Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

नोर्मल इंसान के लिए लिए खतरनाक लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान होना आम है यह बीमारियां

0

आज के समय में जहां चलते फिरते और स्वस्थ इंसान को दिल का दौरा पड़ जाता है, अचानक से ही शरीर को कोई बीमारी घेर लेती है, जवान जवान लोग भयानक शारीरिक बीमारी से पीड़ित है, आदि। ऐसे में जरुरी है की आप अपने शरीर का ध्यान रखें और शरीर में यदि कुछ भी समस्या दिखे या महसूस हो तो उसे अनदेखा किये बिना ही आपको उसका इलाज़ करना चाहिए।

आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसी कुछ शारीरिक परेशानियों या बिमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो यदि गर्भवती महिला को होती है तो उनका होना आम बात है। लेकिन यदि नोर्मल इंसान को वो बीमारियां होती है तो उन्हें अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि यदि इन शारीरिक परेशानियों को अनदेखा किया जाता है तो इसकी वजह से यह बाद में गंभीर रूप ले लेती है। आइये अब जानते हैं की वो बीमारियां कौन सी है।

बवासीर

बहुत सी गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी की आखिरी तिमाही में खासकर बवासीर जैसी समस्या का सामना करती है। क्योंकि गर्भ में शिशु का विकास बढ़ने व् कब्ज़ की समस्या ज्यादा रहने की वजह से पेट के निचले हिस्से की मांसपशियों पर जोर पड़ता है। जिसकी वजह से पीछे से खून निकलने की समस्या हो जाती है जिसे बवासीर कहा जाता है।

ऐसा होना प्रेगनेंसी के दौरान आम होता है लेकिन नार्मल आदमी को यदि बवासीर हो जाये तो उसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि इस समस्या को अनदेखा करने की वजह से यह समस्या बढ़ जाती है जिसकी वजह से आपको उठने, बैठने, चलने, फिरने में परेशानी होने लगती है। इसके अलावा यदि यह समस्या ज्यादा बढ़ जाये तो ऑपरेशन की नौबत भी आ जाती है।

सूजन

प्रेगनेंसी के दौरान हाथों पैरों में सूजन होना आम बात होती है लेकिन यदि नार्मल आदमी को यदि बिना किसी चोट आदि के न लगने पर भी सूजन की समस्या हो। तो ये ब्लड, लिवर आदि से सम्बंधित समस्या का संकेत देती है। ऐसे में जरुरी है की आप इसकी जल्द से जल्द जांच करवाएं और इसका इलाज़ करें।

सांस फूलना

गर्भावस्था के दौरान सांस फूलने की समस्या होना आम बात होती है क्योंकि महिला का वजह बढ़ जाता है, गर्भ में शिशु का विकास बढ़ने की वजह से पेट के ऊपरी हिस्से में दबाव पड़ता है, महिला जल्दी थक जाती है, आदि। और इन सभी कारणों की वजह से महिला को सांस फूलने की समस्या हो सकती है। लेकिन यदि महिला गर्भवती नहीं है और फिर भी महिला को यह समस्या हो रही है तो महिला को इस समस्या को अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह अस्थमा या फिर अन्य किसी शारीरिक बीमारी का संकेत हो सकता है।

मसूड़ों से खून बहना

प्रेगनेंसी के समय मसूड़ों का सेंसिटिव होना आम बात होती है जिसकी वजह से कई बार आपको मसूड़ों से खून आने की समस्या भी हो सकती है। लेकिन यदि नोर्मल आपको ऐसा कुछ महसूस हो तो यह पायरिया का लक्षण हो सकता है ऐसे में इसे अनदेखा न करते हुए एक बार आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

ब्रेस्ट पेन

शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण ब्रेस्ट में शिशु के लिए दूध उत्पादन की प्रक्रिया की वजह से प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेस्ट पेन, ब्रेस्ट में कड़ापन महसूस होना आदि आम बात होती है। लेकिन यदि नोर्मल इंसान को कभी ब्रेस्ट पेन हो या ब्रेस्ट में कोई गाँठ सी महसूस हो तो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए।

क्योंकि ब्रेस्ट पेन का होना हार्ट से जुडी समस्या का संकेत दे सकता है तो महिलाओं को ब्रेस्ट पेन का ज्यादा होना ब्रेस्ट कैंसर का लक्षण भी हो सकता है। ऐसे में एक बार जांच जरूर करवाएं ताकि यदि कोई गंभीर समस्या हो तो उसका जल्द से जल्द इलाज संभव हो सकें।

सफ़ेद पानी की समस्या

कई महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान सफ़ेद पानी ज्यादा आने लगता है और इसका कारण शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव होते हैं। लेकिन यदि किसी महिला को नोर्मल यदि सफ़ेद पानी ज्यादा आने की समस्या हो तो महिला को इसे अनदेखा न करते हुए इसकी जांच जरूर करवानी चाहिए।

भूख में कमी होना

प्रेगनेंसी के शुरूआती समय में महिला के खाने की इच्छा में कमी आना आम बात होती है। लेकिन यदि नोर्मल इंसान को भूख कम लगती है, कुछ हज़म नहीं होता है, कुछ खाने का मन नहीं करता है, कुछ खाते ही उल्टी आ जाती है, तो इसका कारण आपको पेट या लिवर से जुडी समस्या हो सकती है ऐसे में एक बार आपको डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए ताकि इसके सही कारण को जानने में आपको मदद मिल सकें।

पेट में दर्द होना

प्रेगनेंसी के दौरान पेट में हल्का फुल्का दर्द रहना आम बात होती है क्योंकि इस दौरान महिला को कब्ज़, एसिडिटी की समस्या आधी रहती है। साथ ही इस दौरान गर्भ में शिशु भी हलचल करता है। लेकिन यदि किसी नोर्मल इंसान को यदि रोजाना पेट में दर्द होता है खासकर दाहिने या बाएं हिस्से में होता है और कभी तेज या कभी कम होता है।

तो उन्हें इस दर्द को अनदेखा नहीं करना चाहिए क्योंकि कई बार पेट दर्द का कारण पेट में इन्फेक्शन, पत्थरी के कारण भी हो सकता है। ऐसे में जरुरी है की आप जल्द से जल्द डॉक्टर से मिलें और अपने पेट की जांच करवाएं ताकि यदि कोई समस्या है तो उसका जल्द से जल्द इलाज़ करने में मदद मिल सकें।

वजन बढ़ना

प्रेगनेंसी के दौरान वजन बढ़ना आम बात होती है क्योंकि गर्भ में शिशु होता है और महिला के शरीर में भी बदलाव आता है जिसकी वजह से प्रेगनेंसी के समय महिला का वजन बढ़ता है। लेकिन यदि किसी नोर्मल इंसान का वजन अचानक से ज्यादा या कम हो जाये तो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए क्योंकि यह थायरॉयड का लक्षण होता है ऐसे में एक बार जांच जरूर करवाएं।

तो यह हैं वो परेशानियां जो किसी गर्भवती महिला को हो तो कोई बात नहीं होती है लेकिन यदि किसी नोर्मल इंसान को हो तो उसे इस समस्या को अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि इन परेशानियों को अनदेखा करने से आपकी समस्या बढ़ सकती है।

Leave a comment
प्रेगनेंसी में चुकंदर जूस के अद्भुत फायदे कई महिलाओं का एक ब्रेस्ट बड़ा और एक छोटा क्यों होता है