Ultimate magazine theme for WordPress.

प्रेगनेंसी में पेट में गैस बनने के कारण

0

प्रेगनेंसी किसी भी महिला के लिए उसके जीवन का सबसे सुखद अहसास होता है। लेकिन गर्भावस्था का समय महिला के लिए इतना आसान भी नहीं होता है। क्योंकि प्रेग्नेंट महिला को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। यह समस्याएँ शारीरिक रूप से महिला को परेशान करने के साथ मानसिक रूप से भी महिला को परेशान कर सकती है। शारीरिक रूप से प्रेग्नेंट महिला को उल्टियां, बॉडी में कमजोरी महसूस होना, थकान, सिर दर्द, पेट दर्द, आदि, जैसी समस्याएँ हो सकती है। तो आज हम प्रेगनेंसी के दौरान महिला को शारीरिक रूप से होने वाली परेशानी के बारे में बात करने जा रहे हैं। और वो है प्रेगनेंसी में पेट में गैस बनने की समस्या महिला को क्यों होती है और किस प्रकार महिला इसे निजात पा सकती है।

प्रेगनेंसी में पेट में गैस बनने के कारण

गर्भावस्था के दौरान प्रेगनेंसी की शुरुआत से लेकर प्रेगनेंसी के आखिरी महीने तक हो सकता है। की प्रेग्नेंट महिला पेट में गैस की समस्या से परेशान रहे। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान पेट में गैस होने का कोई एक कारण नहीं होता है। बल्कि इसके कारण होते हैं। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में पेट में गैस होने के क्या- क्या कारण हो सकते हैं।

हार्मोनल बदलाव

  • प्रेगनेंसी के समय पेट से जुडी इस समस्या का सबसे अहम कारण बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव हो सकते हैं।
  • क्योंकि गर्भावस्था के दौरान बॉडी में प्रोजेस्ट्रोन का स्तर बढ़ सकता है।
  • जिसके कारण पाचन तंत्र व् शरीर की मांसपेशियों में ढीलापन आ सकता है।
  • और इस कारण महिला पाचन शक्ति धीरे धीरे कमजोर पड़ने लगती है।
  • जिसके कारण पेट में गैस या पेट फूलने जैसी परेशानी प्रेग्नेंट महिला को हो सकती है।

वजन में बढ़ोतरी

  • जैसे जैसे प्रेगनेंसी का समय आगे बढ़ता है वैसे वैसे महिला का वजन बढ़ता है।
  • वजन बढ़ने के कारण पाचन क्रिया पर दबाव पड़ता है।
  • जिसके कारण पाचन क्रिया धीमी पड़ सकती है।
  • और पाचन क्रिया के धीमे पड़ने के कारण प्रेग्नेंट महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

कब्ज़ होने के कारण

  • पाचन क्रिया के धीमे पड़ने के कारण महिला को कब्ज़ जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • और कब्ज़ की समस्या अधिक होने पर पेट में गैस की समस्या का सामना भी प्रेग्नेंट महिला को करना पड़ सकता है।

खान पान में लापरवाही

  • गर्भावस्था के दौरान खान पान बहुत महत्व रखता है।
  • लेकिन यदि महिला ऐसे आहार का सेवन करती है।
  • जो ज्यादा तला हुआ या मसालेदार होता है।
  • या जिन खाद्य पदार्थों को खाने से गैस बनती है।
  • तो उन चीजों का सेवन करने से भी गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान पेट में गैस की समस्या हो सकती है।

प्रेगनेंसी में पेट में गैस की समस्या से बचने के उपाय

  • फाइबर युक्त आहार जैसे हरी सब्जियां, फल आदि का भरपूर सेवन करें।
  • प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही से हल्का फुल्का व्यायाम करें जिससे शरीर की क्रियाओं को बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिल सके।
  • तरल पदार्थों का सेवन भरपूर मात्रा में करें।
  • जिन चीजों को खाने से गैस बनती है जैसे की गोभी, बीन्स, राजमा, चने आदि का सेवन सिमित मात्रा में करें।
  • खाने में मिर्च मसालों का कम प्रयोग करें।
  • एक ही बार में खाने की बजाय थोड़ा थोड़ा और धीरे धीरे अच्छे से चबाकर खाएं।
  • ताकि खाने को आसानी से हज़म होने में मदद मिल सके।
  • खाना खाने के बाद तुरंत ही सो न जाएँ।
  • मीठे का सेवन अधिक मात्रा में करने से बचें।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से प्रेग्नेंट महिला को पेट में गैस की समस्या हो सकती है। साथ ही इस समस्या से बचने के कुछ उपाय भी इस आर्टिकल में आपको बताएं गए हैं। तो यदि आप भी इस समस्या से परेशान हैं। तो इन आसान तरीको का इस्तेमाल करके आप आसानी से इस समस्या से निजात पा सकते हैं। लेकिन पेट में गैस के साथ दर्द व् ऐंठन की समस्या अधिक है तो एक बार डॉक्टर से राय जरूर लें।