Lifestyle Blog India
Uncategorized

संतान सुख से वंचित हैं? तो यह तरीके अपनाएँ

Santan-prapti-ke-upay

माँ बाप बनना किसी भी महिला या पुरुष के लिए उसकी जिंदगी में आने वाला सबसे बड़ा बदलाव होता है। क्योंकि बच्चे के आने के बाद जिंदगी में बहुत से बदलाव आते हैं, बहुत सी जिम्मेवारियां बढ़ जाती है, अपने बारे में सोचने से पहले आप अपने बच्चे के बारे में सोचते हैं, आदि। लेकिन कई बार बहुत कोशिश करने के बाद भी कपल माँ बाप बनने के सुख से वंचित रह जाते हैं। और बच्चा न होने के कारण महिलाएं सबसे ज्यादा प्रभावित होती है क्योंकि कहीं न कहीं माँ न बनने का जिम्मेवार सबसे ज्यादा महिला को ही ठहराया जाता है। क्या आप भी इस सुख से वंचित हैं? यदि हाँ, तो लीजिये आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे बहुत से समाधान बताने जा रहे हैं जिससे आप अपनी इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। तो आइये अब विस्तार से उन उपाय के बारे में जानते हैं।

संतान सुख पाने के लिए अपनाएँ यह टोटके

पुराने समय में जब कोई कपल बच्चे को जन्म नहीं दे पाता था तो सबसे पहले लोग टोटके ट्राई करते थे और कई बार यह टोटके असरदार भी होते थे। और इनमे से ज्यादातर टोटके व्रत, पूजा पाठ आदि से जुड़े होते थे। जैसे की:

  • यदि किसी कपल को बच्चा नहीं हो रहा है तो उन दोनों दोनों को गुरूवार को पीले कपडे पहनने चाहिए और विष्णु भगवान के लिए व्रत करना चाहिए। साथ ही पीली चीजों का दान करना चाहिए और पीला भोजन ही करना चाहिए।
  • माँ बनने की इच्छा रखने वाली महिलाओं को वीरवार के दिन आटे की लोई बनाकर उसमे चने की दाल और हल्दी डालकर गौ माता को खिलाना चाहिए।
  • नीम की जड़ को अपने पास रखें इससे भी संतान सुख से वंचित महिलाओं को संतान सुख की प्राप्ति होती है।
  • आम की जड़ को दूध में मिलाकर महिला को पिलाने से गर्भाधारण के चांस बढ़ाने में मदद मिलते हैं।
  • कपल को अपने कमरे में हरे रंग की बांसुरी को छिपाकर रखना चाहिए इससे भी संतान सुख की प्राप्ति होती है। इसके अलावा और भी ऐसे बहुत से टोटके हैं। जिनसे संतान सुख की प्राप्ति होती है।
READ  प्रेगनेंसी के दौरान विटामिन डी क्यों जरुरी होता है? और कौन से फूड्स में विटामिन डी होता है

बच्चा नहीं होने पर अपनाएँ यह डॉक्टरी उपाय

आज के समय में मेडिकल ने बहुत तरक्की कर ली है जो लोग टोटको में विश्वास नहीं करते हैं वो लोग मेडिकल द्वारा दिए गए उपाय को भी ट्राई कर सकते हैं। क्योंकि इन तरीको को ट्राई करने से भी आपकी माँ बाप बनने की इच्छा पूरी हो सकती है। तो आइये अब जानते हैं की वो उपाय कौन कौन से हैं।

IVF

इस प्रक्रिया को इन विट्रो फर्टिलाइज़शन कहा जाता है। और जो बच्चे इस प्रक्रिया के द्वारा जन्म लेते हैं उसे टेस्ट ट्यूब बेबी कहा जाता है। इस प्रक्रिया में महिला के अंडाशय में से अंडे को निकालकर पर पुरुष के स्पर्म को निकाला जाता है। उसके बाद स्पर्म को इंजेक्शन में डालकर अंडे को इंजेक्ट किया जाता है। और फिर उस अंडे को महिला के गर्भाशय में स्थापित किया जाता है। उसके बाद महिला के गर्भ ठर्ने के चांस बढ़ जाते हैं।

