Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

क्या प्रेगनेंसी में पेट दर्द होना गर्भपात का लक्षण होता है?

0

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में बहुत सी परेशानियां हो सकती है जैसे की एसिडिटी, उल्टियां होना, सिर दर्द, चक्कर आना, हाथों पैरों में सूजन होना, शरीर के अंगों में दर्द होना, नींद में कमी आना, मानसिक रूप से परेशानी का अनुभव करना आदि। और इन सभी दिक्कतों का होना प्रेगनेंसी के दौरान आम बात होती है।

इसीलिए तो कहा जाता है की एक महिला के लिए माँ बनना किसी जंग से कम नहीं होता है। क्योंकि पूरे नौ महीने महिला किसी न किसी समस्या से झूझती रहती है। किसी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान थोड़ी कम तो किसी महिला को बहुत ज्यादा दिक्कतें रहती है। ऐसे में महिला यदि अपना प्रेगनेंसी के दौरान अच्छे से ध्यान रखती है तो इससे गर्भवती महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान कुछ चीजों को लेकर महिला के मन में सवाल भी चलते रहते हैं और महिला के पास उन सभी सवालों का जवाब होना जरुरी होता है क्योंकि इससे प्रेगनेंसी को समझने में आसानी होती है। आज हम उन्ही में से एक सवाल के बारे में इस आर्टिकल में बात करने जा रहे हैं। और वो सवाल है की क्या प्रेगनेंसी के दौरान पेट में दर्द होना गर्भपात का लक्षण होता है? तो आइये अब इस सवाल के बारे में विस्तार से जानते हैं।

क्या गर्भावस्था के दौरान पेट दर्द गर्भपात का लक्षण होता है?

प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी महिलाओं को पेट में दर्द की समस्या हो सकती है। कुछ महिलाओं को थोड़ी ज्यादा तो कुछ महिलाओं को कम तो कुछ महिलाओं को यह समस्या बिल्कुल नहीं होती है। जिन महिलाओं को पेट में दर्द की समस्या होती है तो हर बार इसका मतलब यह नहीं होता है की महिला का गर्भपात होने वाला है।

बल्कि प्रेगनेंसी के दौरान पेट में हल्का फुल्का दर्द रहना बहुत आम होता है। लेकिन यदि पेट में दर्द ज्यादा हो तो महिला के लिए दिक्कत होती है परन्तु फिर भी तेज दर्द होने का मतलब केवल गर्भपात ही हो ऐसा जरुरी नहीं होता है। बल्कि गर्भावस्था के दौरान यदि महिला को पेट में दर्द होता है तो इसका एक नहीं बल्कि कई कारण हो सकते हैं। तो आइये अब आगे जानते हैं की गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द होने का क्या कारण होता है।

गर्भावस्था में पेट दर्द होने के कारण

गर्भवती महिला को पेट में यदि ज्यादा दर्द की दिक्कत रहती है या कभी अचानक से बहुत ज्यादा दर्द होने लगता है तो ऐसा होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। जैसे की:

अबॉरशन यानी गर्भपात

प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में यदि महिला को पेट में बहुत ज्यादा दर्द महसूस हो रहा है जैसा की महिला को पीरियड्स के दौरान होता है। साथ ही हल्की या हैवी ब्लीडिंग हो रही है तो महिला को पेट दर्द को अनदेखा न करते हुए डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि यदि महिला को दर्द और ब्लीडिंग अधिक होती है तो इसका मतलब होता है की अबॉरशन यानी गर्भपात हो गया है।

समय से पहले डिलीवरी

यदि प्रेग्नेंट महिला को डिलीवरी का समय आने से पहले ही पेट में तेज दर्द हो रहा है या फिर दर्द के साथ प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद पानी का रिसाव या ब्लड निकलता हुआ महसूस हो रहा है। तो ऐसे में महिला को इस लक्षण को अनदेखा न करते हुए तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि यह समय से पहले बच्चे के जन्म के होने का संकेत होता है।

पथरी यानी स्टोन

जिन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान कभी कभार अचानक से पेट में तेज दर्द हो जाता है तो उन महिलाओं को एक बार अपना चेकअप जरूर करवाना चाहिए। क्योंकि कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान स्टोन यानी पथरी की समस्या हो जाती है जिसकी वजह से महिला को यह दिक्कत हो सकती है।

एक्टोपिक प्रेगनेंसी

गर्भावस्था की पहली तिमाही में पेट में तेज दर्द होने का एक कारण एक्टोपिक प्रेगनेंसी भी हो जाती है। इस केस में बच्चा फैलोपियन ट्यूब में ही विकसित होने लगता है क्योंकि वो गर्भाशय में प्रत्यारोपित नहीं होता है। यह स्थिति महिला के लिए काफी खतरनाक होती है ऐसे में पेट में तेज दर्द को महिला को अनदेखा नहीं करना चाहिए। साथ हो ऐसे केस में भी महिला का डॉक्टर्स की मदद से गर्भपात करवाया जाता है।

यूरिन इन्फेक्शन

प्रेगनेंसी के दौरान यूरिन इन्फेक्शन की समस्या का होना बहुत आम बात होती है। ऐसे में यदि महिला को यूरिन इन्फेक्शन होता है तो इस कारण भी महिला को पेट या फिर पेट में निचले हिस्से में दर्द की समस्या हो सकती है। साथ ही महिला को यूरिन करते समय जलन, दर्द, पीठ में दर्द जैसी दिक्कतें भी हो सकती है। ऐसे में इस समस्या को खत्म करने के लिए आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए क्योंकि यूरिन इन्फेक्शन का अधिक होना प्रेगनेंसी के दौरान सही नहीं होता है।

गर्भावस्था में पेट में दर्द होने के अन्य कारण

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के पेट में दर्द रहने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं और इनकी वजह से अधिकतर सभी महिलाओं को पेट में दर्द की समस्या रह सकती है।

  • गर्भाशय का आकार बढ़ने के कारण पेट की व् उसके आस पास की मांसपेशियों में खिंचाव बढ़ जाता है जिसकी वजह से महिला को पेट में दर्द महसूस हो सकता है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान पाचन क्रिया से जुडी समस्या जैसे की गैस अपच, कब्ज़ आदि होने के कारण भी महिला को पेट में दर्द हो सकता है।
  • बच्चे का वजन बढ़ने की वजह से पेट के निचले हिस्से पर दबाव बढ़ने लगता है जिसकी वजह से महिला को पेट में दर्द हो सकता है।
  • लम्बे समय तक भूखे रहने की वजह से भी महिला को पेट में दर्द हो सकता है।
  • शरीर में पानी की कमी होने के कारण भी महिला को इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से गर्भवती महिला को पेट में दर्द की समस्या हो सकती है। ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो हर बार पेट दर्द होने पर घबराएं नहीं बल्कि आप पहले लक्षण देखें की पेट दर्द कैसा है उसके बाद डॉक्टर से मिलें। ताकि यदि दर्द ज्यादा है तो उसे कण्ट्रोल किया जा सके साथ ही यदि कोई दिक्कत है तो उसका सही से इलाज हो सके।

Is stomach pain symptom of abortion during pregnancy