प्रेगनेंसी में किसी को भूख ज्यादा या कम लगने के क्या कारण होते हैं?

प्रेगनेंसी में किसी को भूख ज्यादा या कम लगने के क्या कारण होते हैं?

प्रेगनेंसी में भूख

गर्भावस्था के दौरान महिला बहुत से नए अनुभव से गुजरती है, इसके साथ ही गर्भवती महिला को अपनी बॉडी में भी बहुत से बदलाव देखने को मिलते हैं। तो लीजिये आज हम एक ऐसे ही बदलाव के बारे में बात करने जा रहे हैं जो की प्रेगनेंसी के दौरान लगने वाली भूख से जुड़ा है। प्रेगनेंसी के समय बहुत से महिलाएं ऐसी होती है जो भूख कम लगने के कारण परेशान रहती है तो कुछ महिलाएं ऐसी भी होती है जो भूख ज्यादा लगने के कारण परेशान होती है। ऐसे में दोनों की परिस्थितयां होना आम बता है लेकिन इनके बावजूद गर्भवती महिला को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए इस समस्या का समाधान करना चाहिए। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान आवश्यकता से अधिक भोजन का सेवन करना और कम भोजन का सेवन करना दोनों ही गर्भवती महिला के स्वास्थ्य के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकते हैं।

प्रेगनेंसी में भूख अधिक लगने के कारण

गर्भावस्था के दौरान कई महिलाएं भूख बहुत ज्यादा लगने के कारण परेशान होती है, क्योंकि बार बार भोजन खाते रहना गर्भवती महिला के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। प्रेगनेंसी के दौरान भूख ज्यादा लगने का कारण भी बॉडी के अंदर तेजी से हो रहे हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसके कारण गर्भवती महिला की भूख में वृद्धि हो सकती है। इसके अलावा यदि गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान तनाव से ग्रसित है तो भी महिला की भूख में वृद्धि हो सकती है। तो आइये अब जानते हैं भूख ज्यादा लगने पर क्या करना चाहिए और ज्यादा खाने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

ज्यादा भूख लगने पर क्या करें

गर्भवती महिला को यदि बहुत अधिक भूख लगती है तो ऐसे में महिला को पूरा दिन रोटी और चावल ही नहीं खाते रहना चाहिए। बल्कि फल, सलाद, सूप, तरल पदार्थ आदि को अपनी डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए, खासकर जिन फलों और सब्जियों में फाइबर मौजूद होता है उनका सेवन करना चाहिए। क्योंकि फाइबर युक्त आहार लेने से जहां पाचन क्रिया अच्छी रहती है, वहीँ तरल पदार्थ, सलाद, आदि का सेवन करने से पेट को भरे रहने में मदद मिलती है।

ज्यादा भूख लगने के नुकसान

यदि प्रेग्नेंट महिला को भूख अधिक लगती है और महिला सारा दिन अन्न, चावल आदि का सेवन ही करती रहती है, तो इसके कारण वजन बढ़ने की समस्या का सामना गर्भवती महिला को करना पड़ सकता है। और वजन का ज्यादा बढ़ना गर्भवती महिला के लिए प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स को बढ़ा सकता है। ऐसे में महिला को ऊपर दिए गए टिप्स का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे वजन कण्ट्रोल रखने के साथ भूख को नियंत्रित रखने में भी मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी में भूख कम लगने के कारण

गर्भावस्था की पहली तिमाही में ज्यादातर गर्भवती महिला बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण शारीरिक परेशानियां जैसे की मॉर्निंग सिकनेस, उल्टी, तनाव, पेट में हल्के दर्द जैसी समस्या से परेशान रहती है। जिसके कारण गर्भवती महिला की खाने की इच्छा में कमी आ सकती है, साथ ही प्रेगनेंसी की दूसरी और तीसरी तिमाही में पेट का आकार बढ़ने के कारण, हॉर्मोन स्तर में आने वाले बदलाव के कारण पाचन धीमा पड़ सकता है जिसके कारण गर्भवती महिला को भूख की कमी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। तो आइये अब जानते हैं की गर्भवती महिला को भूख कम लगने पर क्या करना चाहिए और भूख कम लगने के क्या नुकसान हो सकते हैं।

भूख को बढ़ाने के लिए यह करें

गर्भवती महिला को भूख कम लगने पर भूख को बढ़ाने के लिए कुछ उपाय करना चाहिए। जैसे की फाइबर युक्त आहार का सेवन करें जिससे पाचन क्रिया को बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिल सके, अपनी पसंद की चीजें बनाकर उनका सेवन करें, तरल पदार्थ अधिक लें जिससे बॉडी में मौजूद विषैले पदार्थो को बाहर निकालकर भूख को बढ़ाने में मदद मिल सके। इन टिप्स का इस्तेमाल करने से गर्भवती महिला को भूख में कमी की समस्या से निजात पाने के साथ भूख को बढ़ाने में मदद मिलती है।

भूख कम लगने के नुकसान

यदि प्रेग्नेंट महिला को भूख कम लगती है और गर्भवती महिला अपने आहार का अच्छे से सेवन नहीं करती है, तो इसके कारण गर्भवती महिला की स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या बढ़ सकती है, साथ ही बॉडी में पोषक तत्वों की कमी होने के कारण शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है। ऐसे में इन सभी परेशानियों से बचने के लिए गर्भवती महिला को भूख में कमी की समस्या को दूर करने के लिए कुछ न कुछ जरूर करना चाहिए।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को ज्यादा या कम भूख लगने के कुछ कारण और उपाय, ऐसे में आपको प्रेगनेंसी के दौरान इन बातों का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। ताकि भूख कम लगने या ज्यादा लगने के कारण आपको किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

Leave a Comment