Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

कान दर्द के घरेलू इलाज

0

कान दर्द का इलाज घर पर, कान दर्द दूर करने के घरेलू नुस्खे, कान दर्द के उपाय घरेलू उपचार, कैसे छुटकारा पाएं कान दर्द से, कान दर्द के घरेलू उपचार, कान दर्द के उपाय, कान दर्द से छुटकारा, कान के दर्द के सरल उपाय, कान दर्द का इलाज कैसे करें, कैसे करें कान दर्द का इलाज, कान में दर्द होना क्या करें, कान के दर्द की समस्या 

मनुष्य का शरीर बेहद संवेदनशील होता है। जिसके कारण उसमे हुई छोटी-सी समस्या भी काफी गंभीर परेशानी का कारण बन सकती है। इसी प्रकार दर्द एक ऐसी समस्या है जिसमे इंसान बहुत परेशान हो जाता है फिर चाहे वो पेट में हो या शरीर के किसी अन्य हिस्से में।

कई बार हमारे शरीर में बहुत सी ऐसी परेशानियां हो जाती है जिन्हे सहन कर पाना बहुत मुश्किल होता है। उन्ही कुछ परेशानियों में से एक है कान का दर्द। कान का दर्द अक्सर हो ही जाता है जिसका कारण कान की साफ़ सफाई न करना और लापरवाही होता है।

ऐसे तो कान का दर्द किसी भी उम्र के व्यक्तियों को हो जाता है लेकिन यदि इसके कारणों पर ध्यान दिया जाए तो इस समस्या से बचा जा सकता है। आप ही सोचिये शरीर पर छोटी सी सुई चुभ जाने पर कितना दर्द होता है और अगर शरीर के एक हिस्से के भीतर दर्द हो तो…? वो असहनीय तो होगा ही।

यूँ तो कान का दर्द कोई बहुत बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन यदि समय रहते उसका इलाज न किया जाए तो ये समस्या बढ़ भी सकती है। ऐसे में बेहतर यही होगा की परेशानी के शुरू होते ही उसका इलाज करवा लिया जाए। आज हम आपको कान के दर्द के घरेलू इलाज बताने जा रहे है जिनकी मदद से घर बैठे इस समस्या का समाधान पा सकते है।

कान दर्द के घरेलू इलाज :

1. मेथी के दाने में तेल डालकर उसे गर्म कर लें और ठंडा होने के बाद छान कर कान में डालने से दर्द में राहत मिलती है।

2. लहसुन में बहुत से एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक गुण होते है जो त्वचा और शरीर संबंधी कई बिमारियों को दूर करने में सहायक होते है। कान का दर्द दूर करने के लिए सरसों के तेल में लहसुन की दो या तीन कलियों को पीसकर उसे गर्म कर लें और ठंडा होने के बाद उस तेल की 2 से 3 बूंद कान में डालें। आप चाहे तो लहसुन को पीसकर उसके रस को भी कान में डाल सकते है।

3. तुलसी बहुत सी बिमारियों को दूर करने में सहायक होती है। प्रयोग के लिए तुलसी के पत्तों को पीसकर उसके रस की कुछ बूंदों को कान में डालें। इससे इन्फेक्शन और दर्द दोनों में आराम मिलेगा।

4. आम के पत्तों को पीसकर उसका रस निकाल लें। अब उस रस को हल्का गुनगुना कर लें। गुनगुने रस की 2 से 3 बूंद कान में डालें दर्द में आराम मिलेगा।

5. प्याज भी इस समस्या का रामबाण उपाय है। प्रयोग के लिए एक चम्मच प्याज के रस को गुनगुना करके इसकी 2 से 3 बूंद कान में डालें। कुछ ही प्रयोग से दर्द अपने आप ठीक हो जाएगा।

6. कई बार सर्दियों में ठंड की वजह से भी कान में दर्द होने लगता है। ऐसे में किसी बोतल में गर्म पाने भरकर उसपर कपडा या तौलिया लपेट लें और इसे कान पे पास रखकर सिकाई करें। दर्द में आराम मिलेगा।

7. जैतून के तेल को गुनगना करके उसकी 3-4 बूंद कान में डालें। आप चाहे तो रुई को जैतून के तेल में भिगोकर भी प्रयोग कर सकते है। अगर आपके पास जैतून का तेल उपलब्ध नहीं है तो आप सरसों के तेल का प्रयोग भी कर सकते है।

8. मूली को काटकर उसके टुकड़ों को सरसों के तेल में गर्म कर लें और ठंडा होने के बाद तेल को कान में डालें। कान के मैल के कारण होने वाले दर्द में आराम मिलेगा और मैल भी साफ़ हो जाएगा।

9. नीम के पत्ते एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होते है। प्रयोग के लिए नीम के पत्तों को पीसकर उसका रस निकालें और रस की 2 से 3 बूंद कान में डालें। हर प्रकार के इन्फेक्शन और दर्द में इससे राहत मिलेगी।

10. अदरक को पीसकर जैतून के तेल में डालकर हल्का गर्म कर लें और ठंडा होने के बाद छान कर उस तक की 2-3 बूंद कान में डालें। खुजली और दर्द की समस्या में आराम मिलेगा।

ऐसे तो दर्द में डॉक्टरी सलाह लेना ही उचित होता है लेकिन अगर आप डॉक्टर के पास नहीं जाना चाहते तो इन उपायों का प्रयोग किसी विशेषज्ञ की सलाह के बाद ही करें। क्योंकि बहुत से उपाय हर किसी हो सूट नहीं करते ऐसी स्थिति में दुष्परिणाम सामने आ सकते है।

Leave a comment