Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी में अल्ट्रासॉउन्ड कब-कब होता है?

0

पुराने समय में गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के बारे में जानना थोड़ा मुश्किल होता था क्योंकि उस समय कोई तकनीक नहीं थी। लेकिन आजकल आप गर्भ में पल रहे शिशु के समुचित विकास के बारे में आसानी से जान सकते हैं। अब आप सोच रहे होंगे की ऐसा कैसे हो सकता है।

तो इसका जवाब है की आजकल प्रेगनेंसी के दौरान अल्ट्रासाउंड किया जाता है जिसमे शिशु के विकास की पूरी जानकारी आसानी मिल जाती है। तो आइये अब इस आर्टिकल में हम प्रेगनेंसी के दौरान अल्ट्रासॉउन्ड कब करवाना चाहिए, कितनी बार करवाना चाहिए, अल्ट्रासॉउन्ड करवाने से शिशु पर तो कोई असर नहीं पड़ता है उसके बारे में बात करने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी में अल्ट्रासॉउन्ड क्यों किया जाता है?

गर्भावस्था के दौरान गर्भ में पल रहे शिशु की दिल की धड़कन आई है या नहीं, शिशु के अंग अच्छे से विकसित हुए हैं या नहीं, शिशु को कोई समस्या तो नहीं है, आदि की जानकारी के लिए अल्ट्रासॉउन्ड किया जाता है। और अल्ट्रासॉउन्ड के माध्यम से गर्भ में शिशु क्या कर रहा है इसे भी स्क्रीन पर देखकर प्रेग्नेंट महिला अपने शिशु के बारे में जान सकती है।

गर्भावस्था में अल्ट्रासॉउन्ड करवाना सेफ होता है या नहीं?

जी हाँ, प्रेगनेंसी के दौरान अल्ट्रासॉउन्ड करवाना बिल्कुल सेफ होता है। इससे माँ और बच्चे दोनों की सेहत पर कोई भी बुरा असर नहीं पड़ता है। लेकिन जितनी बार डॉक्टर आपसे कहें उतनी बार ही आपको अल्ट्रासॉउन्ड करवाना चाहिए। इसके अलावा प्रेगनेंसी के पहले अठारह महीनों में बार बार अल्ट्रासॉउन्ड नहीं करवाना चाहिए क्योंकि इससे गर्भ में शिशु पर थोड़ा सा नकारात्मक असर पड़ सकता है।

प्रेगनेंसी में कितनी बार अल्ट्रासॉउन्ड करवाना चाहिए?

प्रेग्नेंट महिला को कब अल्ट्रासॉउन्ड करवाना है इसके बारे में आप जब डॉक्टर के पास जाते हैं तो बताया जाता है। वैसे प्रेगनेंसी का पहला अल्ट्रासॉउन्ड प्रेगनेंसी के छठे से नौवें हफ्ते में करवाया जाता है। और प्रेगनेंसी का दूसरा अल्ट्रासॉउन्ड प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही की शुरुआत या आखिर में करवाया जाता है। इसके अलावा यदि आपको डॉक्टर तीसरी तिमाही में अल्ट्रासॉउन्ड करवाने को कहें तो आप करवा सकते हैं।

क्या प्रेगनेंसी में महिला ज्यादा अल्ट्रासॉउन्ड करवा सकती है?

कुछ केस में जब शिशु के साथ दिक्कत होती है या कोई और परेशानी होती है तो डॉक्टर आपको एक दो बार एक्स्ट्रा अल्ट्रासॉउन्ड करवाने के लिए बोल सकते हैं। ऐसे में यदि आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार अल्ट्रासॉउन्ड करवाते हैं तो वह बिल्कुल सेफ होता है।

क्या अल्ट्रासॉउन्ड का कोई नुकसान होता है?

जी नहीं, डॉक्टर्स के अनुसार अल्ट्रासॉउन्ड गर्भवती महिला और शिशु के लिए बिल्कुल सेफ होता है। लेकिन ध्यान रखें की आप उतने ही अल्ट्रासॉउन्ड करवाएं जितने की आपको डॉक्टर कहें।

तो यह है प्रेगनेंसी के दौरान अल्ट्रासॉउन्ड करवाने से जुड़े टिप्स व् अन्य जानकारी, यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी यह जानकारी होनी चाहिए ताकि किसी भी तरह की लापरवाही या गलती से प्रेगनेंसी के दौरान सेफ रहा जा सकें।

Ultrasound during Pregnancy

Leave a comment