बच्चों के दांत निकलने की उम्र, लक्षण और उपाय

0

बच्चे के जन्म के बाद उसके द्वारा की गई हर पहली हरकत, उसका विकास हर एक माता पिता के लिए बहुत ही ख़ुशी का पल होता है। आज इस आर्टिकल में हम आपसे बच्चे के दांत निकलने के बारे में बात करने जा रहे हैं। जन्म के बाद बच्चे का दांत निकलना भी बहुत ख़ुशी का पल होता है और सबसे ज्यादा ख़ुशी की बात यह होती है की अब आपका बच्चा ठोस चीजों को खाने की कोशिश भी कर सकता है। तो आइये अब जानते हैं की जन्म के बाद बच्चे के दांत कब निकलते हैं, दांत निकलने के क्या लक्षण होते हैं, दांत निकलने पर क्या दिक्कतें आती हैं, और आप इन दिक्कतों से बचने के लिए क्या कर सकते हैं।

बच्चे के दांत निकलने की उम्र

हर एक बच्चे की दांत निकलने की उम्र अलग अलग होती है जैसे की कुछ बच्चों के दांत चार महीने, कुछ बच्चों के दांत छह महीने या आठ महीने बाद भी निकल सकते हैं। साथ ही कुछ बच्चों के दांत इससे भी लेट निकल सकते हैं। ऐसे में इसमें घबराने की कोई बात नहीं होती है।

जिन बच्चों के दांत लेट निकलते हैं तो उसके कुछ कारण हो सकते हैं जैसे की अनुवांशिक कारण यानी की आपके घर में यदि और बच्चों के साथ ऐसा हुआ है या आपके साथ ऐसा हुआ है तो आपके बच्चे के साथ भी ऐसा हो सकता है, बच्चे का जन्म यदि समय से पहले हुआ है या बच्चा कमजोर है तो भी ऐसा हो सकता है, आदि।

बच्चे के दांत निकलने के लक्षण

यदि आपके बच्चे के दांत निकल रहे हैं या निकलने वाले हैं तो इसके कुछ लक्षण आपको बच्चे में महसूस होंगे। और आप उन लक्षणों को देखकर अंदाजा लगा सकते हैं की बच्चे के दूध के दांत निकलने वाले हैं। तो आइये अब जानते हैं की वो लक्षण कौन से हैं।

  • बच्चा यदि हर चीज को मुँह में लेने लगे और उसे काटने लगे या फिर बच्चा अपने हाथों को हमेशा मुँह में ही रखें।
  • यदि आपके बच्चे के मुँह से ज्यादा लार टपक रही है।
  • बच्चे के मसूड़ों का ज्यादा लाल होना, ऐसा होने पर बच्चों को मसूड़ों में दर्द महसूस हो सकता है।
  • बच्चे का बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा होना।
  • आपके बच्चे का ढंग से दूध नहीं पीना, भूख कम लगना।
  • यदि आपका बच्चा कान या गालों को खींचने या नोचने की कोशिश करता है तो यह भी बच्चे के दांत निकलने का लक्षण होता है क्योंकि ऐसा बच्चे मसूड़ों में दर्द महसूस होने के कारण कर सकते हैं।
  • कुछ बच्चों को इस दौरान उल्टियां व् दस्त की दिक्कत भी हो सकती है।

बच्चे के दांत निकलने पर होने वाली परेशानी को कम करने के उपाय

छोटे बच्चे को दिक्कत होने पर वह आपको अपनी दिक्कत बता नहीं सकते हैं लेकिन यदि आपका बच्चा बहुत ज्यादा रो रहा है, कुछ खा नहीं रहा है, चिड़चिड़ा हो रहा है, आदि तो इसका मतलब यह है की आपका बच्चा परेशान हैं। ऐसे में इस परेशानी को कम करने के लिए आप क्या-क्या कर सकती है आइये जानते हैं।

टीथर

आज कल मार्किट में टीथर मिलता है जिसमे आप बच्चे के हाथ में दे सकते हैं। वह बहुत ही कोमल होता है और बच्चे जब उसे मुँह में लेकर चबाता है तो उसे आराम महसूस होता है।

साफ़ सफाई का ध्यान रखें

दांत निकलने पर मसूड़ों में होने वाले दर्द के कारण बच्चा हर चीज मुँह में लेता है जिसके कारण उन चीजों पर जमे कीटाणु पेट में जाते हैं। और पेट में इन्फेक्शन होने के कारण बच्चे को उल्टी दस्त की परेशानी हो जाती है। ऐसे में महिला को साफ सफाई का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए ताकि बच्चे के दांत निकलने पर होने वाली डायरिया की परेशानी को दूर करने में मदद मिल सके।

मालिश

अपनी ऊँगली को साफ करके बच्चे के मसूड़ों को दबाएं यानी उनकी मालिश करें इससे बच्चे को अच्छा लगेगा और बच्चा काफी आराम महसूस करेगा। ऊँगली नहीं तो सूती कपडे को ठन्डे पानी में डालकर उस पानी से बच्चे के मसूड़ों पर लगाएं इससे भी बच्चा आराम महसूस करता है।

बच्चे को थोड़ा ज्यादा प्यार करें

बच्चे के दांत निकलने पर मसूड़ों में होने वाले दर्द की वजह से बच्चा बहुत परेशान हो जाता है ऐसे में बच्चे की दिक्कत को कम करने के लिए महिला को बच्चे को थोड़ा ज्यादा प्यार करना चाहिए ताकि बच्चा खुश रहे।

तो यह हैं बच्चे के दांत निकलने की उम्र, लक्षण व् उपाय, यदि आपला बच्चा भी छोटा है और आपको उसमे दांत निकलने के लक्षण महसूस हो रहे हैं। तो आप भी अपने बच्चे का और ज्यादा ध्यान रखें।