प्रेग्नेंट महिला को गर्मियों में रात को पराठे खाने से क्या नुकसान होते हैं?

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को पोषक तत्वों से भरपूर आहार खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन साथ ही महिला को खान पान में सावधानी बरतने की सलाह भी दी जाती है। ताकि महिला व् शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके, महिला को भोजन को पचाने में कोई दिक्कत न हो, जो भी महिला खा रही है उससे माँ या बच्चे की सेहत को कोई नुकसान न हो आदि। आज इस आर्टिकल में हम प्रेग्नेंट महिला को गर्मियों के मौसम में रात को पराठे क्यों नहीं खाने चाहिए और पराठे खाने से महिला को क्या नुकसान हो सकते हैं इस बारे में बताने जा रहे हैं।

हज़म करने में होती है दिक्कत

पराठे बनाने के लिए तेल, मसालों, आलू, प्यास जैसी चीजों का इस्तेमाल होता है। जिनका सेवन रात को करने के कारण उन्हें पचाने में परेशानी हो सकती है खासकर गर्भवती महिला की पाचन क्षमता कमजोर होती है ऐसे में उन्हें अधिक परेशानी होती है। और जब महिला का खाना अच्छे से हज़म नहीं होता है तो इसके कारण महिला को रातभर परेशानी हो सकती है।

पेट में गैस की हो सकती है समस्या

पराठों में होने वाले मसालों के कारण, पराठों के न पचने के कारण, पेट में गैस की समस्या होती है। जिसके कारण पेट दर्द, पेट फूलने जैसी परेशानी से रातभर महिला परेशान होती है। साथ ही इसके कारण सीने में जलन खट्टी डकार जैसी परेशानी भी महिला को होती है।

प्यास अधिक लगती है

तेलीय चीजें रात में खाने के कारण पानी की प्यास भी अधिक लगती है, और महिला पानी का सेवन ज्यादा करती है। पानी का सेवन बार बार करने के कारण बार बार यूरिन पास करने की इच्छा होती है। जिससे बार बार बाथरूम में आने जाने के कारण पूरी रात महिला परेशान होती है।

मसालों के कारण हो सकती है परेशानी

पराठे बनाने के लिए बहुत से मसालों का इस्तेमाल किया जाता है, और गर्भावस्था के दौरान महिला अधिक मसालों का सेवन करने की मनाही होती है। क्योंकि इसके कारण महिला को पेट सम्बन्धी परेशानियां जैसे की पेट में दर्द, अपच जैसी परेशानी होती है।

गर्मी लगती है अधिक

गर्मियों में मौसम में रात को पराठे खाने के कारण महिला को पसीना, अधिक गर्मी महसूस होने जैसी परेशानी भी होती है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को गर्मी के कारण होने वाली परेशानी व् नींद न आने के कारण होने वाली दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

तो यह हैं कुछ नुकसान जो प्रेग्नेंट महिला को गर्मियों में रात को पराठे खाने से हो सकते हैं। ऐसे में गर्भवती महिला को इस परेशानी से बचने के लिए रात को पराठे का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही चाहे गर्मी हो या सर्दी रात का आहार हल्का लेना चाहिए जिसे हज़म करने में महिला को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो और न ही कोई सेहत सम्बन्धी परेशानी हो।