What In India

Trending Now

प्रेगनेंसी के दौरान शकरकंदी खाने के फायदे?

0

गर्भावस्था के दौरान महिला को पर्याप्त पोषण की जरुरत होती है और यदि महिला पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेती है। तो इससे गर्भवती महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होती है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु के विकास के लिए जरुरी पोषक तत्व भी शिशु को मिलते हैं। साथ ही इस दौरान खान पान में की गई थोड़ी सी लापरवाही माँ के साथ बच्चे की सेहत पर भी बुरा असर डाल सकती है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान खान पान को लेकर गर्भवती महिला थोड़ी परेशान रहती है। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम प्रेगनेंसी में शकरकंदी के सेवन के बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी में शकरकंदी का सेवन करना चाहिए या नहीं?

विटामिन सी, आयरन, फोलेट, कैल्शियम, स्वस्थ फैट जैसे कई पोषक तत्व शकरकंदी में भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। और यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिला के साथ गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास के लिए भी बहुत जरुरी होते हैं। इसके अलावा यह पोषक तत्व प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली बहुत सी परेशानियों को भी कम करने में मदद करते हैं। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान सिमित मात्रा में शकरकंदी का सेवन करने से गर्भवती महिला को किसी तरह का नुकसान भी नहीं होता है। इसीलिए यदि आप प्रेग्नेंट हैं और आपका शकरकंदी खाने का मन है तो आप भी शकरकंदी का सेवन कर सकती है।

गर्भावस्था में शकरकंदी खाने से कौन से फायदे मिलते हैं?

गर्भवती महिला यदि शकरकंदी का सेवन करती है तो इससे महिला को एक नहीं बल्कि कई फायदे मिलते हैं साथ ही शकरकंदी का सेवन करने से गर्भ में पल रहे शिशु को भी फायदा मिलता है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी में शकरकंदी का सेवन करने से कौन से फायदे मिलते हैं।

फोलेट

शकरकंदी में फोलेट प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। ऐसे में यदि गर्भवती महिला शकरकंदी का सेवन करती है तो इससे महिला के शरीर में फोलेट भरपूर रहता है। जिससे शिशु तक फोलेट पर्याप्त मात्रा में पहुँचता है और शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास में मदद मिलने के साथ शिशु को जन्म दोष की समस्या से सुरक्षित रहने में भी मदद मिलती है।

आयरन

शकरकंदी में आयरन भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो प्रेगनेंसी के दौरान महिला को खून की कमी व् खून की कमी के कारण होने वाली परेशानियों से बचाएं रखने में मदद करता है।

कैल्शियम

कैल्शियम से भरपूर शकरकंदी का सेवन करने से गर्भवती महिला की हड्डियों को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है इसके अलावा गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों और दांतों के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है।

विटामिन ए

शकरकंदी विटामिन ए का बेहतरीन स्त्रोत होती है जो गर्भवती महिला की आँखों को सुरक्षित रखने के साथ शिशु के आँखों के बेहतर विकास में भी मदद करती है। इसके अलावा शिशु के बेहतर विकास के लिए भी विटामिन ए फायदेमंद होता है।

मेटाबोलिज्म होता है बेहतर

प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर महिलाएं पेट सम्बन्धी परेशानियों का सामना करती है। ऐसे में इस समस्या से निजता पाने के लिए गर्भवती महिला शकरकंदी का सेवन कर सकती है। क्योंकि शकरकंदी में मौजूद विटामिन ए गर्भवती महिला के मेटाबोलिज्म को बेहतर रखने में मदद करता है।

प्रेग्नेंट महिला शकरकंदी का सेवन करते समय यह सावधानियां बरतें

  • शकरकंदी का सेवन करने से पहले उसे अच्छे से धोएं उसके बाद उबालें।
  • ताज़ी व् बिना गली सड़ी शकरकंदी का सेवन करें।
  • जरुरत से ज्यादा शकरकंदी का सेवन नहीं करें।
  • उबालने के बाद शकरकंदी को काटने से पहले चेक कर लें उसके से स्मेल तो नहीं आ रही है क्योंकि यह उसके खराब होने की निशानी होती है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे बच्चे को शकरकंदी का सेवन करने से मिलते है। ऐसे में यदि आप भी माँ बनने वाली है तो आप भी स्नैक्स के रूप में शकरकंदी की चाट बनाकर खा सकती है।

Leave a comment