस्या से राहत मिल सकती है।

सूजन से आराम

कुछ गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान हाथों, पैरों में सूजन की समस्या हो सकती है। जिससे निजात पाने के लिए महिला तेल को हल्का गर्म करके यदि उससे मसाज करती है। तो ऐसा करने से महिला को आराम महसूस होता है, साथ ही सूजन भी कम होने लगती है, और यदि अधिक सूजन की समस्या होती है तो इसे नज़रअंदाज़ न करते हुए एक बार डॉक्टर से जरूर राय लेनी चाहिए।

हदय को मिलता है फायदा

कई बार कुछ गर्भवती महिलाओं को हदय की गति के अनियंत्रित होने जैसी समस्या हो जाती है, जो न केवल गर्भवती महिला बल्कि गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी नुकसानदायक हो सकती है। ऐसे में तेल की मसाज करने से शरीर को आराम मिलता है जिससे हदय की गति पर नियंत्रण पाने में मदद मिलती है।

बेहतर नींद

प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहने के लिए महिला का भरपूर और गहरी नींद लेना भी बहुत जरुरी होता है। और तेल की मसाज करने से महिला को भरपूर आराम मिलता है जिससे महिला को बेहतर नींद लेने में भी मदद मिलती है।

ऑक्सीजन का प्रवाह

गर्भ में शिशु को सुरक्षित रखने और गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने के लिए बॉडी में ऑक्सीजन का प्रवाह भी बेहतर तरीके से होने भी बहुत जरुरी होता है। और तेल से मसाज करने से रक्त वाहिकाओं की मदद से बॉडी में ऑक्सीजन का प्रवाह भी बेहतर तरीके से होता है, जिससे शिशु का विकास भी बेहतर तरीके से होता है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो आपको प्रेगनेंसी के दौरान आपको तेल की मालिश करने से आपको मिलते हैं। और तेल लगाने से पहले आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए की बॉडी को हाइड्रेट रखें, यानी की भरपूर मात्रा में पानी व् अन्य तरल पदार्थ का सेवन करें। साथ ही ज्यादा तेजी से और डिलीवरी के समय पास आने पर बॉडी पर ज्यादा मसाज नहीं करनी चाहिए इससे शिशु को नुकसान पहुँच सकता है।