Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भावस्था में अंडे कब से खाने चाहिए और क्यों खाने चाहिए?

0

आपने बहुत बार यह सुना होगा की संडे हो या मंडे रोज खाएं अंडे, लेकिन जब बात प्रेगनेंसी की होती है तो प्रेगनेंसी के दौरान हर महिला को अपने खान पान की चीजों को लेकर अच्छे से ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। जैसे की महिला को कब खाना चाहिए, कितना खाना चाहिए, क्यों खाना चाहिए, आदि।

क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए स्वस्थ रहना बहुत जरुरी होता है साथ ही महिला यदि कोई भी गलती करती है तो इसका असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है। आज इस आर्टिकल में हम प्रेगनेंसी के दौरान अंडे का सेवन कब करना चाहिए, क्यों करना चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

गर्भावस्था में अंडे का सेवन कब करना चाहिए?

प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन्स व् अन्य पोषक तत्वों से भरपूर अंडे का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान महिला को जरूर करना चाहिए। लेकिन अंडे का सेवन करते समय महिला को एक बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में अंडे खाने से बचें। क्योंकि अंडे की तासीर गर्म होती है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु पर नकारात्मक असर पड़ सकता है।

साथ ही गर्मियों का मौसम होने पर महिला को जरुरत से ज्यादा अंडे नहीं खाने चाहिए क्योंकि गर्मी के मौसम में अंडे खाने से महिला को दिक्कत हो सकती है। इसके अलावा प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही के बाद महिला एक दिन में एक से दो अंडे खा सकती है।

गर्भवती महिला को अंडे क्यों खाने चाहिए?

अंडा पोषक तत्वों की खान होता है जैसे की विटामिन, प्रोटीन, फोलेट, कैल्शियम, व् अन्य पोषक तत्व अंडे में मौजूद होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिला और शिशु दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। साथ ही अंडे का सेवन करने से महिला और शिशु दोनों को बहुत से सेहत सम्बन्धी फायदे भी मिलते हैं। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अंडे खाने की सलाह दी जाती है।

प्रेगनेंसी के दौरान अंडे खाने के फायदे

गर्भवती महिला यदि प्रेगनेंसी के दौरान अंडे का सेवन करती है तो इससे महिला और शिशु को एक नहीं बल्कि कई सेहत सम्बन्धी फायदे मिलते हैं। जिससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने के साथ गर्भ में पल शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है। तो आइये अब जानते हैं की कौन से सेहत सम्बन्धी फायदे अंडे का सेवन करने से महिला व् शिशु को मिलते हैं।

प्रोटीन मिलता है

अंडा प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होता है जो गर्भवती महिला की कोशिकाओं को पोषण पहुँचाने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु की कोशिकाओं के बेहतर विकास में मदद करता है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने और गर्भ में पल रहे शिशु के शारीरिक व् दिमागी विकास को बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है।

कैल्शियम

कैल्शियम हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कैल्शियम युक्त चीजों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। ताकि गर्भवती महिला की हड्डियों को पोषण मिलने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों के बेहतर विकास में भी मदद मिल सके। और अंडा कैल्शियम का बेहतरीन स्त्रोत होता है ऐसे में अंडे का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान करने से गर्भवती महिला और शिशु दोनों को फायदा मिलता है।

आयोडीन

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में आयोडीन की कमी होने के कारण गर्भवती महिला की शारीरिक परेशानियां बढ़ने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के शारीरिक व् मानसिक विकास में कमी आने का भी खतरा रहता है। ऐसे में महिला को शरीर में आयोडीन की कमी को पूरा करने के लिए आयोडीन युक्त चीजों का सेवन जरूर करना चाहिए। और अंडा आयोडीन से भरपूर होता है जो गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में आयोडीन की कमी को पूरा करने में मदद करता है। जिससे माँ और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।

विटामिन ए

अंडे में विटामिन ए भी मपुजूद होता है जो गर्भवती महिला की आँखों को सुरक्षा प्रदान करने के साथ गर्भ में पल रहे शिशु की आँखों के बेहतर विकास में भी मदद करता है।

कोलिन

अंडे में कोलिन नामक तत्व मौजूद होता है जो गर्भ में पल रहे शिशु के दिमागी विकास के लिए बहुत जरुरी होता है। ऐसे में यदि महिला अंडे का सेवन करती है तो इससे बच्चे तक कोलिन नामक तत्व पहुँच जाता है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु के दिमागी विकास को बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है।

ऊर्जा का है बेहतरीन स्त्रोत

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को 200 से 300 अतिरिक्त कैलोरी की जरुरत होती है। और अंडे का सेवन करने से महिला को अतिरिक्त कैलोरी मिलती है जिससे गर्भवती महिला को ऊर्जा से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

ओमेगा 3 फैटी एसिड

अंडे में ओमेगा 3 फैटी एसिड भी मौजूद होते हैं जो गर्भ में पल रहे शिशु के शारीरिक व् दिमागी विकास को बेहतर करने में मदद करते हैं।

फोलेट

फोलेट एक ऐसा पोषक तत्व होता है जो गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद करता है और यदि शिशु को यह पोषक तत्व नहीं मिलता है तो इसके कारण शिशु के शारीरिक व् दिमागी विकास में कमी आने का खतरा रहता है। साथ ही शिशु को जन्मदोष होने का खतरा भी रहता है ऐसे में गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान ऐसे खाद्य पदार्थ जरूर खाने चाहिए जिसमे फोलेट मौजूद हो। और अंडे में फोलेट मौजूद होता है ऐसे में शिशु के बेहतर विकास के लिए और शिशु को जन्मदोष के खतरे से सुरक्षित रखने के लिए महिला को अंडे का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान जरूर करना चाहिए।

तो यह हैं कुछ सेहत सम्बन्धी फायदे जो गर्भवती महिला और शिशु को मिलते हैं। इसके अलावा गर्भवती महिला को अंडे का सेवन करते समय ध्यान रखना चाहिए की महिला ताजे अंडे दूकान से लाएं और उनका सेवन करें, अंडे को खाने से पहले अच्छे से पकाएं, आधा पका हुआ और आधा कच्चा अंडा नहीं खाएं, आदि।

Leave a comment