प्रेग्नेंट महिलाओं को डॉक्टर से मिलने पर ये बाते जरूर पूछनी चाहिए

प्रेगनेंसी का समय सही महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। हर महिला की गर्भावस्था की प्रक्रिया अलग अलग हो सकती है। हो सकता है किसी महिला को बहुत से समस्याओं और बदलावों का सामना करना पड़ रहा हो और कोई महिला इस गर्भावस्था को बहुत आराम से बिता रही हो।

इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान हर महिला को यह समस्या होती है के डॉक्टर से क्या पूछना चाहिए और क्या नहीं। यह परेशानी सिर्फ प्रेग्नेंट महिलाओं को ही नहीं होती बल्कि उन महिलाओं को भी होती है जो कन्सीव करने की प्लानिंग कर रही हो। वैसे तो आपके मन में जो भी सवाल को अपनी प्रेगनेंसी को लेकर आपको वह सभी सवाल अपने डॉक्टर से पूछने चाहिए। अपनी गर्भावस्था के हर हिस्से और हर समस्या को अपनी डॉक्टर के साथ जरूर साँझा करे क्योंकि वही जो डिलीवरी में आपकी मदद करेगी।

फिर भी अगर आपको समझ नहीं आ रहा हो के कैसे अपने डॉक्टर से बात करे या क्या पूछे तो आज इस लेख में हम आपको यही बताएंगे की कुछ जरुरी बाते आपको अपने डॉक्टर से जरूर पूछनी चाहिए। आइये जानते है आपको अपनी अगली डॉक्टर विजिट पर डॉक्टर से क्या पूछना है।

कौनसे से हर्बल सप्लीमेंट्स और दवाइयों का सेवन बंद करना है?

बहुत से लोग कुछ हर्बल सप्लीमेंट्स और विटामिन्स की दवाइयों का सेवन करते है। पर गर्भावस्था के दौरान आपके द्वारा हर ली जानी वाली चीज का पूरा असर आप अपने शिशु के साथ भी साँझा करने वाले है। इसीलिए कोई भी दवाई या हेल्थ सप्लीमेंट्स लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछे।

कई बार हम सभी लोग सर दर्द, उलटी, खांसी और जुकाम आदि होने पर कोई भी दवाई ले लेते है या फिर केमिस्ट के पास भी हमे बहुत से ऐसे दवाइयां बिना प्रिस्क्रिप्शन के ही मिल जाती है। पर गर्भावस्था के दौरान कोइ भी दवाई बिना अपने डॉक्टर की सलाह के ना लें। क्योंकि केमिस्ट के पास भी बहुत सी ऐसी दवाइयां होती है जो गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसानदेह हो सकती है। इसीलिए पहले से ही अपने डॉक्टर से पूछ लें की कोल्ड, सिरदर्द और उलटी आदि के कौन सी दवाई लेनी है और कौन सी नहीं। चाहे कोई विटामिन या आयरन की दवा ही क्यों ना हो पर अपने डॉकटर की सलाह के बिना ना लें।

प्रेगनेंसी के दौरान कौन कौन से टेस्ट और अल्ट्रासाउंड करवाने है?

गर्भावस्था के दौरान समय समय पर डॉक्टर बहुत से टेस्ट और अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए कहते है। कुछ टेस्ट आपकी मेडिकल हिस्ट्री को जानने के लिए भी होते है और कुछ टेस्ट शिशु के विकास को जानने के लिए भी। इसीलिए आप अपने डॉक्टर से अच्छे से पूछे की कौन सा टेस्ट कब करवाना है कौन सा टेस्ट या अल्ट्रासाउंड किस चीज के लिए है। यह जानकारी आपको अपनी और अपने शिशु की सेहत के लिए जरुरी है।

गर्भावस्था के दौरान कितना वेट बढ़ना चाहिए?

