प्रेगनेंसी के दौरान इन बदलावों को देखकर जानिए की शिशु जन्म लेने के लिए तैयार है?

0

गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में बहुत से बदलाव होते हैं। जैसे की वजन बढ़ना, ब्रेस्ट साइज में बदलाव आना, स्किन पर दाग धब्बे मुहांसे होना, आदि। और इन बदलावों का प्रेगनेंसी के दौरान होना बहुत ही आम बात होती है। ऐसे ही जैसे जैसे महिला की डिलीवरी का समय पास आता है तो भी महिला शरीर में बहुत से बदलाव का अनुभव करती है।

जिन्हे महसूस करके महिला को यह पता चलता है की महिला की डिलीवरी अब होने वाली है और उनका नन्हा मेहमान इस दुनिया में आने वाला है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान कौन से बदलाव को शरीर में देखकर यह पता चलता है की शिशु जन्म लेने के लिए तैयार है उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

पेल्विक एरिया पर दबाव महसूस होना

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला को ऐसा महसूस होता है की पेट के निचले हिस्से पर अधिक जोर पड़ रहा है। तो इसका मतलब यह होता है की गर्भ में शिशु अपने जन्म लेने की सही पोजीशन में आ चूका है। यानी की शिशु का सिर नीचे की तरफ और पैर ऊपर की तरफ हो गए हैं। और अब लेबर पेन किसी भी समय शुरू हो सकता है।

पानी की थैली फटना

यदि प्रेग्नेंट महिला के प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद पानी अधिक निकलने लगे तो इसका मतलब होता है की पानी की थैली फट चुकी है। और अब शिशु कभी भी जन्म ले सकता है। और इस लक्षण के महसूस होते ही महिला को बिना देरी किये तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

READ  प्रेगनेंसी में नमक से रुक सकता है शिशु का विकास जानिए कैसे?

खून के धब्बे

गर्भवती महिला को यदि खून के धब्बे चिपचिपे पदार्थ के साथ दिखाई दें तो इसका मतलब भी यह होता है की बच्चेदानी की ऊपर की झिल्ली खुल गई है और बच्चेदानी का मुँह भी खुल रहा है। और अब महिला का प्रसव किसी भी समय हो सकता है।

पेट या पीठ में दर्द

गर्भवती महिला को पेट में या पीठ में यदि तेज दर्द महसूस होता है तो इसका मतलब यह होता है की बच्चा जन्म लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है। ऐसे में महिला को दर्द महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए। साथ ही पेट में होने वाला दर्द महिला को रुक रुक कर महसूस हो सकता है पहले यह दर्द धीरे धीरे और फिर ज्यादा बढ़ने लगता है।

मूवमेंट में कमी

यदि गर्भ में पल रहा शिशु डिलीवरी का समय नजदीक आने पर आपको शिशु की हलचल में कमी महसूस होती है तो यह लक्षण भी इस बात की और इशारा करता है की अब बच्चा जन्म लेने के लिए तैयार है।

यूरिन की समस्या बढ़ जाना

गर्भवती महिला को यदि जल्दी जल्दी यूरिन पास करने की इच्छा होती है तो इसका मतलब यह होता है की शिशु का भार नीचे की तरफ ज्यादा बढ़ रहा है। और अब शिशु के जन्म लेने का समय नजदीक आ गया है।

पेट व् सीने में हल्कापन महसूस होना

यदि गर्भवती महिला को पेट व् सीने में हल्कापन महसूस हो तो यह लक्षण भी शिशु जन्म लेने के लिए तैयार है इस बात की और इशारा करता है। क्योंकि इस दौरान शिशु का भार नीचे की तरफ बढ़ जाता है जिसकी वजह से महिला को पेट व् सीने में हल्कापन महसूस होता है।

READ  प्रेगनेंसी में गिलोय के नुकसान

दस्त

यदि गर्भवती महिला को दस्त की समस्या हो जाती है तो ऐसा होना भी इस बात की और इशारा करता है की शिशु जन्म लेने लिए तैयार है। और इस दौरान महिला का मल बहुत पतला आता है।

भावनाओं में बदलाव

बच्चे जन्म लेने के लिए तैयार है तो इसके शारीरिक बदलाव तो महिला को शरीर में महसूस तो होते ही हैं साथ ही महिला की भावनाओं में उतार चढ़ाव भी महसूस हो सकते हैं। जैसे की महिला महसूस होने लगता है की बच्चा आने वाला है तो महिला उसकी तैयारी में जुट जाती है।

तो यह हैं कुछ लक्षण जो यदि गर्भवती महिला को महसूस हो तो यह सभी लक्षण इस बात की और इशारा करते हैं। की बच्चा जन्म लेने के लिए तैयार है। साथ ही यदि डिलीवरी डेट निकल जाने के बाद भी महिला को शरीर में कोई लक्षण महसूस नहीं होता है। तो महिला को इसे अनदेखा न करते हुए तुरंत डॉक्टर के पास चले जाना चाहिए। क्योंकि डिलीवरी डेट निकलने के बाद गर्भ में शिशु का ज्यादा समय तक रहना शिशु के लिए खतरनाक हो सकता है।

These changes during pregnancy tells us that the baby is ready to take birth

Leave A Reply

Your email address will not be published.