प्रेग्नेंट महिला को दिन में दूध और दही कब खाना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान हेल्दी व् पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करने के साथ यह भी जरुरी होता है। की आप इस बात का ध्यान रखें की दिन में कौन सी चीज कब खानी चाहिए। क्योंकि जिस तरह आप ज्यादा खा लेती है और आपको परेशानी का सामना करना पड़ता है। वैसे ही यदि आप गलत समय पर कोई चीज खाती हैं या ऐसी दो चीजों का सेवन एक साथ करते हैं जिन्हे आपको एक साथ नहीं खाना चाहिए। तो उसके कारण भी आपको सेहत सम्बन्धी परेशानी हो सकती है। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के समय दिन में दूध व् दही का सेवन कब करना चाहिए इस बारे में बताने जा रहे हैं।

प्रेग्नेंट महिला दिन में कब करें दूध का सेवन

दूध कैल्शियम, प्रोटीन, फैट का बेहतरीन स्त्रोत होता है। और यह सभी पोषक तत्व प्रेग्नेंट महिला को फिट रखने के साथ बच्चे के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं। इसीलिए डॉक्टर्स भी दिन में दो से तीन गिलास दूध पीने की सलाह प्रेग्नेंट महिला को देते हैं। तो आइये अब जानते हैं दिन में प्रेग्नेंट महिला कब दूध पीएं।

  • गर्भवती महिला सुबह उठने के बाद चाय पीने की जगह एक गिलास गुनगुना दूध पी सकती है। (यदि महिला की इच्छा हो तो)
  • नाश्ते में गर्भवती महिला फ्रूट्स या नमक वाली चीजों का सेवन करती है तो महिला को उस दौरान दूध नहीं पीना चाहिए। क्योंकि इसके कारण महिला को सेहत सम्बन्धी परेशानी हो सकती है। बल्कि नाश्ता करने के एक घंटे बाद महिला को एक गिलास दूध पीना चाहिए।
  • महिला नाश्ते में यदि चाहे तो दूध से बना दलिया आदि खाकर भी दूध को नाश्ते में शामिल कर सकती है।
  • दोपहर के खाने के दो से तीन घंटे बाद भी महिला चाहे तो दूध पी सकती है।
  • रात को सोने से पहले गर्भवती महिला को गुनगुना दूध जरूर पीना चाहिए। महिला चाहे तो इसमें थोड़ी हल्दी भी मिला सकती है। यदि महिला ऐसा करती है तो इसके कारण महिला को अच्छी व् गहरी नींद लेने में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी के दौरान दिन में दही कब खाएं

दही दूध से बनी होती है। और यह भी कैल्शियम व् प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होती है। साथ ही दही खाने से गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली बहुत सी परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है। इसीलिए डॉक्टर्स भी प्रेग्नेंट महिला को दही या छाछ का सेवन करने की सलाह जरूर देते हैं। तो आइये अब जानते हैं की प्रेग्नेंट महिला को दिन में दही का सेवन कब करना चाहिए।

  • सुबह नाश्ते में एक कटोरी दही का सेवन गर्भवती महिला के नाश्ते को अच्छे से हज़म करने में मदद करता है। साथ ही नाश्ते के स्वाद को भी बढ़ा देती है। इसीलिए गर्भवती महिला चाहे तो एक कटोरी दही का सेवन सुबह के समय कर सकती है।
  • यदि प्रेग्नेंट महिला चाहे तो दोपहर के खाने में भी एक कटोरी दही का सेवन कर सकती है। दही नहीं तो छाछ का सेवन करना भी आपके लिए फायदेमंद होता है।
  • गर्भवती महिला को रात को दही का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।
  • यदि प्रेग्नेंट महिला को अस्थमा की समस्या है, दही खट्टा है, दही खाने से कोई एलर्जी होती है, तो दही का सेवन प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए।
  • साथ ही प्रेग्नेंट महिला को दही का सेवन करने के तुरंत बाद सोना नहीं चाहिए और नॉन वेज के साथ दही नहीं खानी चाहिए।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान दूध व् दही का सेवन दिन में कब करना चाहिए उससे जुड़े कुछ खास टिप्स। तो यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको दूध व् दही का सेवन जरूर करना चाहिए लेकिन ऊपर दिए गए टिप्स का भी ध्यान रखना चाहिए।