प्रेगनेंसी में यह 8 गलतियां बिल्कुल नहीं करें?

गर्भावस्था के पूरे नौ महीने महिला के लिए उतार चढ़ाव से भरे होते हैं, महिला अपने शरीर में बहुत से आंतरिक व् बाहरी रूप से बदलाव का अनुभव करती है, मानसिक रूप से भी महिलाएं परेशान हो सकती है, इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान महिला को कुछ अनोखे अनुभवों का अहसास करने का भी मौका मिलता है, आदि। ऐसे में जरुरी होता है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला को दिक्कतें कम हो और गर्भ में पल रही नन्ही जान के विकास में भी किसी तरह की दिक्कत नहीं हो इसके लिए महिला अपना प्रेगनेंसी की शुरुआत से लेकर आखिर तक अच्छे से ध्यान रखें।

साथ ही महिला किसी भी तरह की गलतियां नहीं करें और इसके लिए जरुरी है की महिला इस बात की जानकारी इक्कठी करें की प्रेगनेंसी के दौरान क्या क्या करना माँ और बच्चे दोनों के लिए परेशान कर सकता है। क्योंकि जितनी महिला को प्रेगनेंसी से जुडी जानकारी होती है उतना ही प्रेगनेंसी को आसान बनाने में मदद मिलती है। तो लीजिये इस आर्टिकल में हम आपको ऐसी आठ गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो महिला को बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

घर में प्रेगनेंसी टेस्ट करने के बाद डॉक्टर से मिलने में देरी

पीरियड्स मिस होने के बाद जैसे ही गर्भवती महिला घर में प्रेगनेंसी टेस्ट करती है और उसके बाद महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाती है। तो उसके बाद तुरंत महिला को डॉक्टर से मिलना चाहिए। ताकि महिला का सही ट्रीटमेंट शुरू हो सके इसके अलावा महिला को डॉक्टर ढूंढने में पूरा ध्यान रखना चाहिए और सही जानकारी के बाद ही डॉक्टर का चुनाव करना चाहिए। साथ ही हो सके तो ऐसे डॉक्टर को ढूंढ़ना चाहिए जिसका हॉस्पिटल या क्लिनिक आपके घर के आस पास हो। ऐसे में महिला यदि प्रेगनेंसी की शुरुआत में ही लापरवाही करती है और डॉक्टर से मिलने में देरी करती है तो इसके कारण महिला को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेगनेंसी में होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए दवाइयों का सेवन

गर्भावस्था के दौरान महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियां हो सकती है जैसे की सिर दर्द, चक्कर, बॉडी पेन, पेट दर्द, पीठ दर्द, उल्टियां आदि। और ऐसा होना बिल्कुल आम बात होती है लेकिन इन परेशानियों से निजात पाने के लिए महिला को बिना डॉक्टरी सलाह के किसी भी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यदि महिला अपनी मर्ज़ी से किसी भी दवाई का सेवन कर लेती है तो इसके कारण शिशु के विकास पर बुरा असर पड़ सकता है।

घर के काम

प्रेगनेंसी के दौरान महिला घर के छोटे मोटे काम कर सकती है लेकिन महिला को किसी भी काम करने में बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। जैसे की महिला को गैस के साथ खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए, शेल्फ के साथ सटकर काम नहीं करना चाहिए, लम्बे समय तक एक ही जगह खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए, उन कामों को नहीं करना चाहिए जिससे पेट पर दबाव पड़े या जिस काम को करने में ज्यादा झुकना पड़े, केमिकल वाली चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, घर में यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण है तो उसका काम करने से बचना चाहिए, भारी चीजों को उठाने वाला काम नहीं करना चाहिए, बाथरूम साफ़ नहीं करना चाहिए, पालतू जानवरों की साफ़ सफाई का काम नहीं करना चाहिए, आदि। क्योंकि यह सभी काम करने से माँ व् बच्चे दोनों को दिक्कत हो सकती है।

