What In India

ब्रेस्टफीडिंग छुड़वाने के तरीके

0

बच्चे के जन्म के बाद माँ के दूध के अलावा बच्चे के लिए और कोई उत्तम आहार नहीं होता है। इसीलिए बच्चे के जन्म के बाद कम से कम छह महीने तक बच्चे को माँ का दूध पिलाने की सलाह ही दी जाती है और कुछ बच्चे छह महीने नहीं बल्कि एक, डेढ़, दो साल या उससे ज्यादा समय तक भी माँ का दूध पीते हैं। ऐसे में जितना माँ का दूध पिलाना बच्चे के लिए जरुरी है उतना ही बच्चे की उम्र बढ़ने के बाद बच्चे का दूध छुड़वाना भी जरुरी है। और यदि बच्चा ज्यादा समय तक माँ का दूध पीता है तो इस आदत को छुड़वाने में उतना ही ज्यादा समय भी लगता है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जो आपको बच्चे का दूध छुड़वाने में मदद करते हैं।

ब्रेस्टफीडिंग छुड़वाने का सही समय क्या होता है?

बच्चे का दूध छुड़वाना वैसे तो पूरी तरह से महिला पर ही निर्भर करता है की महिला कब बच्चे का दूध छुड़वाना चाहती है। और सच तो यह हैं की जो बच्चे लम्बे समय तक माँ का दूध पीते हैं वो जल्दी बोलना, चलना, सीखते हैं साथ ही उनका दिमाग भी तेज होता है। लेकिन एक उम्र के बाद बच्चे का दूध छुड़वाना पड़ता है ऐसे में जब बच्चा छह महीने के बाद थोड़ा थोड़ा ठोस आहार लेने की शुरुआत कर देता है और एक साल तक महिला अपने दूध के साथ बच्चे को वह आहार दे सकती है।

उसके बाद भी महिला ऐसा कर सकती है लेकिन डेढ़ से दो साल के बाद महिला के लिए जरुरी होता है की वह बच्चे का दूध छुड़वा दें। क्योंकि अब बच्चे की भूख बढ़ने लगती है और बच्चे के विकास के लिए जरुरी पोषक तत्वों की पूर्ति सिर्फ दूध से नहीं हो पाती है। साथ ही बच्चे के बड़े होने के बाद बच्चे को बाहर कहीं जाने पर दूध पिलाने में परेशानी होती है। ऐसे में आप यह कह सकते हैं की डेढ़ से दो साल बच्चे का दूध छुड़वाने की सही उम्र होती है।

स्तनपान छुड़वाने के तरीके

बच्चे की ब्रेस्टफीडिंग छुड़वाने के लिए महिला को धैर्य से काम लेने की जरुरत होती है क्योंकि कोई भी बच्चे एक ही दिन में दूध पीना नहीं छोड़ देता है। तो आइये अब उन टिप्स के बार में विस्तार से जानते हैं की स्तनपान छुड़वाने के लिए महिला को क्या-क्या करना चाहिए।

सबसे पहले बच्चे को दूध पिलाने का दूसरा तरीका अपनाएँ

बच्चे का दूध छुड़वाने से पहले आपको बच्चे को धीरे धीरे कप या गिलास में दूध पीने की आदत डालनी चाहिए। जैसे जैसे बच्चे को यह आदत पड़ जाती है वैसे वैसे बच्चा आपका दूध पीना कम कर देता है।

दिन में न पिलायें दूध

ब्रेस्टफीडिंग छुड़वाने के लिए आप बच्चे की यह आदत बनाएं की दिन में उसे दूध न पिलायें बल्कि दिन में बच्चे को कुछ न कुछ बनाकर खाने के लिए दें या दूसरे तरीके से दूध पिलायें। और केवल रात में ही ब्रेस्टफीडिंग करवाएं उसके बाद रात को सोने से पहले बच्चे को अच्छे से पेट भरकर सुलाएं ताकि पहले दिन में और फिर रात में बच्चे की स्तनपान करने की आदत छूट जाये ।

बच्चे का ध्यान कहीं और भटकायें

यदि भूख लगने पर आपका बच्चा दूध मांग रहा है तो बच्चे के साथ खेले व् खेलते खेलते उसे कुछ और खाने के लिए दें। जिससे उसका पेट भी भर जाए और वो दूध भी नहीं मांगे।

ब्रेस्ट पर दबाव नहीं डालें

ब्रेस्ट पर दबाव अधिक पड़ने के कारण स्तनों में दूध उतरता रहता है ऐसे में महिला को वो काम बिल्कुल नहीं करने चाहिए जिससे की स्तनों पर दबाव पड़े जैसे की उल्टा सोना, टाइट ब्रा पहनना, ब्रेस्ट दबाना आदि। यदि आप ऐसा इस बात का ध्यान रखेंगी तो इससे स्तनों में दूध उतरना कम हो जायेगा जिससे बच्चे को दूध भरपूर नहीं मिलेगा और बच्चे की ब्रेस्टफीडिंग की आदत छूट जाएगी।

बच्चे के खाने के समय का ध्यान रखें

जैसे जैसे बच्चे को दूध पिलाना आप छोड़ते हैं वैसे वैसे आप इस बात का ध्यान रखें की किस समय बच्चे को भूख लगती है और बच्चे के लिए दूसरा आहार तैयार रखें। जिससे बच्चे को सही समय पर आहार मिल सके और बच्चे की दूध पीने की आदत कम हो जाये।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिन्हे ट्राई करने से बच्चे की दूध पीने की आदत को छुड़वाने में मदद मिलती है। यदि आप भी बच्चे की ब्रेस्टफीडिंग को छुड़वाना चाहती हैं तो आप भी इन टिप्स का ध्यान रखें।

How to stop breastfeeding

Leave a comment