Lifestyle Blog India
Uncategorized

प्रेगनेंसी में एड़ी में दर्द होने के कारण और उपाय

Heel-pain-during-pregnancy

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जैसे की उल्टियां आना, जी मिचलाना, जीभ के स्वाद में बदलाव आना, सिर दर्द व् चक्कर आना, बॉडी पेन रहना, पैरों व् एड़ी में दर्द महसूस होना आदि। और इन परेशानियों का गर्भवती महिला को होना बहुत ही आम बात होती है। आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दौरान एड़ी में होने वाले दर्द के कारण व् इस परेशानी के उपचार के बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेग्नेंट महिला को एड़ी में दर्द होने के कारण

  • गर्भावस्था के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला को एड़ी में दर्द महसूस होता है।
  • प्रेग्नेंट महिला का वजन यदि बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो इस कारण भी एड़ी में दर्द की समस्या होती है।
  • शरीर में पानी की कमी होने के कारण भी महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • जिन गर्भवती महिलाओं के शरीर में खून की कमी होती है उन महिलाओं को भी इस परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिला को पैरों में सूजन की समस्या हो सकती है और पैरों में सूजन होने के कारण महिला को एड़ी में दर्द होता है।
  • जो महिला पोषक तत्वों से भरपूर आहार नहीं लेती है उन महिलाओं को भी यह समस्या होती है।
  • गलत तरीके के जूते सैंडल पहनने के कारण भी महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  • ज्यादा भागदौड़ करने या लम्बे समय तक एक ही जगह पर खड़े रहने के कारण भी महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
READ  आयुर्वेद के अनुसार प्रेगनेंसी में कब और कितना घी खाना सेफ होता है?

प्रेगनेंसी में होने वाले एड़ी में दर्द की समस्या से बचाव के उपाय

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला को एड़ी में दर्द महसूस होता है। तो कुछ आसान टिप्स को ट्राई करने से महिला को इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलती है। तो आइये अब उन टिप्स के बारे में विस्तार से जानते हैं।

मालिश

एड़ी में दर्द की समस्या से बचाव के लिए एड़ी की मसाज करना सबसे आसान और असरदार उपाय है। इसके लिए आप सरसों के तेल को हल्का गर्म कर लें और उसके बाद इस तेल से अच्छे से अपने पैरों और एड़ी की मसाज करें। ऐसा करने से पैरों में ब्लड फ्लो अच्छे से होगा, मांसपेशियों को आराम महसूस होगा, जिससे गर्भवती महिला को एड़ी में दर्द की समस्या से बचे रहने में मदद मिलेगी। साथ ही रात को सोने से पहले तेल से मसाज करें ताकि आपको नींद भी अच्छी आये।

गर्म पानी की सिकाई

एक बाल्टी में गर्म पानी लेकर उसके नमक मिलाएं या फिर फिटकरी का इस्तेमाल करें, साथ ही ध्यान रखें की पानी उतना गर्म हो की आप उसमे पैरों को आराम से रख सकें। उसके बाद आप अपने पैरों को थोड़ी देर उस पानी में रखें। उसके बाद पैरों को बाहर निकालकर तोलिये से साफ़ कर लें। ऐसा करने से भी आपको इस समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है।

योगासन

प्रेगनेंसी के दौरान योगा करना बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही योगा करने से गर्भवती महिला को एड़ी में दर्द की समस्या से बचे रहने में भी मदद मिलती है। इसके लिए महिला उन योगा को करें जिसमे पैरों की स्ट्रेचिंग होती है। रोजाना यदि महिला थोड़ी देर योगा करती है तो ऐसा करने से महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

READ  प्रेगनेंसी में इन वजहों से होता है तनाव

सिकाई

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला को ज्यादा देर तक पैरों को लटकाकर बैठने में परेशानी होती है तो महिला एक बोतल में गर्म पानी डालकर या हीटिंग पैड में गर्म पानी डालकर सिकाई कर सकती है। ऐसा करने से भी महिला को एड़ी में दर्द से आराम मिलता है।

पोषक तत्वों से भरपूर डाइट

एड़ी में होने वाले दर्द की समस्या का एक कारण गर्भवती महिला के शरीर में होने वाली पोषक तत्वों की कमी भी होती है। ऐसे में गर्भवती महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला अपनी डाइट अच्छे से ले। और इसके लिए गर्भवती महिला डेयरी प्रोडक्ट्स यानी दूध दही, हरी सब्जियां, दालें, फ्रूट्स आदि का भरपूर सेवन करें। साथ ही सही समय से अपनी डाइट ले। यदि महिला अपनी डाइट को सही समय से लेती है साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेती है तो ऐसा करने से महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

ज्यादा देर एक जगह खड़ी न रहें

गर्भावस्था के दौरान एड़ी में दर्द की समस्या से बचाव के लिए महिला लम्बे समय के लिए एक ही जगह खड़ी न रहें, बहुत ज्यादा वाक नहीं करें, भारी सामान नहीं उठायें, आदि। यदि महिला इन बातों का ध्यान रखती है तो इससे भी महिला को एड़ी में दर्द की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

पानी पीएं भरपूर

गर्भवती महिला दिन में आठ से दस गिलास पानी पीने के साथ जूस, नारियल पानी व् अन्य तरल पदार्थों का सेवन भी भरपूर करे। यदि महिला ऐसा करती है तो ऐसा करने से बॉडी हाइड्रेट रहती है जिससे गर्भवती महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

READ  जब प्रेग्नेंट महिला उदास रहती है तो बच्चे की हार्टबीट पर क्या प्रभाव पड़ता है?

आरामदायक जूते चप्पल पहने

गर्भावस्था के दौरान महिला आरामदायक जूते व् चप्पल पहनें। क्योंकि इससे पैरों को आराम रहता है जिससे गर्भवती महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ उपाय जिन्हे ट्राई करने से गर्भवती महिला को एड़ी में दर्द की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है। इसके अलावा महिला भरपूर आराम भी करें क्योंकि महिला यदि भरपूर आराम करती है तो उतना ही महिला को प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

Causes and remedies for heel pain during pregnancy

Related posts

गर्भावस्था में दवाई खाने के तुरंत बाद यह चीजें नहीं खाएं?

Suruchi Chawla

The Classic ‘Jeans & A Nice Top’ Look Is Making A Comeback

Indian

प्रेग्नेंट महिला शिवरात्रि का व्रत करें या नहीं?

Suruchi Chawla

Leave a Comment