प्रेगनेंसी में ये 5 चीजें कर लें नोर्मल डिलीवरी होगी

0

प्रेगनेंसी का नौवां महीना लगते ही महिला के मन में यही बात चलती रहती है की महिला की डिलीवरी नोर्मल होगी या सिजेरियन। साथ ही ज्यादातर महिलाएं यही चाहती है की उनका बच्चा सामान्य प्रसव से जन्म लें। क्योंकि नोर्मल डिलीवरी के बाद महिला को जल्दी फिट होने में मदद मिलती है साथ ही बच्चा भी स्वस्थ होने के चांस बढ़ जाते हैं। क्या आप भी प्रेग्नेंट हैं और आप चाहती है की आपकी डिलीवरी नोर्मल हो?

तो इसकी तैयारी आपको प्रेगनेंसी की शुरुआत से ही कर देनी चाहिए। क्योंकि यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान तो अपनी सेहत के प्रति लापरवाही बरतती है तो इसके कारण नोर्मल डिलीवरी होने के चांस कम हो जाते हैं। तो आइये अब हम आपको ऐसे पांच टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका ध्यान यदि गर्भवती महिला प्रेगनेंसी की शुरुआत से ही रखती है तो इससे महिला की डिलीवरी नोर्मल होने में मदद मिलती है।

प्रेगनेंसी की शुरुआत से ही नियमित जांच करवाएं

यदि आप चाहती है की आपकी डिलीवरी नोर्मल हो तो प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के बाद से ही कभी भी अपनी जांच में लापरवाही नहीं करें, सभी टेस्ट करवाएं, प्रीनेटल विटामिन्स लें, टीकाकरण करवाएं, आदि। ऐसा करने से यदि प्रेगनेंसी में माँ या बच्चे को कोई समस्या भी होगी तो उसका समय से इलाज हो जायेगा। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान माँ और बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी। और प्रेगनेंसी के दौरान जितना माँ और बच्चा स्वस्थ रहेंगे उतना ही डिलीवरी को आसान बनाने में मदद मिलेगी।

शरीर में खून की कमी न होने दें

नोर्मल डिलीवरी के लिए सबसे जरुरी है की गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी न हो। क्योंकि खून की कमी होने के कारण प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स बढ़ जाते हैं, बच्चे का विकास अच्छे से नहीं होता है, डिलीवरी के समय दिक्कतें बढ़ जाती है, आदि। ऐसे में नोर्मल डिलीवरी के लिए महिला को प्रेगनेंसी के दौरान उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिससे शरीर में खून की कमी को पूरा होने में मदद मिल सके। जैसे की अनार, सेब, आंवला, निम्बू, चुकंदर, गाजर, टमाटर, हरी सब्जियां, आदि।

उन खाद्य पदार्थों का सेवन करें जिनसे नोर्मल डिलीवरी होने के चांस बढ़ते हैं

गर्भावस्था के दौरान फिट रहने के लिए सबसे जरुरी होता है की महिला पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें। साथ ही उन खाद्य पदार्थों का भरपूर सेवन करें जिससे नोर्मल डिलीवरी होने के चांस बढ़ते हैं। जैसे की पालक, ब्रोकली, संतरा, केला, ओट्स, नट्स यानी ड्राई फ्रूट्स, दालें और फलियां, नॉन वेज, डेयरी प्रोडक्ट्स, शकरकंद, आदि। यदि महिला इन सभी पोषक तत्वों का सेवन करती है तो इससे महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी पूरी होने के साथ शरीर को नोर्मल डिलीवरी के लिए तैयार करने में मदद मिलती है।

एक्टिव रहें

गर्भावस्था के दौरान महिला का एक्टिव रहना भी जरुरी होता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की आप अपने शरीर पर ज्यादा जोर डालें। बल्कि आप थोड़ा व्यायाम करे, योगासन करें, इससे महिला स्वस्थ रहेगी जिससे बच्चे का विकास अच्छे से होगा और शरीर भी नोर्मल डिलीवरी के लिए तैयार होगा।

डिलीवरी को लेकर तनाव में नहीं आएं

बहुत सी महिलाएं डिलीवरी का समय पास आने पर डिलीवरी को लेकर तनाव में आ जाती है जिससे महिला की परेशानियां कम होने की बजाय बढ़ जाती है। ऐसे में महिला को डिलीवरी को लेकर तनाव में नहीं आना चाहिए बीएस अपनी प्रेगनेंसी को एन्जॉय करना चाहिए। क्योंकि जितना महिला स्ट्रेस कम लेती है उतना ही नोर्मल डिलीवरी होने के चांस बढ़ जाते हैं।

तो यह हैं वो पांच टिप्स जिनका ध्यान यदि प्रेग्नेंट महिला प्रेगनेंसी की शुरुआत से रखती है तो इससे महिला की डिलीवरी नोर्मल होने में मदद मिलती है। यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं और चाहती है की आपकी डिलीवरी नोर्मल होने के चांस बढे तो आपको भी इन सभी बातों का प्रेगनेंसी के दौरान अच्छे से ध्यान रखना चाहिए।

Do these 5 things in pregnancy if you want normal delivery