Ultimate magazine theme for WordPress.

ऐसे पता करें कितने वीक की प्रेगनेंसी है और बर्थ डेट (डिलीवरी डेट) कब होगी?

0

How to Calculate Delivery Date : माँ बनने का सफर वाकई बहुत सुखद अनुभव होता है, जिसे तय करने में महिलाओं को 9 महीनों का समय लगता है। अधिकतर लोग यही मानते है की एक महिला जिस महीने गर्भवती होती है उसे ठीक 9 महीने बाद उसके बच्चे का जन्म होता है जबकि ऐसा नहीं है। ये कभी कम या ज्यादा हो सकता है इसका कारण ये है की गर्भधारण का सही समय का पता नहीं चल पाता है। जिस दिन से महिला गर्भवती होती है और जिस दिन वो बच्चे को जन्म देती है उस पुरे चक्र में 38 हफ्तों का समय लगता है।

गर्भधारण कब होता है?

80 प्रतिशत महिलाएं गर्भधारण ओवुलेशन पीरियड के दौरान ही करती हैं, जो नियमित मासिक चक्र (28 days) में 14 से 16 दिन के बीच होता है। यानी मेंस के दो सप्ताह बाद का समय जिसे ओवुलेशन पीरियड कहा जाता है, यह समय दो से तीन दिन का होता है।

डिलीवरी डेट को कैसे कैलकुलेट करें?

1. लास्ट पीरियड्स के पहले दिन में 280 दिन (40 हफ्ते) जोड़कर डिलीवरी डेट का पता लगाया जा सकता है।
2. मासिक धर्म और ओवुलेशन पीरियड्स को प्रेग्नेंसी के पहले दो हफ़्तों के रूप में गिना जाता है। ऐसे में यदि डिलीवरी ड्यू डेट पर होती है तो बच्चा 38 हफ़्तों में जन्मा है ना की 40 हफ़्तों में!

Delivery Date for Pregnant Women : अगर आपको ऊपर वाले तरीके से डिलीवरी डेट कैलकुलेट करने में परेशानी हो रही है तो आप इस तरह से भी अपनी डिलीवरी डेट कैलकुलेट कर सकती हैं।

अधिकतर लोग आखिरी पीरियड्स शुरू होने के बाद के पहले दिन से ही प्रेगनेंसी साइकिल कैलकुलेट करना शुरू कर देते हैं। और यदि उस डेट में 280 दिन जोड़ दें तो ये समय 9 महीने के आस-पास हो जाता है। यानी आपकी डिलीवरी 9 महीने में होगी। या थोड़ा समय और लग सकता है। ये आपके हेल्थ पर निर्भर करता है।

कई बार ये कैलकुलेशन ठीक नहीं बैठती क्योंकि गर्भधारण हमेशा ओवुलेशन पीरियड के दौरान ही होता है, जो नियमित मासिक चक्र (28 days) में 14 से 16 दिन के बीच होता है।

इस हिसाब से प्रेगनेंसी 40 हफ्तों तक भी चल सकती है। परंतु ऐसा बहुत ही कम होता है क्योंकि ज्यादातर बच्चे 37 से 38 हफ्ते के बीच ही जन्म ले लेते हैं। कई बार ये अवधि 40 हफ़्तों की होती है।

डिलीवरी डेट का हिसाब ऐसे लगाएं : How to predict delivery date?

किसी भी बात को जानने से पूर्व आपके लिए यह जानना जरुरी है की कुछ ही महिला अपनी डिलीवरी डेट पर बच्चे को जन्म देती है। इसलिए किसी के भी लिए डिलीवरी डेट का अनुमान लगाना संभव नहीं। यहाँ तक की, आपके पीरियड्स का भी एक टाइम नहीं होता। हां, डॉक्टर आपको उसके आस पास का टाइम जरूर बता सकते है लेकिन ऐक्युरट डेट बताना संभव नहीं।

ड्यू डेट से पहले डिलीवरी होने के क्या कारण होते हैं?

अगर महिला किसी बीमारी से पीड़ित है, या ब्लड प्रेशर, शुगर की रोगी है, या उसका वजन बहुत ज्यादा या बहुत कम है, नशा करती हो और पहले से सही इलाज नहीं कराया हो तो हो सकता है बच्चे के जन्म समय से पहले हो जाये। यानी बच्चा 38 हफ्ते से पहले जन्म ले सकता है जिसे प्री-मिच्युर बेबी कहा जाता है।