दूध पीने का सही तरीका प्रेग्नेंट महिला के लिए?

दूध पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्त्रोत है। जो गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहें शिशु के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को दिन में दो से तीन गिलास दूध पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन अधिक मात्रा में और सही तरीके से दूध का सेवन न करने पर इसके दुष्प्रभाव भी महिला हो सकते है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को दूध का सेवन करने के साथ इसकी सही मात्रा व् इसके सही तरीके के बारे में पता होना चाहिए।

तो आइये आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से प्रेग्नेंट महिला को कितना दूध पीना चाहिए। किस तरह से दूध का सेवन करना चाहिए। प्रेगनेंसी में दूध का सेवन करने से कौन से फायदे होते हैं। इस बारे में विस्तार से बताने जा जा रहें हैं। तो आइये सबसे पहले जानते हैं की गर्भवती महिला को दूध प्रेगनेंसी में क्यों पीना चाहिए।

प्रेग्नेंट महिला को दूध क्यों पीना चाहिए?

कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस, पोटैशियम, वसा, कैलोरी जैसे पोषक तत्व दूध में भरपूर मात्रा में होते हैं। जो गर्भवती महिला और शिशु दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। इसीलिए प्रेग्नेंट महिला को दूध को नियमित रूप से जरूर पीना चाहिए।

गर्भावस्था में दूध पीना कब शुरू करना चाहिए?

प्रेग्नेंट महिला को दूध का सेवन करने के लिए सही समय का इंतज़ार करने की जरुरत नहीं है। बल्कि प्रेगनेंसी में रोजाना गर्भवती महिला को दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। और यह आपको हम नहीं बल्कि डॉक्टर भी कहते हैं। क्योंकि दूध गर्भवती महिला के स्वास्थ्य और भ्रूण के विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

प्रेगनेंसी में दूध कितना पीना चाहिए?

गर्भवती महिला को दिन में दो से तीन गिलास दूध के जरूर पीने चाहिए। जैसे की सुबह नाश्ते व् रात को सोने से पहले जरूर पीना चाहिए। बाकी आप चाहे तो शाम को भी दूध का सेवन कर सकती है। और इससे ज्यादा दूध भी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि दूध का अधिक मात्रा में सेवन भी गर्भवती महिला को परेशान कर सकता है।

प्रेगनेंसी में दूध पीने का सही तरीका क्या है?

प्रेग्नेंट महिला के लिए दूध का पीना ही जरुरी नहीं है। बल्कि इसे सही तरीके से पीना भी जरुरी है। क्योंकि गलत तरीके से दूध का सेवन करने से गर्भवती महिला को सेहत सम्बन्धी समस्या हो सकती है। तो आइये जानते हैं की प्रेगनेंसी में दूध पीने का सही तरीका क्या है।

दूध को अच्छे से उबालें

प्रेगनेंसी में दूध को पीने से पहले अच्छे से उबाल लेना चाहिए। और उसके गुनगुना रहने पर उसका सेवन करना चाहिए। ताकि दूध का तापमान सही हो सके। और उसमे किसी तरह के बैक्टेरिया न हो। आप चाहे तो उसमे स्वादानुसार थोड़ा मीठा भी मिला सकते है।

मिल्क का तापमान

बहुत ज्यादा गर्म दूध या बहुत ज्यादा ठंडा दूध भी प्रेग्नेंट महिला को नहीं पीना चाहिए। क्योंकि गर्म दूध में प्रेग्नेंट महिला के शरीर के तापमान में फ़र्क़ आ सकता है। जबकि ठंडा दूध पीने से सेहत सम्बन्धी परेशानी हो सकती है।

बादाम दूध

दूध में पोषक तत्वों मात्रा को बढ़ाने के लिए प्रेग्नेंट महिला दूध में बादाम डालकर भी पी सकती है। इससे दूध का फायदा दुगुना हो जाता है।

केसर

  • दूध में केसर डालकर पीना भी प्रेग्नेंट महिला के लिए फायदेमंद होता है।
  • केसर के दी तीन रेशे डालकर भी प्रेग्नेंट महिला दूध का सेवन कर सकती है।
  • लेकिन ध्यान रखें की केसर की मात्रा अधिक न हो।

कच्चा दूध

  • गर्भवती महिला को कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए।
  • क्योंकि इसमें लिस्टेरिया नामक बैक्टेरिया होता है।
  • जो गर्भवती महिला व् शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • इसीलिए दूध को अच्छे से उबालने के बाद ही उसका सेवन करें।

प्रेगनेंसी में दूध का सेवन करने के फायदे

गर्भवती महिला यदि नियमित रूप से दूध का सही तरीके और सही मात्रा में सेवन करती है। तो ऐसा करने से गर्भवती महिला और शिशु दोनों को बहुत से फायदे मिलते हैं। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं प्रेगनेंसी में दूध पीने के फायदे क्या हैं।

कैल्शियम

  • दूध में कैल्शियम की मात्रा की अधिकता होती है।
  • जो गर्भवती महिला की हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करता है।
  • जिससे थकान व् कमजोरी जैसी परेशानी से प्रेग्नेंट महिला को बचें रहने में मदद मिलती है।
  • साथ ही इससे गर्भ में भ्रूण की हड्डियों के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है।

प्रोटीन

  • प्रोटीन की मात्रा भी दूध में मौजूद होती है।
  • जो प्रेग्नेंट महिला की मांसपेशियों की मरम्मत व् मजबूती में मदद करता है।
  • साथ ही इससे भ्रूण के बेहतर विकास होने में मदद मिलती है।
  • और इससे भ्रूण का वजन भी सही रहता है।

विटामिन डी

  • विटामिन डी की मात्रा भी दूध में होती है।
  • जो गर्भ में भ्रूण के बेहतर विकास में मदद करता है।
  • साथ ही इससे भ्रूण को होने वाली बहुत सी परेशानियों से बचाव करने में मदद मिलती है।

हाइड्रेटेड

  • दूध पीने से गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान हाइड्रेटेड रहने में मदद मिलती है।
  • जिससे प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली बहुत सी परेशानियों को कम किया जा सकता है।
  • इसके अलावा इससे गर्भवती महिला को तनाव जैसी परेशानी से बचाव करने में भी मदद मिलती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी में दूध पीने से जुड़े कुछ खास टिप्स। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को इन सभी बातों का ध्यान रखना चाहिए। ताकि प्रेग्नेंट महिला और शिशु को इसके भरपूर फायदे मिल सके।