Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी टेस्ट के बाद इन 10 बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए?

0

आज कल महिला प्रेग्नेंट हैं या नहीं इसके बारे में जानकारी पाना कोई मुश्किल नहीं है। क्योंकि महिलाएं अब घर पर मेडिकल स्टोर से प्रेगनेंसी टेस्ट किट लाकर आसानी से प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकती है। और प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल कैसे करना है उसके बारे में प्रेगनेंसी टेस्ट किट के कवर पर लिखा होता है। लेकिन प्रेगनेंसी टेस्ट किट के इस्तेमाल के बाद महिला को क्या क्या करना चाहिए इसके बारे में महिला को जरूर पता होना चाहिए।

जैसे की यदि महिला के पीरियड्स ज्यादा लेट हो गए हैं और प्रेगनेंसी टेस्ट किट में रिपोर्ट नेगेटिव आई है तो महिला को डॉक्टर से मिलना चाहिए की आखिर पीरियड्स नहीं आने का क्या कारण है। इसके अलावा यदि महिला ने घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट किया है और रिपोर्ट पॉजिटिव है तो महिला को क्या क्या करना चाहिए। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम आपको उन 10 बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका खास ध्यान महिला को प्रेगनेंसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर रखना चाहिए।

सबसे पहले डॉक्टर का चुनाव करें

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने पर यदि महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उसके बाद सबसे पहले महिला को सबसे पहले एक सही डॉक्टर का चुनाव करना चाहिए। और डॉक्टर का चुनाव करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे की डॉक्टर का रिकॉर्ड पता करना चाहिए, डॉक्टर डिलीवरी भी करती है या नहीं करती है, घर के कितनी पास आपकी डॉक्टर है, डॉक्टर अच्छे से मरीज़ों को समय देती है या नहीं, जरुरत पड़ने पर डॉक्टर आपसे फ़ोन पर बात कर सकती है या नहीं, आदि।

प्रेगनेंसी की जानकारी जुटाना शुरू करें

गर्भावस्था कन्फर्म होने के बाद से ही महिला को प्रेगनेंसी व् प्रसव से जुडी जानकारी इक्कठा करनी शुरू कर देनी चाहिए। जैसे की प्रेगनेंसी के दौरान क्या करें क्या नहीं करें, क्या सही है क्या नहीं है, आदि। क्योंकि जितना ज्यादा महिला के पास जानकारी होती है उतना ही प्रेगनेंसी को आसान बनाने में मदद मिलती है।

एक दम से सभी को न बताएं की आप प्रेग्नेंट हैं

गर्भावस्था कन्फर्म होने के बाद एक दम से सभी को नहीं बताएं की आप प्रेग्नेंट हैं। हाँ जो आपके घर में रहते हैं आप उन्हें बता सकते हैं। लेकिन अन्य सभी लोगो को तीन महीने पूरे होने के बाद ही बताएं क्योंकि शुरूआती समय बहुत ही नाजुक होता है ऐसे में जितना छुपाकर रखा जाएँ उतना सही होता है। क्योंकि जितने ज्यादा लोगो को पता चलता है उतने ज्यादा लोग आपसे मिलने आते हैं, उतना ज्यादा आपको राय देते हैं जिससे शुरुआत से ही आपको रेस्ट नहीं मिल पाता है और आपको दिक्कत हो सकती है। ऐसे में जितना हो सके महिला शुरुआत में आराम करें और तीन महीने पूरे होने के बाद आप अपनी यह ख़ुशी सबके साथ शेयर करें।

सावधानी बरतें

प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद शुरूआती तीन महीने महिला के लिए बेहद अहम होते हैं ऐसे में जितना हो सके महिला को अपना अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। और किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करनी चाहिए जैसे की ज्यादा उछल कूद भागदौड़ नहीं करनी चाहिए, भारी सामान नहीं उठाना चाहिए, बिना डॉक्टरी सलाह के किसी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए, आदि। क्योंकि इसके कारण महिला को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

बिल्कुल भी टेंशन नहीं लें

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को किसी भी तरह की टेंशन नहीं लेनी चाहिए क्योंकि टेंशन लेने से महिला की किसी समस्या का समाधान नहीं होगा बल्कि महिला की दिक्कत बढ़ सकती है। साथ ही इस दौरान महिला जितना खुश रहती है उतना ही महिला की दिक्कतों को कम करने में मदद मिलती है।

डॉक्टर ने जो -जो टेस्ट बताएं हैं उन्हें करवाएं

गर्भावस्था के दौरान महिला को उन सभी टेस्ट को समय से करवा लेने चाहिए जो महिला को डॉक्टर द्वारा बताये गए हैं। इसके अलावा डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाइयों का सेवन भी महिला को शुरू कर देना चाहिए।

प्रेगनेंसी के दौरान जिन जिन चीजों की जरुरत आपको पड़ सकती है उन्हें घर ले आएं

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत सी चीजों की जरुरत पड़ सकती है जैसे की आरामदायक चप्पल, थोड़े ढीले कपडे, आरामदायक गद्दा, आदि। ऐसे में महिला को जिन जिन चीजों की जरुरत पड़ सकती है महिला को उन सभी चीजों को प्रेगनेंसी के दौरान घर ले आना चाहिए ताकि महिला को प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह की दिक्कत नहीं हो।

अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करना शुरू करें

गर्भावस्था के दौरान महिला को अपने लाइफस्टाइल, दिनचर्या में बदलाव की जरुरत होती है। क्योंकि इस दौरान महिला को हेल्दी लाइफस्टाइल और समय पर हर काम करने की जरुरत होती है। ऐसा करने से महिला को प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ रहने और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है। इसीलिए महिला के लिए जरुरी होता है की प्रेगनेंसी के दौरान अपने लाइफस्टाइल और दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करे।

ज्यादा ख़ुशी के चक्कर में लापरवाही नहीं करें

माँ बनना महिला के लिए उसकी जिंदगी का सबसे बेहतरीन अहसास होता है साथ ही यह समय महिला के लिए बहुत नाजुक भी होता है। ऐसे में महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की महिला ज्यादा ख़ुशी के चक्कर में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करें।

कोई भी दिक्कत होने पर या कुछ समझ नहीं आने पर डॉक्टर से बात करें

प्रेगनेंसी की शुरुआत में महिला को यदि कुछ भी समझने में दिक्कत हो, कुछ भी ऐसा लक्षण महसूस हो जिससे महिला को दिक्कत को तो ऐसे में महिला को बिना किसी झिझक के अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। क्योंकि जो महिलाएं पहली बार माँ बन रही होती है उन्हें प्रेगनेंसी को समझने में मुश्किल हो सकती है। ऐसे में महिलाएं घबराएं नहीं बल्कि हर लक्षण को समझने की कोशिश करें इससे महिला की प्रेगनेंसी को आसान बनाने में मदद मिलती है।

तो यह हैं वो दस बातें जिनका ध्यान महिला को प्रेगनेंसी टेस्ट करने के बाद रखना चाहिए। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने अनुभव को खुलकर एन्जॉय करना चाहिए क्योंकि प्रेगनेंसी कोई बीमारी नहीं है। साथ ही महिला को सभी की बातें सुनकर स्ट्रेस नहीं लेना चाहिए और गर्भावस्था के दौरान अपना थोड़ा ज्यादा ध्यान रखना चाहिए।

Tips to remember after pregnancy test

Leave a comment