Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

डायबिटीज़ के लक्षण क्या होते हैं

0

डायबिटीज़ को शुगर या महुमेह के नाम से भी जाना जाता है, इस बिमारी से पहले से लोग प्रभावित हो रहे है। लेकिन आज के समय में शुगर से परेशान रोगियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। शुरुआत में आपको पता भी नहीं चलता है की आप इस बिमारी से ग्रसित है, लेकिन जब यह बढ़ने लगती है तो आपको इसके बारे में पता चलता है। इस बिमारी का कारण या तो आपकी खराब जीवनशैली या फिर वंशानुगत हो सकता है। यह आज कल आम समस्या की तरह उभर कर सामने आ रही है। लेकिन यदि आपको इस बिमारी के बारे में शुरुआत में ही पता चल जाता है तो इस समस्या का समाधान किया जा सकता है। तो आइए जानते है की डायबिटीज़ कौन कौन सी होती है। और इसके क्या लक्षण होते है।

डायबिटीज़ के टाइप कौन से है:-

खराब जीवनशैली के कारण आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है, और इसके होने का कारण होता है की जब आपके शरीर में पैक्रियाज ग्रंथि इन्सुलिन बनाना बंद कर देती है तो आपको इस समस्या का सामना करना पड़ता है। डायबिटीज़ दो तरह की होती है टाइप 1 और टाइप 2 आइये जानते हैं इसके बारे में।

टाइप 1 :-

इस टाइप के होने की समस्या या तो छोटे बच्चों में या बीस साल तक की उम्र के लोगो में देखी जाती है। इसके होने के कारण शरीर में इन्सुलिन नहीं बनता है।

टाइप 2 :-

ज्यादातर लोग इस तरह के शुगर से ग्रसित होते है, इसके होने के कारण शरीर में इन्सुलिन तो बनता है, लेकिन या तो वह शरीर की जरुरत के अनुसार नहीं बनता है या फिर वह बॉडी में ठीक से काम नहीं कर पाता है जिस तरह से उसे करना चाहिए।

डायबिटीज़ के होने के कारण:-

  • जंक फ़ूड का अधिक सेवन शुगर होने की सम्भावना को बढ़ाता है।
  • यह रोग अनुवांशिक भी हो सकता है, इसका मतलब होता है की यदि यह रोग माँ बाप को होता है तो हो सकता है आपके बच्चों को भी यह परेशानी हो।
  • जरुरत से ज्यादा वजन होना भी डायबिटीज़ का कारण बनता है।
  • डिप्रेशन या तनाव के होने से भी आपको यह समस्या हो सकती है।
  • कोल्ड ड्रिंक, मीठा, चाय आदि का अधिक सेवन भी इसका कारण बनता है।
  • नशा करने से जैसे धूम्रपान, तम्बाकू आदि का सेवन करने से भी आपको इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • बिना सलाह के लम्बे समय तक दवाइयों का सेवन करने से भी आपको इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

डायबिटीज़ के क्या लक्षण होते है:-

डायबिटीज़ के होने पर आपके शरीर में बहुत से लक्षण दिखाई देने लगते है, जिससे आप पता कर सकते हैं की कहीं आपको शुगर की समस्या तो नहीं है, इसके लिए आज हम आपको कुछ ऐसे ही लक्षण बताने जा रहें है जिन्हे यदि आप अपने शरीर में देखते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से राय लेनी चाहिए।

डायबिटीज़ में होता है थकान का अनुभव:-

यदि आप शुगर की बिमारी से ग्रसित है तो आपको बहुत जल्दी थकान का अनुभव होने लगता है। और यदि आप सोकर भी उठते है तो भी ऐसा लगता है की जैसे आपका शरीर टूट रहा है। और पूरी नींद होने के बाद भी आपको ऐसा लगता है की जैसे आपकी नींद पूरी नहीं हुई है। और यदि ऐसा होता है तो इसका मतलब होता है की आपके शरीर में ब्लड में शुगर का लेवल लगातार बढ़ता जा रहा है।

