गर्भावस्था में ब्रेड खाना कितना नुकसानदायक होता है

0

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के लिए केवल खाना ही जरुरी नहीं होता है। बल्कि इस बात का ध्यान रखना भी जरुरी होता है की महिला जो भी खाये वह पोषक तत्वों से भरपूर हो और महिला को उससे किसी भी तरह का नुकसान न हो। जैसे की ब्रेड, ब्रेड खाने से महिला का पेट तो भर जाता है लेकिन क्या ब्रेड खाने से गर्भवती महिला को कुछ फायदा मिलता है? तो आज इस आर्टिकल में हम आपसे ब्रेड के सेवन के बारे में बात करने जा रहे हैं की क्या गर्भवती महिला को ब्रेड का सेवन करना चाहिए या नहीं। और यदि महिला को सेवन करना चाहिए तो कौन से ब्रेड का सेवन करना चाहिए सफ़ेद या ब्राउन?

प्रेगनेंसी में ब्रेड का सेवन करना चाहिए या नहीं?

प्रेग्नेंट महिला की यदि कभी कुछ बनाने की इच्छा नहीं होती है या वैसे भी महिला रोज़ाना सुबह नाश्ते में ब्रेड का सेवन करती है। और वो भी सफ़ेद ब्रेड का सेवन करती है। तो महिला के लिए यह नुकसान दायक होता है क्योंकि सफ़ेद ब्रेड मैदे की बनी हुई होती है साथ ही इसमें ग्लूटेन भी मौजूद होता है। जिससे गर्भवती महिला को पोषक तत्व नहीं मिलते हैं साथ ही महिला को स्वास्थ्य सम्बंधित परेशानियां होने का खतरा भी रहता है। यदि आप भी प्रेगनेंसी के दौरान सफ़ेद ब्रेड का सेवन कर रही है तो आज से ही इसका सेवन बंद कर दें।

प्रेगनेंसी में सफ़ेद ब्रेड खाने के नुकसान

  • मैदे का बने होने के कारण सफ़ेद ब्रेड का सेवन करने से महिला को पेट में गैस, कब्ज़ जैसी परेशानियां अधिक होती है।
  • सफ़ेद ब्रेड में ग्लूटेन भी मौजूद होता है जिससे गर्भवती महिला को कब्ज़ की समस्या अधिक होती है।
  • प्रेगनेंसी में सफ़ेद ब्रेड खाने से महिला का पेट लम्बे समय तक भरा रहता है जिसके कारण महिला का कुछ भी खाने का मन नहीं करता है और महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है।

क्या प्रेगनेंसी में ब्राउन ब्रेड खा सकते हैं?

जी हाँ, यदि कभी प्रेग्नेंट महिला का ब्रेड खाने का मन करता है तो महिला को सफ़ेद की जगह महिला को ब्राउन ब्रेड का सेवन करना चाहिए क्योंकि ब्राउन ब्रेड आटे की बनी हुई होती है। साथ ही ब्राउन ब्रेड में पोषक तत्व भी भरपूर मात्रा होते हैं इसीलिए यह गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद होती है। तो आइये अब जानते हैं प्रेगनेंसी में ब्राउन ब्रेड खाने से कौन से फायदे मिलते हैं।

  • ब्राउन ब्रेड में कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता है ऐसे में गर्भवती महिला यदि इसका सेवन करती है तो इसे महिला को एनर्जी से भरपूर रहने में मदद मिलती है।
  • ब्राउन ब्रेड में प्रोटीन की मात्रा भी मौजूद होती है जो गर्भ में पल रहे बच्चे के बेहतर विकास में मदद करती है।
  • कैल्शियम से भरपूर ब्राउन ब्रेड का सेवन करने से प्रेग्नेंट महिला की हड्डियों को मजबूती मिलने के साथ गर्भ में शिशु की हड्डियों के बेहतर विकास में भी फायदा मिलता है।
  • ब्राउन ब्रेड में मौजूद फाइबर ब्लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखने में मदद करता है जिससे महिला को प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली शुगर की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।
  • फाइबर से भरपूर ब्राउन ब्रेड का सेवन करने से गर्भवती महिला के पाचन तंत्र को दुरुस्त रहने में भी मदद मिलती है।
  • ब्राउन ब्रेड खाने से गर्भवती महिला के शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल में रहने में मदद मिलती है।

तो यह हैं प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेड का सेवन करने से जुड़े कुछ टिप्स, तो यदि आप भी प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेड खाना चाहती है तो आपको सफ़ेद ब्रेड की बजाय ब्राउन ब्रेड का सेवन करना चाहिए। ताकि आपकी ब्रेड खाने की इच्छा भी पूरी हो जाये और आपको सफ़ेद ब्रेड खाने से होने वाले नुकसान से बचे रहने में मदद मिल सके।