Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी में हल्दी दूध पीना सेफ होता है या नहीं?

0

प्रेग्नेंट होते ही महिला खाने पीने की चीजों को लेकर बहुत विचार विमर्श करती रहती है की महिला क्या खाये जिससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ और बच्चे को फायदा मिलें। इसीलिए गर्भावस्था के दौरान खान पान का सबसे अधिक महत्व होता है। साथ ही घर के सदस्यों के साथ गर्भवती महिला को जानने वाले सभी लोग महिला को इस बात के लिए राय भी देते हैं की प्रेगनेंसी में महिला को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। आज इस आर्टिकल में हम प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी दूध का सेवन गर्भवती महिला को करना चाहिए या नहीं इस बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी दूध का सेवन करना चाहिए या नहीं?

हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर होती है और दूध भी पोषक तत्वों से भरपूर होता है। ऐसे में दूध और हल्दी को जब साथ मिला देते हैं तो इसका फायदा भी दुगुना हो जाता है। लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी दूध पीना चाहिए या नहीं इसके बारे में जानना महिला के लिए बहुत जरुरी होता है। तो इसका जवाब है की गर्भवती महिला सिमित मात्रा में हल्दी दूध का सेवन कर सकती है। क्योंकि इसका सेवन करना माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

लेकिन जरुरत से ज्यादा हल्दी दूध का सेवन भी प्रेग्नेंट महिला को नहीं करना चाहिए क्योंकि जरुरत से ज्यादा कोई भी चीज भ्रूण के विकास पर उल्टा प्रभाव भी डाल सकती है। ऐसे में दिन में एक बार एक गिलास दूध में दो चुटकी भर हल्दी या कच्ची हल्दी को आधा चम्मच पीसकर डालकर महिला सेवन कर सकती है।

हल्दी दूध में मौजूद पोषक तत्व

एंटी ऑक्सीडेंट गुण, एंटी इंफ्लामेटरी गुण, कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, फाइबर व् अन्य पोषक तत्वों की हल्दी दूध में मात्रा भरपूर होती है। और यह सभी पोषक तत्व आपको तंदरुस्त रखने व् बिमारियों से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं।

प्रेगनेंसी में हल्दी दूध पीने के फायदे

गर्भवती महिला यदि हल्दी दूध का सेवन करती है तो इससे प्रेग्नेंट महिला व् होने वाले बच्चे को बहुत से फायदे मिलते हैं आइये अब उन फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

इम्युनिटी होती है बूस्ट

हल्दी वाले दूध में एंटी ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। और यह एंटी ऑक्सीडेंट्स गर्भवती महिला के इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करते हैं। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ व् बच्चे को बिमारियों से बचे रहने में मदद मिलती है।

दर्द व् सूजन से राहत

अधिकतर गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान सूजन व् दर्द की समस्या से परेशान रहती हैं। लेकिन हल्दी वाले दूध का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। क्योंकि हल्दी वाले दूध में एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होते हैं।

पेट की समस्या से निजात

बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव की वजह से और वजन बढ़ने के कारण गर्भवती महिला की पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला हल्दी दूध का सेवन करती है तो ऐसा करने से महिला के पाचन तंत्र को दुरुस्त रहने और पेट सम्बन्धी परेशानियों से निजात पाने में मदद मिलती है। क्योंकि हल्दी वाले दूध में फाइबर प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है।

अनिंद्रा की समस्या होती है दूर

बहुत सी गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान स्ट्रेस, नींद न आने की समस्या, शरीर में ऊर्जा में कमी आदि की समस्या हो जाती है। उन गर्भवती महिलाओं के लिए हल्दी दूध का सेवन बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि हल्दी दूध का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला को इन सभी परेशानियों से निजात पाने में मदद मिलती है।

इन्फेक्शन से बचाव

हल्दी दूध का सेवन करने से गर्भवती महिला को सर्दी, जुखाम, गले में खराश आदि परेशानियों से बचे रहने में भी मदद मिलती है। क्योंकि हल्दी दूध में एंटी इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होती है। ऐसे में मौसम के बदलाव होने पर प्रेग्नेंट महिला को हल्दी दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि हल्दी दूध मौसम का बदलाव होने पर होने वाली परेशानियों से प्रेग्नेंट महिला को बचे रहने में मदद करता है।

बच्चे का होता है बेहतर विकास

हल्दी वाले दूध में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन आदि सभी पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं और यह सभी पोषक तत्व गर्भ में पल रहे बच्चे के बेहतर विकास में मदद करते हैं।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी दूध का सेवन करने से जुड़े टिप्स और फायदे, तो यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आप भी प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी दूध का सेवन कर सकती है। ताकि आपको और आपके होने वाले शिशु को हल्दी दूध के यह सभी फायदे मिलें और आपकी प्रेगनेंसी में किसी तरह की दिक्कत नहीं हो।

Is it safe to drink turmeric milk in pregnancy?

Leave a comment