7वें महीने में गर्भवती महिला को दूध में एक चम्मच घी डालकर क्यों पीना चाहिए

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के लिए दूध और घी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि दूध और घी दोनों में ही पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो प्रेग्नेंट महिला को तंदरुस्त रखने के साथ गर्भ में बच्चे के शारीरिक व् मानसिक विकास के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

अलग अलग तो इनका सेवन प्रेगनेंसी में करना फायदेमंद होता ही है साथ ही यदि प्रेग्नेंट महिला दूध में एक चम्मच घी डालकर दिन में एक बार उस दूध का सेवन करती है। तो यह भी माँ व् बच्चे दोनों के लिए दुगुना फायदेमंद होता है। तो आइये आज इस आर्टिकल में प्रेगनेंसी के 7वें महीने में गर्भवती महिला को दूध में एक चम्मच घी डालकर क्यों पीना चाहिए इस बारे में बताने जा रहे हैं।

बच्चे का बढ़ता है विकास

प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में गर्भ में बच्चे का विकास तेजी से बढ़ने लगता है ऐसे में गर्भ में शिशु का विकास अच्छे से हो इसके लिए गर्भवती महिला को रोजाना दिन में एक समय दूध में घी डालकर जरूर पीना चाहिए। क्योंकि दूध और घी दोनों के मिलने से आपको और बच्चे दोनों को पोषक तत्व भी दुगुने मिलते हैं। जो गर्भ में शिशु के बेहतर शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करते हैं। जिससे आपके होने वाले शिशु की हड्डियां मजबूत होती है, मसल्स मजबूत होती है, दिमाग का विकास अच्छे से होता हैं, आदि।

कब्ज़ से मिलती है राहत

गुनगुना दूध और घी दोनों में ही ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो गर्भवती महिला के पाचन तंत्र को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करते हैं। जिससे प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को कब्ज़ जैसी परेशानी से राहत पाने में मदद मिलती है।

पाचन होता है बेहतर

प्रेगनेंसी के दौरान वजन बढ़ने के कारण महिला की पाचन क्रिया धीमी पड़ जाती है जिसके कारण महिला को खाना हज़म करने में दिक्कत होती है। लेकिन यदि महिला दूध में घी डालकर पीती है तो प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में महिला को इस परेशानी से बचे रहने में मदद मिलती है। साथ ही पेट से जुडी अन्य परेशानियों से भी महिला को निजात मिलता है।

महिला रहती है एनर्जी से भरपूर

दूध में घी डालकर पीने से प्रेग्नेंट महिला के शरीर में कैलोरी की मात्रा सही रहती है जिससे गर्भवती महिला को एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिलती है।

डिलीवरी के लिए शरीर होता है तैयार

दूध में घी डालकर पीने से प्रेग्नेंट महिला के शरीर को प्रसव के लिए तैयार होने में मदद मिलती है। साथ ही इससे प्रसव को आसान बनाने व् प्रसव के दौरान होने वाली परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है।

शारीरिक और मानसिक फिटनेस के लिए है बेहतर

प्रेगनेंसी के दौरान महिला शारीरिक के साथ मानसिक रूप से भी बहुत सी परेशानियों का अनुभव करती है लेकिन यदि महिला दूध में घी डालकर पीती हैं। तो ऐसा करने से प्रेग्नेंट महिला को शारीरिक के साथ मानसिक परेशानियों से भी राहत पाने में मदद मिलती है। क्योंकि दूध में घी डालकर पीने से थकान, कमजोरी, तनाव से बचाव होता है जिससे गर्भवस्था के दौरान महिला शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहती है।

तो यह हैं कुछ फायदे जो 7वें महीने में गर्भवती महिला को दूध में एक चम्मच घी डालकर पीने से मिलते हैं। यदि आप भी प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में हैं तो आपको भी ऐसा जरूर करना चाहिए। लेकिन याद रखें की यदि आपका वजन ज्यादा है या दूध और घी से अन्य कोई परेशानी है तो दूध में घी डालकर सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर बात कर लें।

Why should a pregnant woman drink ghee in milk in the 7th month of Pregnancy