What In India

Trending Now

प्रेग्नेंट महिला के लिए 5 चेतावनियां

0

प्रेगनेंसी के दौरान महिला कैसा महसूस करती है वह केवल एक महिला ही बयान कर सकती है। क्योंकि इस दौरान महिला एक नहीं बल्कि कई इमोशंस के साथ जुडी होती है। इस समय जहां महिला को बच्चे के गर्भ में आने की ख़ुशी होती है वहीँ शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण हो रही दिक्कत की वजह से महिला को परेशानी भी होती है। लेकिन इन सब के होने के बाद भी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान अपना अच्छे से ख्याल रखना चाहिए।

और बॉडी में महसूस होने वाले किसी भी असहज लक्षण को अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि इस दौरान बरती गई थोड़ी सी लापरवाही का महिला व् बच्चे पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है। और यह लक्षण महिला के लिए चेतावनी होते हैं। तो आज इस आर्टिकल में हम ऐसी 5 चेतावनियां बताने जा रहे हैं जिन्हे महिला को बिल्कुल भी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

ब्लीडिंग

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला को प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग हो, चाहे थोड़ी हो या ज्यादा हो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में यदि थोड़ी ज्यादा ब्लीडिंग हो जाये तो यह गर्भपात का लक्षण होता है। वहीँ प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में ब्लीडिंग की समस्या का होना समय से पहले बच्चे के जन्म होने के खतरे का संकेत होता है।

खून की कमी

प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला के शरीर में खून की कमी के लक्षण जैसे की कमजोरी, थकान, नाख़ून व् आँखों का पीला होना, आदि मसहूस हो या डॉक्टर द्वारा महिला को बताया जाये की महिला के शरीर में खून की कमी है तो महिला को इसे बिल्कुल भी अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि प्रेग्नेंट महिला के शरीर में खून की कमी होने के कारण महिला की प्रेगनेंसी के दौरान परेशानियां, बच्चे के विकास में कमी, समय से पहले बच्चे का जन्म होना, डिलीवरी के समय दिक्कत आदि की समस्या हो सकती है।

पेट पीठ में तेज दर्द

गर्भवती महिला को यदि प्रेगनेंसी के दौरान पेट, पेट के निचले हिस्से में, पीठ में दर्द की समस्या अधिक हो तो इसे महिला को बिल्कुल अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह बच्चे के जन्म होने का संकेत होता है। यदि यह दर्द आपको डिलीवरी डेट के आस पास हो या डिलीवरी डेट से पहले हो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

सूजन

प्रेगनेंसी के दौरान पैरों में सूजन होना आम बात होती है और अधिकतर महिलाएं प्रेगनेंसी के समय इस परेशानी का सामना करती है। लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला को बहुत ज्यादा सूजन की समस्या हो पैरों के साथ हाथों, मुँह आदि पर भी सूजन महसूस हो। तो महिला को इस लक्षण को अनदेखा नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा होना शरीर में किसी बीमारी का संकेत हो सकता है।

बच्चे की हलचल

गर्भ में शिशु की मूवमेंट शिशु के स्वस्थ होने की तरफ इशारा करती है। ऐसे में गर्भ में शिशु हलचल कर रहा है या नहीं, महिला को इस बात का ध्यान रखना चाहिए। यदि गर्भवती महिला को कभी ऐसा महसूस हो की गर्भ में शिशु हलचल नहीं कर रहा है तो महिला को तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि गर्भ में शिशु की हलचल का न होना गर्भ में शिशु के होने वाले खतरे की और इशारा करता है।

तो यह हैं कुछ चेतावनियां जो प्रेग्नेंट महिला को यदि शरीर में महसूस हो तो महिला को बिल्कुल भी अनदेखा नहीं करना चाहिए। क्योंकि इन्हे अनदेखा करना माँ व् बच्चे दोनों पर बहुत बुरा असर डाल सकता है।

Leave a comment