प्रेगनेंसी में नारियल पानी कब पीना चाहिए और कब नहीं पीना चाहिए?

0

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पीने के साथ जूस, निम्बू पानी, नारियल पानी व् अन्य तरल पदार्थों का सेवन करने की सलाह भी दी जाती है। नारियल पानी पीने में मीठा होने के साथ पोषक तत्वों से भरपूर भी होता है। और प्रेग्नेंट महिला यदि नारियल पानी का सेवन करती है तो इससे माँ व् बच्चे दोनों को फायदे मिलते हैं।

तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी में नारियल पानी कब पीना चाहिए और कब नहीं पीना चाहिए इसके बारे में बताने जा रहे हैं। लेकिन उससे पहले जानते हैं की प्रेगनेंसी में नारियल पानी पीने से कौन कौन से बेहतरीन फायदे मिलते हैं।

नारियल पानी में मौजूद पोषक तत्व

पोटैशियम, फाइबर, ओमेगा फैटी एसिड, प्रोटीन, सोडियम, कैल्शियम, विटामिन सी, मैग्नीशियम, मैगनीज़, एंटीऑक्सीडेंट्स आदि भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।

गर्भावस्था में नारियल पानी पीने के फायदे

प्रेग्नेंट महिला यदि नारियल पानी का सेवन करती है तो इससे गर्भवती महिला को होने वाली शारीरिक परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही बच्चे को भी फायदा मिलता है। तो आइये अब इन फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

मॉर्निंग सिकनेस से आराम

प्रेग्नेंट महिला को सुबह उठने के बाद कमजोरी, थकान, उल्टी आने की इच्छा होना, जी मिचलाना आदि की परेशानी होना आम बात होती है। खासकर प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में यह परेशानी अधिक होती है। लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला नारियल पानी का सेवन करती है तो महिला को इस परेशानी से बचे रहने व् सुबह उठने के बाद एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

READ  प्रेगनेंसी के सातवें महीने में इन बातों का ध्यान रखना जरुरी होता है?

पाचन तंत्र रहता है दुरुस्त

नारियल पानी का सेवन करने से गर्भवती महिला को पाचन तंत्र से जुडी समस्याएँ जैसे की कब्ज़, एसिडिटी, पेट का टाइट होना, अपच, आदि की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही पाचन तंत्र मजबूत होता है जिससे खाने को अच्छे से हज़म करने में मदद मिलती है।

शरीर में पानी की कमी होती है पूरी

नारियल पानी का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला के शरीर में पानी की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को पानी की कमी के कारण होने वाली परेशानियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

वजन

प्रेगनेंसी के दौरान नारियल पानी का सेवन करने से महिला के वजन को नियंत्रित रहने में मदद मिलती है। क्योंकि नारियल में पानी में कैलोरी कम होती है, फाइबर व् ओमेगा फैटी एसिड अधिक होते हैं जो वजन को सही रखने में मदद करते हैं।

इम्युनिटी बढ़ती है

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर नारियल पानी का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद मिलती है। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ व् बच्चे को संक्रमण से सुरक्षित रहने में मदद मिलती है।

एनर्जी मिलती है

नारियल पानी में मौजूद पोषक तत्व गर्भवती महिला को हमेशा एनर्जी से भरपूर रखने में मदद करते हैं। इसीलिए यदि महिला एनर्जी से भरपूर रहना चाहती है तो महिला को रोजाना नारियल पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।

यूरिन इन्फेक्शन से बचाव

कई बारे प्रेगनेंसी में यूरिन इन्फेक्शन की समस्या हो जाती है लेकिन यदि महिला नारियल पानी का सेवन करती है तो महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। क्योंकि नारियल पानी का सेवन करने से किडनी के काम में सुधार आता है। जिससे इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है।

READ  गर्भ में शिशु का विकास रुकने के यह कारण होते हैं?

हाई ब्लड प्रैशर से आराम

यदि कोई गर्भवती महिला हाई ब्लड प्रैशर की समस्या से प्रेगनेंसी के दौरान परेशान होती है तो महिला को नारियल पानी जरूर पीना चाहिए। क्योंकि नारियल पानी पीने से महिला के ब्लड प्रैशर को सामान्य रहने में मदद मिलती है।

बच्चे का विकास होता है बेहतर

नारियल पानी का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला के शरीर में पानी की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है। जिससे एमनियोटिक फ्लूड की मात्रा को सही रहने में भी मदद मिलती है और बच्चा गर्भ में स्वस्थ रहता है। साथ ही नारियल पानी में मौजूद पोषक तत्व गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद करते हैं।

प्रेगनेंसी के दौरान कब नारियल पानी पीएं और कब नारियल पानी नहीं पीएं?

गर्भावस्था के दौरान यदि प्रेग्नेंट महिला की नारियल पानी पीने की इच्छा होती है तो महिला नारियल पानी का सेवन कर सकती है। क्योंकि नारियल पानी पीने के लिए कोई महीना या समय नहीं निर्धारित किया गया है। लेकिन यदि महिला को नारियल पानी पीने से एलर्जी होती है, महिला को उसका स्वाद पसंद नहीं है, उसकी गंध से एलर्जी है तो गर्भवती महिला को नारियल पानी नहीं पीना चाहिए।

साथ ही भूरे नारियल का नहीं बल्कि हरे नारियल का पानी पीना चाहिए क्योंकि भूरे नारियल का पानी पीने से महिला को कब्ज़ की समस्या हो सकती है। इसके अलावा महिला को जरुरत से ज्यादा भी नारियल पानी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि जरुरत से ज्यादा सेवन की गई किसी भी चीज का महिला को नुकसान पहुँच सकता है।

READ  सर्दियों में त्वचा काली पड़ गई है? अब ऐसे ठीक करें

तो इसका मतलब यह हैं की प्रेगनेंसी के पूरे नौ महीने में महिला कभी भी नारियल पानी पी सकती है। बस इतना ध्यान रखें की महिला को नारियल पानी पीने से कोई समस्या नहीं हो और जितना हो सके ताजे नारियल लाकर उसका पानी पीएं और सिमित मात्रा में पीएं।

Coconut Water during Pregnancy

Leave A Reply

Your email address will not be published.