शुगर में घाव नहीं भरते जल्दी:-

यदि आपको कहीं चोट लग जाती है या छोटी मोटी खरोच भी आ जाती है, और आप शुगर की बिमारी से ग्रसित है तो आपकी वह चोट जल्दी नहीं ठीक होती है। और कई बार तो छोटी सी चोट भी बड़े घाव का रूप ले लेती है।

वजन में कमी आना है मधुमेह का लक्षण:-

मधुमेह में रोग के होने पर शरीर का वजन तेजी से कम होने लगता है। सामान्य दिनों के मुकाबले वजन में कमी तेजी से होने लगती है, तो ऐसे में आपको अपना चेकअप जरूर करवाना चाहिए।

बार बार पेशाब आना भी है डायबिटीज़ की पहचान:-

शुगर के रोगी को बार बार यूरिन के पास करने इच्छा होती है, क्योंकि ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ने लगता है, जिसके कारण शुगर की मात्रा बढ़ती है और व्यक्ति को बार बार यूरिन आने की समस्या शुरू हो जाती है।

मधुमेह के रोगी को लगती है जोरो से भूख:-

मधुमेह के होने पर जितना तेजी से व्यक्ति का वजन कम होता है, उतनी ही तेजी से उसे भूख लगनी शुरू हो जाती है। ऐसे में भूख के बार बार लगने पर व्यक्ति का कुछ न कुछ जरूर खाने का मन करता है।

ज्यादा तबियत खराब रहने लगती है:-

यदि आप शुगर की बिमारी से ग्रसित हैं तो ऐसा होने पर आपको यदि कोई भी बैक्टेरियल इन्फेक्शन जैसे की खांसी जुखाम आदि हो जाता है तो वो जल्दी से ठीक नहीं होता है। बल्कि कई बार छोटी छोटी चीजें भी बड़े संक्रमण का रूप ले लेती है।

आँखों में कमजोरी का आना भी है डायबिटीज़ का लक्षण:-

डायबिटीज़ की समस्या के होने पर व्यक्ति की आँखों पर भी प्रभाव पड़ता है, जैसे की धुंधला दिखाई देने लगता है, और साथ ही किसी भी चीज को देखने या पढ़ने के लिए आँखों पर बहुत जोर डालना पड़ता है।

बार बार लगती है प्यास:-

शुगर के रोगी को बार बार प्यास का लगना आम बात होती है, क्योंकि बार बार यूरिन पास करने से व्यक्ति के शरीर में पानी की कमी होने लगती है। जिसके कारण उसकी बार बार पानी पीने की इच्छा होती है।

स्किन सम्बन्धी समस्या का होना:-

शुगर की शुरुआत में आपको स्किन सम्बन्धी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है जैसे की आपकी स्किन पर बड़े बड़े घाव से पड़ने लगते है। ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर से राय  लेनी चाहिए।

डायबिटीज़ से बचने के कुछ उपाय:-

  • व्यायाम आदि करना चाहिए इसे आपके शरीर की गतिविधियों को सुचारू रूप से चलने में मदद मिलती है।
  • जंक फ़ूड का सेवन नहीं करना चाहिए संतुलित व् पौष्टिक आहार का सेवन करने से आपको इस परेशानी से बचाव करने में मदद मिलती है।
  • तनाव लेना भी मधुमेह का कारण हो सकता है इसीलिए जितना हो सकें आपको खुश रहना चाहिए।
  • बिना डॉक्टर की सलाह के ज्यादा दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • किसी भी तरह के नशे से परहेज करना चाहिए।
  • अपने वजन को नियंत्रित रखना चाहिए।
  • योगासन जैसे की अनुलोम विलोम और कपालभाति करना चाहिए, इससे आपको शुगर से राहत में आराम मिलता है।
  • शुगर की समस्या होने पर आपको अपना अच्छे से ख्याल रखना चाहिए ताकि आपके शरीर पर कोई भी जख्म आदि न बने।

तो यह है कुछ कारण जिनकी वजह से आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।साथ ही यदि आपको शुगर के लक्षण आपके शरीर में दिखाई देते हैं तो आपको बिना देरी किए तुरंत अपना चेकअप करवाना चाहिए, ताकि आपकी इस समस्या को शुरुआत में ही ख़त्म किया जा सकें और आपको किसी तरह की कोई भी परेशानी न हो।

Leave a comment