प्रेग्नेंट महिलाओं का वेट बढ़ना जरुरी है और वेट बढ़ता ही है यह तो सब जानते है पर कितना वेट बढ़ना चाहिए यह किसी को भी नहीं पता होता है। आपको यह जानकार हैरानी होगी की जिस तरह गर्भावस्था में वजन का ना बढ़ना चिंताजनक है, उसी तरह वेट का जरुरत से ज्यादा बढ़ना भी गंभीर समस्याओं को न्योता देने के समान है। इसीलिए प्रेगनेंसी के शुरुआत में ही आपको अपने डॉक्टर से पूछ लेना चाहिए के पूरी प्रेगनेंसी के आपको कुल कितना वेट बढ़ाना है। इसके लिए डॉक्टर आपको आपकी हाइट के हिसाब से एक अनुमानित वेट बताएंगे। जिसके अनुसार आप अपने डाइट प्लान कर सकते है।

कौन से भोजन का सेवन नहीं करना है?

गर्भावस्था में बहुत से ऐसे भोजन प्रदार्थ होते है जिनका सेवन हमे त्यागना पड़ता है क्योंकि कुछ चीजों से गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। इसीलिए अपने डॉक्टर से पहले ही उन चीजों के बारे में पूछ लेना सही रहता है। ताकि आगे चलकर प्रेगनेंसी में कोई परेशानी ना हो।

किस तरह की एक्सरसाइज और योग प्रेगनेंसी में कर सकते है?

कुछ लोग अपनी रोजाना की रूटीन में एक्सरसाइज और योग करना पसंद करते है। अगर वो यह ना करे तो उन्हें लगता है के उनका दिन पूरा नहीं हुआ है। पर क्योंकि अब आपके गर्भ में आपका शिशु भी है तो कोई भी एक्सरसाइज और योग करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछे की कही किसी हैवी एक्सरसाइज का असर आपके शिशु पर तो नहीं पड़ेगा।

किसी गर्भवती महिला की मेडिकल हिस्ट्री का शिशु पर क्या प्रभाव होगा?

आजकल के बदलते और प्रदूषित वातावरण के कारण छोटी उम्र में ही लोगो को बहुत से बीमारियां हो जाती है जैसे की डायबिटीज, हाइपरटेंशन आदि। यदि किसी गर्भवती महिला को यह बीमारी हो तो उसे यह पूछ लेना चाहिए की इस बीमारी है गर्भ में पल रहे शिशु पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

क्या प्रेगनेंसी में न्यूट्रिशनल तत्वों के लिए कोई सप्लीमेंट्स लेना है या नहीं?

बहुत से डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान कुछ सप्लीमेंट्स लेने की सलाह देते है पर कोई भी गर्भवती महिला खुद से कोई भी सप्लीमेंट्स न लें और पहले से ही अपने डॉक्टर से इस बारे में पूछ लें।

प्रेगनेंसी के पहले तिमाही में यात्रा करें या नहीं?

गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीनो बहुत ही महत्वपूर्ण होते है। अक्सर घर के बड़े कही भी आने जाने के लिए मना करते है। पर अगर किसी भी कारण आपको कही आना या जाना है तो अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें। पहले तिमाही में यात्रा करना कितनी सुरक्षित है या नहीं।

यह बहुत थोड़े से सवाल है जो आप अपने डॉक्टर से मिलने पर उनसे पूछ सकते है। लेकिन इन सभी बातो के अतिरिक्त और कोई भी सवाल पूछना चाहते है या आपके मन में कोई शक है, चाहें वह शक या प्रश्न आपकी डिलीवरी के लिए ही क्यों ना हो तो भी अपने डॉक्टर से जरूर डिसकस करें। क्योंकि बात करने से आपकी समस्या का समाधान होगा। अपने मन में आ रहे हर शक को अपने डॉक्टर से जरूर साँझा करे, क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपको इन्ही छोटी छोटी बातो को लेकर तनाव बना रहेगा और प्रेगनेंसी में ज्यादा स्ट्रेस अच्छी बात नहीं है।