प्रेगनेंसी में पेट पर खुजली होने के कारण और उपाय

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में बहुत से बदलाव होते हैं जिसके कारण महिला को तरह तरह की परेशानियां भी होती है। जैसे की मॉर्निंग सिकनेस की समस्या, शरीर में दर्द, उल्टियां होना, सूजन की समस्या, स्किन से जुडी समस्या जैसे की चेहरे पर दाग धब्बे और खुजली की समस्या होना, आदि। तो आज इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दैरान पेट पर होने वाली खुजली की समस्या के बारे में बात करने जा रहे हैं। की आखिर प्रेग्नेंट महिला को पेट पर खुजली क्यों होती है? और किस तरह महिला इस परेशानी से निजात पा सकती है।

प्रेगनेंसी में पेट पर खुजली होने के कारण

  • गर्भावस्था के दौरान बॉडी में हार्मोनल बदलाव होते हैं जिसके कारण बॉडी में एस्ट्रोजन हॉर्मोन का स्तर बढ़ता है और एस्ट्रोजन हॉर्मोन का स्तर बढ़ने के कारण महिला को खुजली की समस्या होती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में ब्लड फ्लो सही न होने के कारण भी पेट के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों में भी खुजली की समस्या हो सकती है।
  • गर्भ में शिशु का आकार बढ़ने के साथ गर्भाशय का आकार भी बढ़ता है जिसकी वजह से पेट के आस पास की त्वचा फैलने लगती है और स्किन में खिंचाव बढ़ जाता है जिसके कारण खुजली की समस्या हो जाती है।
  • पेट का आकार बढ़ने के साथ पेट की स्किन में मौजूद प्राकृतिक मॉइस्चराइजर कम होने लगता है जिसके कारण स्किन में सूखापन आ जाता है और पेट पर खुजली की समस्या होने लगती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान पानी का सेवन कम करने के कारण डीहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है जिसकी वजह से खुजली होने लगती है।
  • धूप में ज्यादा घूमने के कारण भी यह दिक्कत हो सकती है।
  • ज्यादा देर तक एसी में रहने के कारण भी यह समस्या हो सकती है इसीलिए जरुरत से ज्यादा एसी में न रहें।
  • प्रेगनेंसी के दौरान बहुत ज्यादा टाइट कपडे पहनने के कारण भी यह समस्या हो सकती है।
  • यदि प्रेग्नेंट महिला अपने शरीर की साफ़ सफाई का ध्यान अच्छे से नहीं रखती है या फिर स्किन के लिए बहुत हार्श साबुन का इस्तेमाल करती है तो भी खुजली की समस्या होती है।
  • यदि प्रेग्नेंट महिला गुनगुने पानी से ज्यादा नहाती है तो भी स्किन में सूखापन आता है और महिला को खुजली की समस्या होती है।

गर्भावस्था में खुजली की समस्या से बचने के टिप्स

यदि आप प्रेग्नेंट हैं और आपको पेट पर खुजली हो रही है तो आप कुछ आसान टिप्स का इस्तेमाल करके इस परेशानी से निजात पा सकती है। जैसे की:

नारियल तेल

नारियल तेल स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है ऐसे में खुजली की समस्या होने पर गर्भवती महिला को अपने पेट पर नारियल तेल लगाना चाहिए। इससे महिला को खुजली की समस्या से बचाव करने में मदद मिलती है।

सेब का सिरका

रुई की मदद से पेट की स्किन पर सेब का सिरका लगाएं, ऐसा करने से स्किन में नमी बरकरार रहती है और गर्भवती महिला को पेट पर होने वाली खुजली की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

बर्फ की सिकाई

जब भी महिला को खुजली हो तो महिला को किसी कपडे में बर्फ के ठन्डे पानी में भिगोकर या बर्फ का टुकड़ा कपडे में डालकर उसे अपने पेट पर घुमाना चाहिए। ऐसा करने से गर्भवती महिला को पेट पर होने वाली खुजली की समस्या से निजात मिलता है। लेकिन बर्फ के टुकड़े को बहुत देर तक एक ही जगह पर न रखें।

एलोवेरा जैल

रोजाना नहाने के बाद थोड़ा सा एलोवेरा जैल अपने पेट पर लगाएं और लगाने के पंद्रह से बीस मिनट बाद अपने पेट को गीले कपडे से साफ़ कर लें। ऐसा करने से आपके पेट के आस पास की स्किन की कोमलता को बरकरार रहने में मदद मिलेगी। साथ ही एलोवेरा में मौजूद एंटी इंफ्लमेटरी गुण आपको खुजली की समस्या से बचे रहने में भी मदद करते हैं।

मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल

रोजाना नहाने के बाद स्किन के लिए मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें इससे स्किन की कोमलता को बरकरार रहने में मदद मिलती है। साथ ही खुजली की समस्या से बचे रहने में भी मदद मिलती है।

नीम के पत्ते

एक बड़े बर्तन को पानी से भरकर उसमे बहुत से नीम के पत्ते डालकर उबाल लें, अब उस पानी को ठंडा करके नहाने वाले पानी मिलाएं। और उस पानी से नहाएं, ऐसा करने से भी गर्भवती महिला को खुजली की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्तों का रस निकालकर खुजली वाली जगह पर लगाएं। ऐसा करने से भी गर्भवती महिला को खुजली की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

निम्बू का रस

सरसों या नारियल या किसी अन्य तेल में आप निम्बू का रस मिलाकर पेट पर लगाएं ऐसा करने से भी आपको इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलेगी।

पेट्रोलियम जेली

खुजली की समस्या से निजात पाने के लिए पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करना भी बहुत फायदेमंद होता है। ऐसे में जब भी आपको पेट या शरीर के अन्य हिस्से में खुजली महसूस हो तो आपको पेट्रिलियम जेली का इस्तेमाल करना चाहिए।

खुजली से बचने के अन्य टिप्स

  • पानी का भरपूर सेवन करें।
  • ज्यादा गर्मी में न रहें।
  • सूती, खुले और आरामदायक कपडे पहनें।
  • ज्यादा एसी में न बैठें।
  • बेसन में मलाई मिलाकर पेट पर लगाएं ऐसा करने से भी खुजली से आराम मिलता है।
  • ज्यादा गर्म पानी से न नहाएं।

प्रेगनेंसी के दौरान कब होती है खुजली खतरनाक?

गर्भावस्था के दौरान थोड़ी बहुत खुजली की समस्या होना आम बात होती है लेकिन यदि महिला को खुजली बहुत ज्यादा हो, स्किन पर रैशेस होने लगे, लाल लाल दाने होने लग जाएँ, स्किन करने लगे, खुजली इतनी ज्यादा हो जाये की आपसे सहन ही न हो, तो आपको इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका कारण स्किन इन्फेक्शन हो सकता है जो माँ व् बच्चे दोनों को नुकसान पहुंचा सकता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान खुजली होने के कारण व् उपाय, साथ ही महिला को यदि खुजली हो भी तो महिला को खुजली नहीं करनी चाहिए। खासकर जब पेट पर हो, आप खुजली से बचने के लिए मॉइस्चराइजर, तेल आदि का इस्तेमाल करें, क्योंकि पुराने समय की महिलाओं का मानें तो जो महिलाएं पेट पर ज्यादा खुजली करती हैं। उन्हें स्ट्रेचमार्क्स की समस्या भी ज्यादा हो जाती है। इसीलिए खुजली की समस्या होने पर आपको ऊपर दिए गए टिप्स में से किसी न किसी उपाय का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।