Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

पेशाब में खून आना

0

पेशाब में खून आने का कारण जानिये, पेशाब में खून आना, पेशाब में खून आने के कारण, पेशाब में खून का आने के क्या कारण है, पेशाब में खून आए, तो तुरंत कराएं जांच, यूरिन में खून आता है, हो सकता है कैंसर का संकेत, पेशाब में खून आने के कारण, मूत्र में खून के कारण और इससे जुड़े तथ्‍य, पेशाब करते समय खून आने के कारण, पेशाब में खून आने के मुख्य कारण, गुर्दे की पथरी, पित्ताशय में ट्यूमर, सुसु में खून आने के क्या कारण है, मूत्र विसर्जन के समय खून आने के मुख्य कारण

मनुष्य का शरीर बेहद संवेदनशील होता है जिसके कारण वह कभी भी किसी भी रोग से ग्रस्त हो सकता है। इनमे से कुछ रोग जीवन को संकट में पहुंचाते है तो कुछ हमेशा के लिए तकलीफ दे जाते है। मेडिकल विशेषज्ञों के अनुसार यदि किसी व्यक्ति के शरीर में कुछ भी आसामान्य होता है तो उसे तुरंत जाँच करवानी चाहिए, ताकि समस्या बढ़े नहीं।

क्योंकि अक्सर देखा गया है की लोग छोटी बीमारी समझकर उसपर ध्यान नहीं देते जिसके बाद समय बढ़ने के साथ साथ वह बीमारी भी बढ़ने लगती है। कई बार तो ये बीमारियां जानलेवा भी हो सकती है। जैसे की कैंसर, टी बी आदि।

इन्ही में से एक समस्या है पेशाब से जुडी समस्याएं। बहुत से लोगों को पेशाब के दौरान बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लेकिन वे उसे सामान्य बात समझकर अनदेखा कर देते है जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह बीमारी निकट भविष्य में किसी बड़ी समस्या का कारण बन सकती है।

अगर आपके पेशाब में जलब हो रही हो या उसमे से खून आ रहा हो, तो देर न करें और तुरंत डॉक्टरी जाँच करवाएं। वैसे तो यह कोई जानलेवा बीमारी नहीं है लेकिन समय पर ध्यान न देने से यह खतरनाक सिद्ध हो सकती है। पेशाब में खून आने के कई कारण हो सकते है, लेकिन इसमें डॉक्टरी सलाह लेने के बाद ही कारण जानकर इलाज करवाना चाहिए।

पेशाब करते समय खून आना यदि बंद न हो तो देर किये बिना डॉक्टर के पास जाएँ। जाँच कराएं और जरुरी इलाज लें। बता दें, यह समस्या पुरुष और महिला किसी को भी हो सकती है। आगे हम आपको पेशाब में खून आने के कारण बता रहे है।

पेशाब में खून आने के निम्नलिखित कारण हो सकते है :-

1. यूरिन इन्फेक्शन / यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन :

महिलाओं में यह बहुत आम समस्या होती है। मूत्र मार्ग में संक्रमण होने के कारण इस परेशानी का होना आम है। इसके कारण उन्हें बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जैसे मूत्र के दौरान खुजली, जलन आदि। लेकिन कई बार जलन के साथ साथ खून भी आने लगता
है।

2. गुर्दे की पथरी :

कई बार गुर्दे की पथरी के कारण भी यह समस्या होने लगती है। अगर किसी व्यक्ति के गुर्दे में पथरी होती है तो पेशाब में से खून आने लगता है। क्योंकि पथरी के कारण पेशाब की प्रक्रिया में रुकावटें आती है। ऐसा नहीं है की ये एक लाइलाज बीमारी है। अपितु इसका इलाज संभव है, इसलिए समय गवाएं बिना डॉक्टर से समपर्क करें। अगर सर्जरी की आवश्यकता है तो वह भी करवा लें।

3. गुर्दे या पित्ताशय में ट्यूमर :

गुर्दे या पित्ताशय में ट्यूमर होने के कारण भी पेशाब से खून आने लगता है। इस स्थिति में अन्य उपाय करने से बेहतर है डॉक्टरों द्वारा की जाने वाली सर्जरी की मदद लेकर इसका इलाज करें। ट्यूमर खत्म होने के बाद खून आना भी बंद हो जाएगा।

4. ग्‍लोमेरूलोनेफ‍िरिटिस या ग्‍लोमेरूलर नेफीरिटिस :

पेशाब करते समय या मल करते समय खून आने का सबसे आम कारण यही होता है। बढ़ते बच्चो और छोटे बच्चों में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। लेकिन कई बार बड़े भी इस समस्या का शिकार हो जाते है। ऐसे में डॉक्टरी सलाह से इलाज करवाएं।

5. सिस्टिक ग्रोथ :

महिलाओं में सिस्ट की वृद्धि होना आम बात है। दरअसल यह है दर्दनाक बिमारी होती है जिसके कारण पेशाब करते समय खून आने लगता है। समान्यतौर पर सिस्ट, गुर्दे में बढ़ता है जिसके कारण पेशाब करते समय हल्का दर्द और जलन होती है। और कुछ समय बाद खून भी आने लगता है।

6. कैंसर :

अगर मूत्र में खून या खून के थक्के आने लगे तो हो सकता है मूत्र की थैली में कैंसर हो।यह मूत्र की थैली की सेल में होता है। कैंसर के कारण इस घाव से लगातार खून का स्त्राव होता रहता है। जब खून अधिक मात्रा में खून की थैली में एकत्रित हो जाता है तो पेशाब आना बंद हो जाता है। ऐसे में तुरंत इलाज करवाना उचित उपाय है।

इसके अतिरिक्त कई बार, कुछ अनुवांशिक कारणों के चलते भी पेशाब करते समय दिक्कतें आने लगती है। सिकल सेल रोग, हाईमैच्‍यूरिया और असामान्‍य मासिक चक्र के कारण भी पेशाब में खून आने लगता है। परन्तु सिर्फ बीमारी के बारे में  जानने से बात नहीं बनेगी, समस्या कितनी ही छोटी क्यों न हो सही समय पर इलाज करवाना हो बेहतर उपाय है। ताकि भविष्य में किसी गंभीर समस्या का सामना न करना पड़े।

 

Leave a comment