अनार खाना क्यों जरुरी होता है प्रेगनेंसी में

जब कोई भी महिला गर्भवती होती है तो वो यही चाहती है की प्रेगनेंसी के दौरान उसे हर परेशानी से बचे रहने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु का विकास अच्छे से हो। ताकि वो एक स्वस्थ शिशु को जन्म दे सके, और शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास के लिए सबसे जरुरी होता है की महिला पोषक तत्वों का भरपूर मात्रा में सेवन करे। तो आज हम एक ऐसे ही पोषक तत्वों से भरपूर फल के बारे में बात करने जा रहे हैं जो गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। और वो है अनार, अनार का फल के रूप में या जूस के रूप में सेवन कर सकते हैं इसके बीजों में भी बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान फायदेमंद होते है। इसीलिए डॉक्टर्स और प्रेगनेंसी डाइट एक्सपर्ट भी प्रेगनेंसी के दौरान अनार को अपनी डाइट में शामिल करने की सलाह जरूर देते हैं।

प्रेगनेंसी में अनार खाने के फायदे

अनार के लाल लाल छोटे छोटे दाने बहुत से पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रखने के साथ बहुत सी परेशानियों से भी बचाने में मदद करते हैं। साथ ही अनार में मौजूद पोषक तत्व गर्भस्थ शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी के दौरान अनार का सेवन करने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं।

आयरन

खून की कमी के कारण प्रेग्नेंट महिला और शिशु दोनों को ही परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में यदि गर्भवती महिला अनार का सेवन करती है तो महिला को इन परेशानियों से निजात पाने में मदद मिलती है। क्योंकि अनार में आयरन के साथ विटामिन सी भी मौजूद होता है जो आयरन को बॉडी में बेहतर तरीके से अवशोषित करने में मदद करता है। जिससे प्रेग्नेंट महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है।

फाइबर

अनार फाइबर का एक बेहतरीन स्त्रोत होता है जो गर्भवती महिला को पाचन तंत्र से जुडी परेशानियां जैसे कब्ज़, एसिडिटी आदि से निजात दिलाने के साथ मेटाबोलिज्म को बेहतर रखने में भी मदद करता है। और प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी महिलाएं पाचन क्रिया से जुडी समस्याओं से परेशान रहती है ऐसे में अनार का सेवन करने से गर्भवती महिला को इस परेशानी से राहत पाने में मदद मिलती है।

पोटैशियम

प्रेगनेंसी के दौरान मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या का होना आम बात होती है जिसके कारण कई बॉडी पार्ट्स में दर्द की परेशानी भी रहती है। ऐसे में डॉक्टर्स इस समस्या से राहत पाने के लिए अपनी डाइट में पोटैशियम युक्त आहार को शामिल करने की सलाह देते हैं। और अनार में पोटैशियम प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है जो की मांसपेशियों के बीच तरल पदार्थ की मात्रा के संतुलन को बनाएं रखने में मदद करता है। जिससे महिला को मांसपेशियों से जुडी समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है। इसीलिए मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या से राहत पाने के लिए महिला को अनार का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए।

एंटीऑक्सीडेंट्स

प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण इम्युनिटी कमजोर हो सकती है जिसके कारण महिला और शिशु को संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में बॉडी में से विषैले तत्वों को बाहर निकालना बहुत जरुरी होता है, और इस परेशानी से निजात के लिए महिला अनार का सेवन कर सकती है क्योंकि अनार में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो बॉडी में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकालकर गर्भवती महिला और शिशु दोनों को बीमारियों से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं।

फोलेट

गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर मानसिक विकास के लिए शिशु तक फोलेट को प्रचुर मात्रा में पहुंचाना बहुत जरुरी होता है। और एक गिलास अनार का जूस या एक कटोरी अनार के दाने का सेवन शिशु की एक दिन की दस प्रतिशत तक फोलेट की जरुरत को पूरा करने में मदद करता है जो की शिशु के बेहतर मानसिक विकास के लिए बहुत जरुरी होता है। ऐसे में शिशु के बेहतर मानसिक विकास के लिए गर्भवती महिला को अनार का सेवन जरूर करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में अनार का सेवन करते हुए इन बातों का ध्यान रखें

  • यदि महिला रक्त को पतला करने वाली दवाई का सेवन कर रही हो तो अनार के सेवन से पहले एक बार डॉक्टर से पूछना चाहिए।
  • हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित महिलाओं को भी अनार के सेवन से पहले डॉक्टर से पूछना चाहिए।
  • अनार में कैलोरी उच्च मात्रा में मौजूद होती है ऐसे में जरुरत से ज्यादा भी अनार का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि बॉडी में कैलोरी की मात्रा का बढ़ना वजन को ज्यादा तेजी से बढ़ा सकता है, और जरुरत से ज्यादा वजन का बढ़ना महिला के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • प्रेग्नेंट महिला यदि अनार के जूस का सेवन करती है तो बाहर से पीने या फिर पैकेट वाले जूस के सेवन से महिला को बचना चाहिए, और घर में ही अनार के ताजे जूस को निकालकर उसका सेवन करना चाहिए।

तो यह हैं कुछ फायदे और नुकसान जो गर्भवती महिला को अनार का सेवन करने से होते हैं। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को हर परेशानी से बचने के लिए अनार का जरुरत के अनुसार ही सेवन करना चाहिए।