Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी में झाड़ू पोछा लगाते समय इन बातों का ध्यान रखें

0

गर्भावस्था के दौरान घर का थोड़ा बहुत काम किया जा सकता है। यदि महिला काम करती है तो इससे महिला को एक्टिव रहने में मदद मिलती है क्योंकि यह महिला के लिए एक एक्सरसाइज ही होती है। साथ ही ऐसा करने से मसल्स भी फ्लेक्सिबल रहती है जिससे महिला को फिट रहने में फायदा पहुँचता है। लेकिन यदि महिला की प्रेगनेंसी में किसी भी तरह की कॉम्प्लीकेशन्स हैं तो महिला को घर का काम करने से भी बचना चाहिए। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला घर में झाड़ू पोछा लगाती है तो महिला को किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। इस बारे में बताने जा रहे हैं ताकि माँ व् बच्चे दोनों को किसी भी तरह की परेशानी न हो।

ज्यादा तेजी न करें

प्रेग्नेंट महिला को झाड़ू पोछा लगाते समय ज्यादा तेजी नहीं करनी चाहिए। क्योंकि ज्यादा तेजी करने के कारण महिला को झटका लगने या किसी अन्य परेशानी के होने का खतरा रहता है। जिसके कारण माँ व् बच्चे दोनों को दिक्कत हो सकती है।

ज्यादा झुककर काम न करें

प्रेगनेंसी में जब तक पेट बाहर नहीं आता है तब तक कोई बात नहीं लेकिन जब महिला का पेट बाहर आ जाता है तो महिला को ज्यादा झुककर काम नहीं करना चाहिए। क्योंकि ज्यादा झुककर काम करने से गर्भ में शिशु को दिक्कत होती है साथ ही महिला को भी कमर दर्द जैसी परेशानी का सामना अधिक करना पड़ सकता है।

पैरों के बल ज्यादा न बैठें

गर्भवती महिला यदि झाड़ू पोछा लगाती है तो महिला को घुटनों के बल बैठकर पोछा लगाना चाहिए पैरों के बल बैठकर नहीं। क्योंकि पैरों के बल बैठकर झाड़ू पोछा लगाने से गर्भवती महिला के पेट पर दबाव पड़ता है जिसके कारण महिला को पेट में दर्द जैसी परेशानी होने के साथ गर्भ में बच्चे को भी असहज महसूस होता है।

धूल से एलर्जी हो तो इन बातों का ध्यान रखें

प्रेग्नेंट महिला को यदि धूल मिट्टी से एलर्जी हो तो महिला को प्रेगनेंसी के दौरान झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। और यदि महिला झाड़ू लगाती है तो मास्क से या चुन्नी को मुँह पर बांधकर झाड़ू लगानी चाहिए। ताकि महिला को किसी भी तरह की दिक्कत न हो। या फिर डॉक्टर से पूछना चाहिए की आप झाड़ू लगा सकती है या नहीं ताकि आपको एलर्जी के कारण ज्यादा दिक्कत न हो।

केमिकल का ज्यादा इस्तेमाल न करें

गर्भावस्था के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण स्किन सेंसिटिव हो जाती है इसीलिए पोछा लगाते समय महिला को केमिकल का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। क्योंकि इसके कारण महिला को स्किन से जुडी परेशानी हो सकती है साथ ही महिला को तेज स्मेल वाली चीजों का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके कारण महिला को उल्टी आदि की परेशानी होने का खतरा रहता है। महिला चाहे तो नमक, निम्बू, आदि का इस्तेमाल पोछा के पानी में डालकर कर सकती है।

थकान होने पर आराम करें

प्रेगनेंसी के दौरान काम करना अच्छी बात होती है लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है की महिला जरुरत से ज्यादा काम करने लग जाये। जितना महिला से काम हो यानी झाड़ू पोछा लगे उतना ही लगाएं। क्योंकि जरुरत से ज्यादा महिला काम करती है तो इसके कारण महिला को बॉडी में दर्द, थकान, कमजोरी जैसी परेशानी अधिक होती है।

जिन चीजों से संक्रमण हो उन चीजों की साफ़ सफाई करने से बचें

प्रेग्नेंट महिला को झाड़ू पोछा लगाते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए की जानवर की जगह की साफ़ सफाई न करें। जैसे की कुत्ते की पोटी, बिल्ली या अन्य जानवर की पोटी क्योंकि इसके कारण संक्रमण का खतरा रहता है।

भारी चीजों को न उठायें और सरकायें

साफ़ सफाई करते समय इस बात का ध्यान रखें की प्रेग्नेंट महिला न तो भारी चीजों को उठायें और न ही सरकायें क्योंकि इसके कारण महिला को दिक्कत हो सकती है। साथ ही गर्भ में शिशु भी परेशानी का अनुभव कर सकता है।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिनका ध्यान प्रेग्नेंट महिला को झाड़ू पोछा लगाते समय रखना चाहिए। ताकि प्रेग्नेंट महिला को काम करते समय किसी भी तरह की परेशानी न हो। और महिला को प्रेगनेंसी के दौरान घर का काम करके एक्टिव रहने में भी मदद मिल सके।

Keep these things in mind when Pregnant woman Mopping and Cleaning in Pregnancy

Leave a comment