गर्भधारण के पहले तीन महीनों तक का डाइट प्लान यह है

गर्भावस्था के कन्फर्म होने के बाद सभी आपको राय देना शुरू कर देते हैं की प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं, क्या करना चाहिए क्या नहीं, आदि। और प्रेगनेंसी में आपको राय देने वाले सभी लोगो के विचार एक जैसे हो जरुरी नहीं होता है। जिसके कारण गर्भवती महिला थोड़ा कंफ्यूज हो सकती है। लेकिन इन सब बातों के कारण परेशान होने को बजाय प्रेग्नेंट महिला को इस बात का ध्यान रखना है की महिला को कब क्या करना है, क्या खाना है, क्या नहीं खाना है, आदि, यदि आपको समझ नहीं आ रहा है तो इसके लिए आप डॉक्टर से राय लें।

और प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने महिला के लिए बहुत अहम होते हैं क्योंकि इस दौरान शिशु के अंगो की आकृतियां बन रही होती है, साथ ही इस दौरान महिला द्वारा बरती गई लापरवाही का बहुत बुरा असर गर्भ पर हो सकता है। ऐसे में महिला को भरपूर आराम करने के साथ प्रेगनेंसी के पहले तान महीनों में अपने खान पान का भी अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी के पहले तीन महीनों में महिला को क्या खाना चाहिए।

आयरन युक्त आहार

गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में बॉडी में आयरन का भरपूर मात्रा में होना बहुत जरुरी होता है इसके लिए गर्भवती महिला को आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। और इसके लिए गर्भवती महिला हरी सब्जियां, चुकंदर, निम्बू, अनार, सेब, अमरुद, केला, गाजर, आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए।

विटामिन सी युक्त आहार

प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के साथ ही बॉडी में लगातार हार्मोनल बदलाव होने शुरू हो जाते हैं। जिसके कारण प्रेग्नेंट महिला की इम्युनिटी भी कमजोर पड़ जाती है। और इम्युनिटी कमजोर होने के कारण महिला को संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को अपनी इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए विटामिन सी युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। और इसके लिए गर्भवती महिला को निम्बू, संतरा, आंवला, हरी सब्जियां, शिमला मिर्च, टमाटर, शकरकंद, कीवी, ब्रोकली, आदि का सेवन करना चाहिए।

कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ

बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में थकान व् कमजोरी के कारण अधिक परेशान होती है। साथ ही इस दौरान शिशु की हड्डियों की आकृतियां भी बन रही होती है। ऐसे में महिला को भी थकान व् कमजोरी की समस्या न हो और शिशु का शुरुआत से ही शारीरिक विकास बेहतर हो इसके लिए प्रेग्नेंट महिला को कैल्शियम से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। और इसके लिए प्रेग्नेंट महिला दूध व् दूध से बनी चीजें, हरी सब्जियां, सोयाबीन, दही, दालें आदि का सेवन कर सकती है।

प्रोटीन से भरपूर आहार

गर्भावस्था की पहली तिमाही में गर्भवती महिला को प्रोटीन युक्त आहार का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए। क्योंकि प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करने से गर्भवती महिला को फिट रहने के साथ बच्चे की कोशिकाओं के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है। और प्रोटीन के लिए प्रेग्नेंट महिला दालें व् फलियां, दूध, दही, हरी सब्जियां आदि का सेवन कर सकती है।

फाइबर से भरपूर आहार

गर्भावस्था के दौरान अधिकतर महिलाएं प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में भूख न लगने, खाने के अच्छे से न हज़म होने, कब्ज़ आदि की समस्या से परेशान होती है। ऐसे में इस समस्या से निजात पाने के लिए गर्भवती महिला को फाइबर से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। और फाइबर के लिए गर्भवती महिला ब्रेड, ओट्स, दालें, मटर, बीन्स, संतरा, निम्बू, पोहा आदि का सेवन कर सकती है।

तो यह हैं कुछ आहार जिन्हे प्रेगनेंसी के पहले तीन महीनों में गर्भवती महिला को अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। यदि गर्भवती महिला अपनी डाइट का अच्छे से ध्यान रखती है तो इससे प्रेगनेंसी के तीन महीनों में आने वाली परेशानियों को कम करने और माँ व् बच्चे को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है।