Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भवती महिला को सीढ़ियां चढ़ने उतरने से क्या दिक्कत आती है

0

प्रेगनेंसी में सीढ़ियां चढ़ना उतरना

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी में किसी तरह की कॉम्प्लीकेशन्स का सामना न करना पड़े इसके लिए बहुत जरुरी होता है, की महिला प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह की लापरवाही न करे। क्योंकि प्रेगनेंसी के नौ महीने महिला के लिए बहुत ही नाजुक समय होता है इस दौरान की गई थोड़ी सी चूक गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहे शिशु को भी नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में खान पान के साथ छोटे छोटे काम को करते हुए भी बहुत सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है। जैसे की सीढ़ियां चढ़ते समय, सीढ़ियां चढ़ना प्रेगनेंसी के दौरान नुकसानदायक हो सकता है यदि इसमें थोड़ी सी भी चूक हो जाए। खासकर प्रेगनेंसी के दौरान यदि कोई परेशानी है तो डॉक्टर सीढ़ियां न चढ़ने की सलाह देते हैं।

गर्भवती महिला को सीढ़ियां चढ़ने के नुकसान

यदि गर्भवती महिला बहुत अधिक सीढ़ियां चढ़ती है तो इसके कारण प्रेगनेंसी की शुरुआत के साथ प्रेगनेंसी के आखिरी दिनों में भी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में सीढ़ियां चढ़ने के क्या नुकसान होते हैं।

ब्लीडिंग

प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने महिला के लिए सबसे अहम होते हैं क्योंकि इस दौरान गर्भपात के चांस सबसे ज्यादा होते हैं। ऐसे में अधिक सीढ़ियां चढ़ने के कारण महिला को स्पॉटिंग या ब्लीडिंग जैसी परेशानी का अनुभव हो सकता है, जिसके कारण प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स बढ़ सकती है।

दर्द

सीढ़ियां चढ़ने से पेट के निचले हिस्से और जांघो की मांसपेशियों में बहुत अधिक खिंचाव हो सकता है। और खिंचाव के कारण टांगों में, पेट में, पेट के निचले हिस्से में गर्भवती महिला को दर्द का अनुभव करना पड़ सकता है।

गर्भपात

प्रेगनेंसी में काम करते समय तेजी करना महिला के लिए नुकसानदायक हो सकता है, ऐसे में यदि महिला सीढ़ियां बहुत ज्यादा चढ़ने उतरने के साथ बहुत तेजी करती है, जिसके कारण दर्द और ब्लीडिंग की समस्या के बढ़ने का खतरा रहता हैं। और गर्भावस्था के पहले तीन महीने में ऐसा करना महिला के गर्भपात का कारण बन सकता है।

गिरने का डर

जैसे जैसे महिला के पेट का साइज बढ़ता है वैसे वैसे नीचे देखने में महिला को दिक्कत हो सकती है, ऐसे में सीढ़ियां चढ़ने उतरने में दिक्कत हो सकती है। जिसके कारण गिरने का डर भी रहता है, और गिरने के कारण प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहे शिशु को भी खतरा हो सकता है।

शिशु को खतरा

यदि सीढ़ियां चढ़ते समय महिला का पैर फिसल जाता है और महिला गिर जाती है, तो गिरने पर पेट पर सबसे ज्यादा दबाव पड़ता है। जिसके कारण गर्भ में पल रहे शिशु को भी खतरा होने के चांस बढ़ जाते हैं, ऐसे में गर्भवती महिला को इस तरह की लापरवाही बिल्कुल नहीं करनी चाहिए।

किन गर्भवती महिलाओं को सीढ़ियां नहीं चढ़नी चाहिए

  • जिन महिलाओं को ब्लीडिंग की समस्या हो।
  • पहले गर्भपात की समस्या से महिला जूझ चुकी हो।
  • प्रेगनेंसी में बहुत सी समस्याएँ हो।
  • बहुत अधिक उम्र में महिला प्रेग्नेंट हुई हो।
  • डॉक्टर ने प्रेगनेंसी में बेड रेस्ट की सलाह दी हो।

प्रेगनेंसी में सीढ़ियां चढ़ते हुए इन बातों का ध्यान रखें

  • सीढ़ियां उतरते समय हाथ में किसी तरह का सामान या बच्चे को पकड़कर न उतरें।
  • यदि अँधेरा हो तो पहले लाइट ऑन करें।
  • पैरों पर अच्छे से ध्यान रखते हुए सीढ़ियां उतरनी चाहिए।
  • सीढ़ियां उतरते समय रेलिंग को जरूर पकड़ना चाहिए ताकि गिरने के डर को कम किया जा सके।

तो यह हैं कुछ नुकसान जो प्रेगनेंसी में सीढ़ियों का अधिक इस्तेमाल करने के कारण हो सकते हैं। साथ ही सीढ़ियां चढ़ते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इस बारे में भी बताया गया है। ऐसे में गर्भवती महिला को इन बातों का खास ध्यान रखना चाहिए, ताकि प्रेगनेंसी के दौराब सीढ़ियां चढ़ने के कारण होने वाली परेशानी से बचाव करने में मदद मिल सके।

Leave a comment