Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

चिंता दूर करने के तरीके

0

How To Reduce Stress?

चिंता दूर करने के तरीके, How to Reduce Stress, Stress Management tips,Mind se stress dur karne ke upay, Stress dur karne ke tarike, Chinta ke karan aur upay

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में बच्चा हो या बूढ़ा सभी किसी न किसी परेशानी से ग्रसित दिखाई पड़ते है। जहां एक तरफ छोटे बच्चों की आंखे कमजोर होने लगी है वहीं दूसरी तरफ बड़े-बूढ़े मधुमेह, थाइराइड और हाई बीपी जैसी परेशानियों को झेल रहे है। परन्तु इसके अलावा भी एक समस्या है जो वर्तमान में हर व्यक्ति के दिनचर्या का अहम हिस्सा बनती जा रही है। और वो है चिंता।

आज के समय में हर व्यक्ति अपने कार्यों में इतना व्यस्त है की उसे ठीक से खाना खाने तक की भी फुर्सत नहीं है जिसके चलते दिमाग और शरीर को आराम नहीं मिल रहा। और परिणामस्वरूप दिनों दिन लोग चिंता जैसी खतरनाक समस्या से ग्रसित होते जा रहे है। किसी को पैसे कमाने की चिंता है, तो किसी को बच्चों की शादी करने की, किसी को घर बनाने की टेंशन है तो किसी को बच्चों को अच्छे स्कूल में पढ़ाने के लिए लगने वाली फ़ीस की। और न जाने ऐसी कितनी ही समस्याएं है जिन्हे आज कल के युवा अपने दिमाग में लिए चलते रहते है।

Read more : सिर दर्द के घरेलू उपाय

जबकि इस बात को सभी भली भांति जानते है की “चिंता चिता के समान होती है”। परन्तु फिर भी कोई व्यक्ति खुद को आराम देने की बात नहीं करता। सबको भागने की जल्दी लगी रहती है। चिंता लेना तो आसान है लेकिन उसे दूर करना काफी मुश्किल। कुछ लोग इससे छुटकारा पाने के लिए दवाओं का सेवन करना शुरू कर देते है जबकि कुछ लोगों से मिलना जुलना कम कर देते है। ऐसे में उनकी समस्या घटती नहीं बल्कि और बढ़ती है।चिंता दूर करने के तरीके

लेकिन कुछ तरीके है जिनकी मदद से आप अपनी इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर सकते है। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है बस अपनी कुछ आदतों को बदलना होगा और चिंता लेने की आदत को छोड़ना होगा। क्योंकि अगर आप लगातार स्ट्रेस लेते रहेंगे तो हो सकता है आपका दिमाग किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो जाए। ऐसे में इन उपायों का प्रयोग करना ही उचित उपाय है।

चिंता दूर करने के उपाय :-

1. गहरी साँस लें :

सामान्य व्यक्ति के लिए इस बात का पता लगाना काफी मुश्किल है, परन्तु स्ट्रेस की स्थिति में आपकी हार्ट बीट काफी बढ़ जाती है। व्यक्ति की साँस ऊपर नीचे होने लगती है। इसलिए जब कभी भी आपको टेंशन या चिंता हो तो अपनी श्वसन प्रक्रिया को संतुलित करके नियंत्रित करें। जिसके लिए कई बार लंबी सांस लें और छोड़ें। इससे आपकी हार्ट बीट सामान्य हो जाएगी। और आप चिंता मुक्त हो जाएंगे।

2. कुछ लिखे :

बहुत से लोगों की चिंता का कारण उनके अंदर छुपी कोई बात या गहरा राज होता है। जिसे वे औरो के साथ शेयर नहीं कर पाते या बता नहीं पाते। ऐसे में आप कागज पर कुछ लिख कर अपनी समस्या का हल निकाल सकते है। इसके लिए प्रतीक्षा न करें संभव हो तो तुरंत अप्लाई करे।

3. खुली हवा :stress management

जब लोग बहुत टेंशन में आ जाते है तो उनका दिमाग घुटन महसूस करने लगता है ऐसे में अपने दिमाग को रेस्ट देने का एकमात्र उपाय है खुली हवा। तो जब भी आपको बहुत ज्यादा टेंशन हो तो घर या ऑफिस से बाहर निकलकर कुछ देर के लिए बाहर खुली हवा में जाएँ। इससे दिमाग को शांति तो मिलेगी ही साथ-साथ सर दर्द में भी आराम मिलेगा जिससे चिंता अपने आप दूर हो जाएगी।

4. वातावरण :

कई बार अपने आस पास मौजूद नकारात्मक विचारों वाले लोगों के कारण भी व्यक्ति को अनायास ही तनाव हो जाता है। इस तरह के लोग हर समय दूसरों को नुकसान पहुँचाने के विषय में सोचते रहते है। ऐसे में अगर आप उनके साथ कुछ और समय बितयांएगे तो समस्या बढ़ सकती है। बेहतर यही होगा की आप उन लोगों का साथ छोड़ दे और अपनी जगह बदलें। इससे थोड़ा वातावरण चेंज होगा और आपके दिमाग में सकारात्मक विचारों का वास होगा।

5. चिंता बांटें :

अक्सर लोग किसी समस्या से अकेले लड़ते लड़ते थक जाते है जिसके चलते वे स्ट्रेस लेने लगते है। ऐसे में अगर आपको लगता है की कोई है जिसके साथ आप अपनी समस्या बाँट सकते है या शेयर कर सकते है तो इसमें कोई बुराई नहीं है। अगर आपके सामनेवाला आपकी परेशानी को समझ सकता है तो एक बार अपनी परेशानी उससे शेयर जरूर करें। क्या पता आपका स्ट्रेस खत्म हो जाए।

6. खुद पर ध्यान दे :

चिंता होने की वजह से लोग अक्सर अपना ध्यान रखना भूल जाते है। जिसके कारण आपकी लाइफस्टाइल बिगड़ने लगती है। और समस्याएं कम होने की बजाय और अधिक बढ़ने लगती है। ऐसे में अपनी केयर करना ही बेहतर रहेगा। अच्छी तरह से खाना, सही नींद लेना, आपको अन्य समस्यायों से बचाने में मदद करेगा। अर्थात स्ट्रेस होने पर अपने प्रति केयरलेस न हो।

7. रूटीन में ब्रेक :

कई बार लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी या लाइफस्टाइल चिंता का कारण बन जाती है। ऐसे में खुद को थोड़ा ब्रेक देना आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है। साथ ही अपनी लाइफस्टाइल को भी थोड़ा चेंज कर लें। बस इस बात का ध्यान रखे की इस ब्रेक से आपके जरुरी कामों पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़े।

8. मनपसंद कार्य :

शायद आपको नहीं पता लेकिन आपकी हॉबी आपको इस समस्या से उबारने में आपकी मदद कर सकती है। किताबे पढ़ना, खेलना कूदना, गाने सुनना, साइकिलिंग करना कुछ ऐसी आदतें है तो आपको चिंता से मुक्ति दिलाने में मदद कर सकती है। अगर नहीं तो आप अपने घर वालों से बात करके भी अपने माइंड को फ्रेश कर सकते है।

तो ये थे कुछ तरीके जिनकी मदद से आप अपनी चिंता यानी स्ट्रेस को कुछ ही समय में दूर कर सकते है। बस ध्यान इस बात का रखे की इन सभी उपायों से आपकी इम्पोर्टेन्ट लाइफ या लाइफ से जुड़ा कोई जरुरी काम प्रभावित न होने पाए।

Leave a comment