What In India

Trending Now

डिलीवरी के चार घंटे के अंदर क्या-क्या होता है?

0

माँ बनना कोई आसान नहीं होता है बल्कि माँ बनने का अहसास क्या होता इसे केवल एक महिला ही महसूस कर सकती है। खासकर जो महिलाएं लेबर पेन से गुजरती है उस पेन के दौरान महिला क्या क्या महसूस करती है इसके बारे में केवल एक महिला ही बता सकती है। कुछ महिलाएं चार से पांच घंटे के लेबर पेन में बच्चे को जन्म दे देती है तो कुछ महिलाएं बीस बीस घंटे लेबर पेन में रहती है या उससे ज्यादा समय भी लेबर पेन में रहती है। साथ ही ऐसा भी कहा जाता है की जब महिला की डिलीवरी होती है तो उस समय केवल एक बच्चे का जन्म ही नहीं होता है बल्कि उस दौरान महिला का भी नया जन्म होता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको डिलीवरी पेन के दौरान महिला को क्या और कैसा महसूस होता है उस बारे में बताने जा रहे हैं।

रुक रुक कर हो सकता है दर्द

डिलीवरी पेन के दौरान महिला को पेट में रुक रुक कर दर्द महसूस हो सकता है कभी यह दर्द थोड़ा कम तो कभी इतना हो सकता है की महिला से सहन ही नहीं हो। ऐसे में जरुरी होता है की महिला चिल्लाएं नहीं और अपने आप को शांत रखने की कोशिश करें। ऐसा करने से महिला थकेगी नहीं और शरीर में ऊर्जा बनी रहेगी जिससे महिला को प्रसव को आसान बनाने में मदद मिलेगी।

ऐसा लगता है की अब नहीं होगा

लेबर पेन के दौरान महिला को होने वाला दर्द इतना ज्यादा होता है की उसे शब्दों में नहीं बताया जा सकता है। ऐसे में इतने दर्द को महसूस करने के बाद महिला को लगता है की अब उनसे यह सहन नहीं होगा लेकिन फिर भी महिला इस दर्द को अपने बच्चे के लिए सहन कर लेती है।

महिला थक जाती है

जो महिलाएं डिलीवरी पेन के दौरान बहुत ज्यादा चिल्लाती हैं उन्हें बहुत जल्दी थकावट होने लगती है ऐसे में महिला बहुत ज्यादा थक सकती है। ऐसा जरुरी नहीं की यह हर महिला के साथ हो बल्कि ऐसा उन महिलाओं के साथ होता है जो बहुत ज्यादा चिल्लाने लगती है।

बच्चे को लेकर चिंता होना

चाहे लेबर पेन के दौरान महिला को कितना ही दर्द हो रहा हो लेकिन महिला को केवल एक ही बात की चिंता होती है की उसके बच्चे को तो कुछ दिक्कत नहीं हो रही है। और महिला केवल मन ही मन अपने शिशु को लेकर ही सोच रही होती है और भगवान् से प्रार्थना कर रही होती है की उसका शिशु बिल्कुल स्वस्थ हो।

बस अब डिलीवरी हो जाये

जैसे ही महिला को लेबर पेन ज्यादा होने लगता है तब महिला केवल एक ही बात बोल रही होती है की बस अब और समय न लगे और जल्दी से डिलीवरी हो जाये।

भावनाओं में उतार चढ़ाव होता है

लेबर पेन के दौरान शारीरिक रूप से महिला को कितना ही दर्द हो रहा हो लेकिन महिला की भावनाओं में लगातार उतार चढ़ाव होता रहता है। और वह भावनाएं महिला के आने वाले शिशु से ही जुडी होती है।

तो यह हैं कुछ भावनाएं जो महिलाएं को डिलीवरी पेन के दौरान महसूस हो सकती है। साथ ही हर महिला का डिलीवरी का एक्सपीरियंस अलग हो सकता है। क्या आपका भी डिलीवरी का समय नजदीक आ रह है? यदि हाँ तो घबराएं नहीं बल्कि प्रसव की पूरी जानकारी इक्कठी करें और अपने स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखें क्योंकि ऐसा करने से आपके प्रसव को आसान बनाने में मदद मिलती है।

Leave a comment