IUI

यह भी मेडिकल द्वारा दी गई एक सुविधा है जिसे ट्राई करके महिला गर्भाधारण कर सकती है। इस प्रक्रिया में महिला के ओवुलेशन पीरियड के दौरान डॉक्टर द्वारा इंजेक्शन की मदद से स्वस्थ और सक्रिय शुक्राणुओं को को चुनकर सीधा अंडे तक पहुंचाया जाता है। जिससे महिला के गर्भाधारण के चांस बढ़ जाते हैं।

सेरोगेसी

सेरोगेसी भी एक तरीका है जिसकी मदद से दम्पति या कोई महिला और या केवल कोई पुरुष अपनी माँ बाप बनने की इच्छा को पूरा कर सकता है। इसके यदि कोई कपल बच्चा चाहता है तो महिला के अंडे और पुरुष के शुक्राणु का मेल करवाकर किसी और महिला के गर्भाशय में अथापित किया जाता है जो नौ महीने तक आपके बच्चे को अपनी कोख में पालती है। इसके अलावा यदि कोई आदमी चाहता है की वो बाप बने तो इसके लिए वो अपने शुक्राणु को किसी और महिला के अंडे के साथ लैप में मेल करवा सकता है और बाद में महिला उस आदमी के लिए उस बच्चे को जन्म देती है ऐसा ही महिलाएं भी किसी अन्य पुरुष के स्पर्म का इस्तेमाल अपनी माँ बनने की इच्छा को पूरा करने के लिए कर सकती है। लेकिन इस प्रक्रिया के लिए सबसे पहले एग्रीमेंट करवाया जाता है की इस काम के लिए महिला और पुरुष पूरी तरह तैयार है या नहीं।

READ  प्रेगनेंसी के दौरान स्ट्रेचमार्क्स से बचाव के 10 टिप्स

महिला गर्भाधारण के लिए इन बातों का ध्यान रखें

कई बार पूरी जानकारी न होने के कारण या फिर अन्य छोटे छोटे कारणों की वजह से महिला का गर्भ नहीं ठहर पाता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना जरुरी होता है आइये जानते हैं।

  • यदि बहुत कोशिश करने के बाद भी गर्भाधारण नहीं हो रहा है तो महिला और पुरुष दोनों को डॉक्टरी जांच करवानी चाहिए। ताकि जिसमे कमी के कारण यह समस्या हो रही है उस कमी को दूर करने में मदद मिल सके।
  • एक बार सम्बन्ध बनाने से महिला का गर्भाधारण नहीं होता है। ऐसे में प्रेग्नेंट होने के लिए महिला को रोजाना सम्बन्ध बनाना चाहिए और खासकर ओवुलेशन पीरियड के दौरान ऐसा जरूर करना चाहिए।
  • सम्बन्ध बनाने पर इस बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला और पुरुष दोनों ही आनंद को प्राप्त करें और सही पोजीशन का ध्यान रखें।
  • सम्बन्ध बनाते समय तनाव नहीं लें और इधर उधर की बातें नहीं करें।
  • यदि आपका बार बार गर्भपात हो रहा है तो इसके लिए डॉक्टर से मिलें साथ ही गर्भपात के बाद थोड़ा समय रुकें और उसके बाद ट्राई करें।
  • वजन नियंत्रित रखें।
  • टेंशन नहीं लें।
  • बच्चा पैदा करने से छह महीने पहले ही उसकी तैयारी शुरू कर दें।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिन्हे ट्राई करने से आपको संतान सुख की इच्छा को पूरी करने में मदद मिलती है। ऐसे में आप भी यदि इस समस्या से जूझ रहे हैं तो इन सभी उपाय में से कोई न कोई उपाय ट्राई कर सकते हैं जिससे आपकी यह इच्छा पूरी हो सकें।

READ  गर्मियों में शिशु का विकास ऐसे रुक जाता है?

Related posts

ब्रेस्ट में होने वाले इन बदलाव से जानिए की आपकी प्रेगनेंसी कितनी स्वस्थ है

Suruchi Chawla

प्रेगनेंसी में अलग अलग तरीके से पेट में दर्द होने के कारण और उपाय

Suruchi Chawla

ब्रेस्टफीड करवाने वाली महिला यह नहीं खाएं

Suruchi Chawla

Leave a Comment