What In India

Trending Now

प्रेगनेंसी में कटहल का सेवन करें या नहीं?

0

प्रेगनेंसी के दौरान बहुत जरुरी होता है की महिला अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखें क्योंकि महिला द्वारा लिया गया बेहतर खान पान माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। इसीलिए प्रेग्नेंट महिला के लिए किसी भी चीज का सेवन करने से पहले यह जानना बहुत जरुरी होता है की महिला जो खा रही है वो प्रेग्नेंट महिला के लिए सही है या नहीं? महिला को कब और कितनी मात्रा में उस चीज का सेवन करना चाहिए, आदि। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान कटहल के बारे में बताने जा रहे हैं।

क्या प्रेगनेंसी में कटहल का सेवन करना चाहिए?

कटहल को लेकर अधिकतर गर्भवती महिलाओं को यह आशंका रहती है की महिला कटहल खाएं या नहीं। तो इसका जवाब है की गर्भावस्था के दौरान कभी कभार महिला स्वाद के लिए कटहल का सेवन कर सकती है लेकिन जरुरत से ज्यादा कटहल का सेवन महिला को नहीं करना चाहिए।

क्योंकि कटहल का जरुरत से ज्यादा सेवन करने से महिला के शरीर में गर्मी बढ़ सकती है। जिससे बच्चे को खतरा हो सकता है। ऐसे में सिमित मात्रा में कभी कभार ही महिला को कटहल का सेवन करना चाहिए ताकि महिला को कटहल का सेवन करने के फायदे मिल सके और किसी भी तरह का नुकसान नहीं हो।

प्रेगनेंसी के दौरान कटहल का सेवन क्यों करें?

कटहल में पोषक तत्व जैसे की विटामिन सी, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, विटामिन, मैग्नीशियम, आदि भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला व् उसके होने वाले बच्चे के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। और इन्ही पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए महिला को प्रेगनेंसी के दौरान कभी कभी कटहल का सेवन जरूर करना चाहिए। महिला कटहल का सेवन सब्ज़ी, चिप्स आदि के रूप में कर सकती है।

गर्भावस्था के दौरान कटहल का सेवन करने के फायदे

गर्भवती महिला यदि सिमित मात्रा में कटहल का सेवन करती है तो इससे महिला को सेहत सम्बन्धी बहुत से फायदे मिलते हैं। जैसे की:

एनर्जी रहती है भरपूर

कटहल विटामिन, प्रोटीन, कैल्शियम जैसे पोषक तत्वों का बेहतरीन स्त्रोत होता है। ऐसे में यदि महिला कटहल का सेवन करती है तो इससे गर्भवती महिला के शरीर को भरपूर पोषण मिलता है जिससे महिला को एनर्जी से भरपूर रहने व् एक्टिव रहने में मदद मिलती है।

आयरन

आयरन की मात्रा भी कटहल में भरपूर होती है ऐसे में कटहल का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को एनीमिया जैसी परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

कैल्शियम व् मैग्नीशियम

कटहल का सेवन करने से महिला के शरीर में कैल्शियम व् मैग्नीशियम की मात्रा को सही रहने में मदद मिलती है। जिससे गर्भवती महिला की हड्डियों को मजबूती मिलने के साथ गर्भ में शिशु की हड्डियों का बेहतर विकास होने में मदद मिलती है।

पाचन तंत्र होता है मजबूत

सिमित मात्रा में कटहल का सेवन करने से गर्भवती महिला के पाचन तंत्र को सही रहने में मदद मिलती है। जिससे महिला को पेट सम्बन्धी समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है। लेकिन यदि महिला जरुरत से ज्यादा कटहल का सेवन करती है तो इससे महिला की पेट सम्बन्धी परेशानी बढ़ भी सकती है।

विटामिन सी

कटहल विटामिन सी का बेहतरीन स्त्रोत होता है और विटामिन सी एक बेहतरीन एंटी ऑक्सीडेंट होता है। जो इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करता है। ऐसे में बिमारियों और संक्रमण से बचे रहने के लिए प्रेग्नेंट महिला को सिमित मात्रा में कटहल को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

ब्लड प्रैशर रहता है नियंत्रित

कुछ गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान ब्लड प्रैशर से जुडी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है लेकिन कटहल का सेवन करने से महिला इस परेशानी से बच सकती है। क्योंकि कटहल में पोटैशियम मौजूद होता है जो गर्भवती महिला के ब्लड प्रैशर को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान कटहल का सेवन करने से जुडी जानकारी, लेकिन जिन महिलाओं को कटहल खाने से कोई एलर्जी होती है, कोई स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या होती है, जिनकी प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स अधिक हैं उन महिलाओं को कटहल का सेवन करने से बचना चाहिए।

Kathal during Pregnancy

Leave a comment