गोभी खाने से पहले यह जान लें? नहीं तो प्रेगनेंसी में नुकसान होगा

0

प्रेगनेंसी के दौरान महिला द्वारा अपनी डाइट में ली गई फल सब्जियों से माँ व् बच्चे को भरपूर पोषण मिलता है। जिससे प्रेग्नेंट महिला और शिशु दोनों को हेल्दी रहने में भी मदद मिलती है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा की प्रेग्नेंट में महिला जो भी खाती है उसका असर माँ व् बच्चे की सेहत पर पड़ता है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपनी डाइट का खास ध्यान रखने की सलाह दी जाती है ताकि प्रेग्नेंट महिला व् शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपसे प्रेगनेंसी के दौरान गोभी का सेवन करना कितना सुरक्षित होता है या नहीं उसके बारे में बात करने जा रहे हैं।

गर्भावस्था में फूलगोभी खा सकता है ये नहीं?

फोलेट, विटामिन सी, कैल्शियम, फाइबर जैसे बेहतरीन पोषक तत्व जो केवल महिला को स्वस्थ रखने में ही नहीं बल्कि गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास में भी मदद करते हैं। यह सभी फूलगोभी में भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को सिमित मात्रा में गोभी का सेवन जरूर करना चाहिए। लेकिन गोभी का सेवन करते समय महिला को कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए नहीं तो गोभी का सेवन करने से फायदा होने की बजाय गर्भवती महिला को नुकसान हो सकता है।

किस तरह गोभी का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान नुकसानदायक हो सकता है?

प्रेग्नेंट महिला यदि गोभी का सेवन बिना सही जानकारी के करती है तो इसकी वजह से महिला और शिशु को नुकसान पहुँच सकता है। ऐसे में यदि प्रेग्नेंट महिला यदि गोभी का सेवन करना चाहती है तो महिला को गोभी का सेवन करने से पहले इन बातों की जानकारी होनी चाहिए।

बिना धोए गोभी का सेवन करने से

गोभी ही नहीं बल्कि कोई भी फल या सब्ज़ी का सेवन करने से पहले महिला को उसे अच्छे से धोना चाहिए। क्योंकि इन पर मिट्टी के कण व् हानिकारक बैक्टेरिया मौजूद होता है और गोभी में तो कीड़ा भी हो सकता है। जिसकी वजह से फूड प्वाइजनिंग यानी की पेट में इन्फेक्शन का खतरा होता है और इन्फेक्शन के कारण माँ व् बच्चे दोनों की सेहत को नुकसान पहुँच सकता है।

जरुरत से ज्यादा गोभी खाने के कारण

जरुरत से ज्यादा गोभी खाने के कारण गर्भवती महिला को पेट में गैस की समस्या अधिक हो सकती है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला की पाचन क्रिया थोड़ा धीमे काम करती है और जरुरत से ज्यादा गोभी खाने के कारण गोभी अच्छे से हज़म नहीं हो पाती है जिसकी वजह से पेट में गैस होने का खतरा होता है।

कच्ची गोभी

अधिकतर लोगो को कच्ची गोभी का सेवन करना बहुत पसंद होता है लेकिन गर्भवती महिला को जितना हो सके कच्ची गोभी का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि कच्ची गोभी का सेवन करने से इसे हज़म करना गर्भवती महिला के लिए मुश्किल होता है जिसकी वजह से महिला को अपच, पेट में दर्द जैसी समस्या हो सकती है।

बासी गोभी या रात को गोभी खाने के कारण

गर्भवती महिला को यदि गोभी की वजह से गैस बनती है या अन्य कोई समस्या होती है तो महिला को बासी गोभी या रात के समय गोभी का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इसकी वजह से महिला को पेट सम्बन्धी समस्या अधिक हो सकती है।

गली सड़ी गोभी

यदि आपके घर में रखी गोभी को बहुत दिन हो गए हैं और उस पर काले काले निशान आ गए हैं तो भी गर्भवती महिला को गोभी का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इसमें बैक्टेरिया होने की सम्भावना और ऐसे में यदि महिला इसका सेवन करती है तो महिला को न तो इससे पोषक तत्व मिलते हैं और न ही कोई और फायदा होता है। बल्कि इसका सेवन करने से हानिकारक बैक्टेरिया के कारण माँ व् बच्चे की सेहत को नुकसान जरूर पहुँच सकता है।

तो यह हैं किस तरह गोभी का सेवन करने गर्भवती महिला को नुकसान पहुँच सकता है उससे जुडी जानकारी, यदि आप भी माँ बनने वाली हैं तो आपको भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपको गोभी का सेवन करने से किसी तरह का नुकसान नहीं हो।

Cauliflower during pregnancy