प्रेग्नेंट महिला के लिए कितनी देर सोना सही होता है?

प्रेगनेंसी के पूरे नौ महीने महिला के लिए बहुत ही उतार चढ़ाव से भरे होते हैं। इस दौरान महिला को तरह तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है जैसे की मॉर्निंग सिकनेस, उल्टियां, थकावट, कमजोरी, बॉडी पेन, सिर दर्द चक्कर, पेट से जुडी समस्या, अनिंद्रा की समस्या, आदि। लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला प्रेगनेंसी के दौरान अपना अच्छे से ध्यान रखती है यानी की खान पान अच्छे से लेती है, नींद भरपूर लेती है, मैडिटेशन करती है, एक्सरसाइज करती है, तो इससे इन परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है।

साथ ही यदि महिला प्रेगनेंसी में किसी भी तरह की लापरवाही करती है, अपनी जीवनशैली व् दिनचर्या को सही नहीं रखती है तो इसका नकारात्मक असर महिला और बच्चे दोनों पर पड़ता है। आज इस आर्टिकल में हम गर्भावस्था के दौरान महिला को कितनी देर सोना चाहिए और नींद से जुडी किन किन बातों का ध्यान गर्भवती महिला को रखना चाहिए उसके बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेग्नेंट महिला के लिए कितनी देर सोना सही होता है?

आम तौर पर स्वस्थ रहने के लिए किसी भी व्यक्ति को एक दिन में सात से आठ घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। ऐसे में गर्भवती महिला यदि प्रेगनेंसी के दौरान यदि स्वस्थ रहना चाहती है तो महिला को दिन भर में सात से आठ घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। इसके अलावा थोड़ी देर दिन के समय भी महिला को आराम जरूर करना चाहिए ताकि महिला को एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिल सके।

प्रेगनेंसी के दौरान जिस तरह बेहतर खाना पीना माँ और बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करता है उसकी तरह यदि महिला नींद भी अच्छे से लेती है तो महिला और शिशु के स्वास्थ्य पर इसका सकारात्मक असर पड़ता है। साथ ही महिला को इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की जिस तरह सिमित मात्रा में खाने पीने से आपको फायदा मिलता है और जरुरत से ज्यादा खा लेने पर आपको दिक्कत हो सकती है।

उसी तरह प्रेगनेंसी के दौरान जितनी नींद की जरुरत है उतनी ही नींद महिला को लेनी चाहिए क्योंकि जरुरत से ज्यादा सोना माँ और बच्चे दोनों की सेहत पर गलत असर डाल सकता है। ऐसे में स्वस्थ रहने के लिए महिला को नींद भी सिमित मात्रा में ही लेनी चाहिए। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं को अनिद्रा की समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है आइये अब आगे जानते हैं की अनिंद्रा की समस्या होने के क्या कारण होते हैं।

गर्भावस्था के दौरान नींद नहीं आने के कारण?

प्रेगनेंसी के दौरान नींद लेना तो जरुरी होता है लेकिन कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान अनिंद्रा जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। तो आइये अब जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान अनिंद्रा की समस्या होने का क्या कारण होता है।

  • पेट से जुडी समस्या जैसे की गैस अधिक बनने के कारण महिला को नींद नहीं आती है।
  • जो महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान तनाव अधिक लेती है उन्हें भी इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • वजन बढ़ने के कारण भी नींद लेने में दिक्कत आती है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान शारीरिक परेशानियां यदि अधिक होती है तो इस कारण भी महिला को अनिंद्रा की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
  • बार बार यूरिन पास करने की इच्छा अधिक होने के कारण भी महिला को नींद नहीं आती है।
  • बॉडी पार्ट्स में दर्द होने के कारण भी महिला को नींद नहीं आने की समस्या हो सकती है।

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को किस पोजीशन में सोना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला सही पोजीशन में सोती है तो इसके कारण भी महिला को बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है। और प्रेगनेंसी के दौरान महिला का बाईं और करवट लेकर सोना सबसे सही पोजीशन होती है इस पोजीशन में शिशु तक भी सभी जरुरी चीजें जैसे की ऑक्सीजन, ब्लड आदि पहुँचते हैं। साथ ही महिला भी आरामदायक तरीके से इस पोजीशन में नींद ले सकती है।

प्रेगनेंसी के दौरान बेहतर नींद लेने के लिए किन बातों का ध्यान रखें

  • सोने वाली जगह को साफ़ सुथरा रखें।
  • आरामदायक गद्दे का इस्तेमाल करें।
  • शोर वाली जगह पर नहीं सोये क्योंकि इसकी वजह से आपको नींद लेने में परेशानी हो सकती है।
  • स्लीपिंग पिल्लो का इस्तेमाल करें यह आपको मार्किट में मिल जाता है।
  • सोते समय फ़ोन, टीवी आदि बंद कर दें खासकर फ़ोन को अपने सोने की जगह से थोड़ी दूरी पर रखें।
  • सोते समय किसी भी तरह के नेगेटिव विचार को अपने मन में नहीं आने दें।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए कितनी देर सोना जरुरी है उससे जुड़े टिप्स, यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी प्रेगनेंसी के दौरान यह जानकारी होनी जरुरी है। ताकि आपको और आपके बच्चे को नींद लेने के कारण किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

Leave a comment