गलत खाद्य पदार्थों का सेवन का सेवन

कुछ चीजों का सेवन गर्भावस्था के दौरान करने की मनाही होती है जैसे की बासी खाना, फ्रिज से निकला ठंडा खाना, कच्चे अंडे, कच्चा नॉन वेज, कच्चा पपीता, गर्म तासीर वाली चीजें, जंक फ़ूड, तेलीय व् मसालेदार आहार, बिना ढक कर रखा हुआ आहार, आर्टिफिशल मीठे से युक्त चीजें, डिब्बाबंद आहार व् जूस, जरुरत से ज्यादा नमक, आदि। ऐसे में महिला को इन सभी चीजों से परहेज करना चाहिए क्योंकि इन सभी चीजों का सेवन करने से गर्भवती महिला व् शिशु की सेहत को नुकसान पहुँचता है।

गलत तरीके से सम्बन्ध

स्वस्थ प्रेगनेंसी के दौरान सम्बन्ध बनाना बिल्कुल सेफ होता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की महिला सम्बन्ध बनाते समय गलतियां करें। क्योंकि तेजी से सम्बन्ध बनाने पर, नए नए एक्सपेरिमेंट करने पर, सम्बन्ध बनाते समय पेट पर डालने पर माँ व् बच्चे दोनों की सेहत को नुकसान पहुँच सकता है। ऐसे में सम्बन्ध बनाते समय यह गलतियां नहीं करें इसके अलावा सम्बन्ध बनाने से पहले हो सके तो एक बार डॉक्टर की राय जरूर लें।

सोते समय की जाने वाली गलती

गर्भावस्था के दौरान जिस तरह महिला को खान पान, चलने फिरने, उठने बैठने में सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है उसी तरह प्रेग्नेंट महिला को सोते समय भी सावधानी बरतनी चाहिए। जैसे की महिला को पेट के बल, सीधा होकर, नहीं सोना चाहिए क्योंकि इसके कारण माँ व् बच्चे को दिक्कत हो सकती है। क्योंकि पेट के बल सोने पर पेट पर दबाव पड़ता है जिसकी वजह से गर्भ में शिशु को दिक्कत होने का खतरा होता है। साथ ही सीधा होकर सोने से महिला की रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ता है जिसकी वजह से महिला को कमर में दर्द की समस्या हो सकती है।

नशे का सेवन

गर्भवती महिला को गलती से भी नशे जैसे की धूम्रपान, अल्कोहल आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि नशे का सेवन करने से गर्भवती महिला को सेहत सम्बन्धी समस्या होने के साथ शिशु के शारीरिक, मानसिक विकास में कमी आ सकती है। इसके अलावा शिशु को जन्म दोष होने का खतरा भी हो सकता है। ऐसे में महिला को नशा करने की गलती बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

वजन कम करने की कोशिश

प्रेगनेंसी के दौरान महिला का वजन बढ़ना आम बात होती है लेकिन महिला को बिल्कुल भी वजन कम करने की नहीं सोचनी चाहिए। क्योंकि यदि महिला वजन कम करने के लिए डाइट करती है या ज्यादा व्यायाम करती है तो इन दोनों के कारण माँ व् बच्चे की सेहत पर उल्टा असर पड़ने का खतरा रहता है।

तो यह हैं कुछ गलतियां जो गर्भवती महिला को नहीं करनी चाहिए क्योंकि इनकी वजह से गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों को दिक्कत होने का खतरा रहता है। इसके अलावा गर्भावस्था की सही जानकारी इक्कठी करनी चाहिए, डॉक्टर से रूटीन चेकअप समय से करवाना चाहिए, अपनी फिटनेस के प्रति सतर्क रहना चाहिए, आदि। ताकि प्रेगनेंसी और डिलीवरी में किसी भी तरह की कॉम्प्लीकेशन्स नहीं आएं।

Do not make these 8 mistakes during pregnancy

Leave a comment