प्रेगनेंसी में ज्यादा नींद आने के कारण

गर्भावस्था के दौरान भरपूर व् अच्छी नींद लेना बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि भरपूर नींद लेने से प्रेग्नेंट महिला को रिलैक्स व् फ्रेश महसूस होता है। यानी महिला शारीरिक के साथ मानसिक रूप से भी रिलैक्स महसूस करती है। लेकिन कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी में बहुत ज्यादा नींद आती है तो कुछ महिलाएं अच्छे से सो नहीं पाती है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला के लिए न तो ज्यादा सोना अच्छा होता है और न ही कम सोना। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा नींद आने के कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं।

पहली तिमाही में आती है प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा नींद

गर्भावस्था की पहली तिमाही में प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन का स्तर बहुत बढ़ जाता है। जिसकी वजह से गर्भवती महिला की नींद में वृद्धि होती है। और महिला को बहुत ज्यादा सोने की इच्छा होती है।

महिला के शरीर में कमजोरी

यदि गर्भवती महिला शारीरिक रूप से बहुत ज्यादा कमजोर है या महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी है। तो इस कारण महिला को बहुत ज्यादा थकान व् कमजोरी की समस्या होती है। और महिला यदि बहुत ज्यादा थकान व् कमजोरी का अनुभव करती है तो इस कारण गर्भवती महिला को नींद अधिक आती है।

बहुत ज्यादा शारीरिक श्रम

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला आराम कम और काम ज्यादा करती है। तो इस वजह से भी महिला की सोने की इच्छा में वृद्धि हो सकती है। साथ ही जरुरत से ज्यादा शारीरिक श्रम गर्भवती महिला की शारीरिक परेशानियों को भी बढ़ा सकता है।

गर्भ में होने वाले बच्चे के कारण

ऐसा माना जाता है जिन महिलाओं के गर्भ में पल रहा शिशु लड़की होती है। उन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा नींद आती है।

तो यह हैं गर्भवती महिलाओं को ज्यादा नींद आती है। तो इसके यह कारण हो सकते हैं साथ ही जरुरत से ज्यादा सोना प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स को बढ़ा सकता है। ऐसे में आपको इसके लिए एक बार डॉक्टर से जरूर बात करनी चाहिए।