Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने से क्या-क्या समस्याएं होती है?

स्ट्रेटनिंग से लेकर कर्लिंग और कलरिंग तक सभी हेयर स्टाइल में तरह-तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है जो उन में तरह-तरह की समस्याएं पैदा करते है। इसलिए इस तरह के स्टाइल्स से बालों को बचा कर रखना चाहिए। फैशन के बारे में तो सभी को अच्छे से पता होता है लेकिन इसके दुष्परिणाम शायद ही किसी को पता हो इसलिए आज हम आपको बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने के नुकसानों के बारे में बता रहे है।

0

आज के समय में शायद हो कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो खुद को डिफरेंट और अलग लुक देना नहीं चाहिए। लेकिन सभी की तुलना में लड़कियां इसमें सबसे आगे रहती है। फिर चाहे वो उनका चेहरा हो, कपडे हो या बाल। जिनमे सबसे ज्यादा एक्सपेरिमेंट्स वे अपने बालों पर ही करती है। वैसे भी आजकल बालों को स्टाइल करने और अलग-अलग लुक देने के काफी तरीके मौजूद है, जिनमे कलरिंग, स्ट्रेटनिंग, कर्लिंग, हेयर चंक्स और स्मूथिंग आदि सम्मिलित है।

लेकिन कई बार उनका ये स्टाइल उनके बालों को काफी नुकसान पहुंचा देते है। जी हां, ये तो आप सभी जानती होंगी की बालों को स्टाइल करने के लिए हीट डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है जिनसे हीट डायरेक्ट बालों के कांटेक्ट में आती है और उन्हें नुकसान पहुंचाती है। इसके अलावा इन सभी स्टाइल्स फिर चाहे वो स्ट्रेटनिंग हो या कलरिंग में तरह-तरह के केमिकल का भी इस्तेमाल किया जाता है जो बालों में तरह-तरह की समस्याएं पैदा करता है। इसलिए इस तरह के स्टाइल्स से बालों को बचा कर रखना चाहिए।बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने से क्या समस्याएं होती है

फैशन के बारे में तो सभी को अच्छे से पता होता है लेकिन इसके दुष्परिणाम शायद ही किसी को पता हो इसलिए आज हम आपको बालों को स्ट्रैट करने और कर्ल करने के नुकसानों के बारे में बता रहे है। जिसके बाद आप जान जाएंगे की हेयर स्टाइल्स वास्तव में बालों के लिए कितने नुकसानदेह होते है।

बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने से हो सकती है ये परेशानियां :-

1. एलर्जी की समस्या :

बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने के लिए जिन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है उनमे केमिकल की उच्च मात्रा होती है जिसके कारण स्कैल्प में एलर्जी हो सकती है। इसके अलावा इन केमिकल को अधिक समय तक स्कैल्प में रखने से खुजली और रेडनेस की शिकायत भी आ सकती है। इसलिए हेयर स्टाइल करवाते समय यूज होने वाले ब्रांड्स के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए।

2. बालों को असमय कमजोर होना :hair blower for drying hair

बढती उम्र के साथ बालों का कमजोर होना तय है। लेकिन अगर आप नियमित रूप से बालों में तरह-तरह के हेयर स्टाइल्स करवाती रहती है तो आपके बाल काफी कमजोर हो जाएंगे। जिससे वे टूटने लगेंगे। इसके अलावा इन स्टाइल्स में केमिकल का भी इस्तेमाल किया जाता है जो बालों को काफी कमजोर बनाते है।

3. हीट डिवाइस के कारण बालों का टूटना :

नये तरीकों से बालों को स्टाइल करने के लिए हीट डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है। जिनमे आर्टिफीसियल हीट बालों के सीधे सम्पर्क में आती है। जिससे बालों की नमी छीन जाती है और वो कमजोर होकर टूटने लगते है।

4. कुछ समय बाद बेजान बाल :

हेयर स्टाइल चाहे कर्लिंग का हो या स्ट्रेटनिंग का वह केवल कुछ ही दिनों तक टिकता है। जिसमे पुरे टाइम खास देखभाल की आवश्यकता होती है। बालों को स्ट्रैट या कर्ल करवाकर आप कुछ घंटों के लिए तो अपने बालों को खुबसूरत दिखा सकती है लेकिन आगे चलकर यही बाल बेजान और खराब दिखने लगेंगे। ऐसे में इनका इस्तेमाल न करना ही बेहतर होगा।

5. दो मुहें बालों की समस्या :

बालों में हीट डिवाइस और केमिकल युक्त पदार्थों का अधिक इस्तेमाल करने से दो मुहें बालों की समस्या होने लगती है। जिससे बालों की खुबसूरती तो प्रभावित होती ही है साथ-साथ उनकी ग्रोथ पर भी असर पड़ता है।

6. कुछ समय की चमक :

बालों को स्टाइल करवाकर कुछ समय समय के लिए तो उन में चमक लाइ जा सकती है। लेकिन आने वाले समय में यह चमक फीकी पड़ जाती है। क्योंकि स्टाइल किये गए बालों की खास केयर करनी पड़ती है। जिसके लिए महंगे शैम्पू, कंडीशनर और सीरम आदि का इस्तेमाल किया जाता है। और अगर आप इनके इस्तेमाल में जरा भी लापरवाही बरतते है तो बालों की प्राकृतिक चमक भी खो जाती है। जिससे वे रूखे और बेजान होकर झड़ने लगते है।

7. एक ही लुक कर देता है बोर :

बालों को लंबे समय तक सिर्फ स्ट्रैट या कर्ल रख पाना मुश्किल होता है। क्योंकि आजकल के समय में हर कोई अलग-अलग लुक पाना चाहता है। ऐसे में लंबे समय तक एक ही हेयर स्टाइल से बोर होना तय है। और अगर आप इन्हें बदलना चाहेंगी तो उसके लिए आपको काफी पैसे भी खर्च पड़ सकते है। इसलिए बेहतर होगा की किसी भी स्टाइल को करवाने से पहले जान ले की यह कितने समय तक बरकरार रहेगा।


बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने से क्या समस्याएं होती है, बालों को स्टाइल करने के नुकसान, बालों को स्ट्रैट या कर्ल करने से होने वाली परेशानियाँ, कर्लिंग स्ट्रेटनिंग से होने वाले साइड-इफ़ेक्ट, हेयर स्ट्रेटनर के इस्तेमाल के नुकसान, बालों को स्टाइल करने से होने वाली समस्याएं, बालों को स्ट्रैट या कर्ल करवाने के साइड इफेक्ट्स, बालों को स्ट्रैट करने से नुकसान, बालों में हीट डिवाइस का इस्तेमाल करने के नुकसान, हेयर ड्रायर के नुकसान

Leave a comment