शिशु को गर्भ में काला होने से ऐसे बचाएं

जैसे ही महिला गर्भवती होती है वैसे ही उसके मन में अपने बच्चे की छवि बननी शुरू हो जाती है। और हर महिला यही चाहती है की वो एक सूंदर, हष्ट पुष्ट, बुद्धिमान, गोरे शिशु को जन्म दें। क्या आप भी प्रेग्नेंट हैं और आप भी ऐसा ही सोच रही हैं? तो इसके लिए जरुरी होता है की प्रेगनेंसी के दौरान महिला अपना अच्छे से ध्यान रखें साथ ही खान पान का अच्छे से ध्यान रखें।

और अपने आहार में ऐसी चीजों को शामिल करे जिससे शिशु का विकास अच्छे से हो और आपका शिशु गोरा भी हो। तो लीजिये आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे गर्भ में आपको अपने शिशु को काला होने से बचाने में मदद मिलती है।

नारियल खाएं (Coconut)

गर्भावस्था के दौरान हरा नारियल खाना या नारियल पानी पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही ऐसा भी माना जाता है की यदि प्रेग्नेंट महिला नारियल का सेवन करती है। तो इससे गर्भ में शिशु की त्वचा की रगत में भी निखार आता है जिससे आपका होने वाला शिशु गोरा होता है।

संतरा (Orange)

संतरा विटामिन सी, फाइबर जैसे पोषक तत्वों का बेहतरीन स्त्रोत होता है। जो गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानियों से सुरक्षित रखने में मदद करता है। साथ ही संतरा गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी फायदेमंद होता है। संतरे का सेवन करने से गर्भ में शिशु का विकास बेहतर होने के साथ शिशु की स्किन को भी पोषण मिलता है जिससे शिशु की स्किन में निखार आता है।

केसर वाला दूध (Saffron milk)

पुराने समय में ऐसा माना जाता था की यदि गर्भवती महिला केसर दूध का सेवन करती है तो इससे महिला की होने वाली संतान गोरी और सूंदर होती है। तो यदि आप भी चाहते हैं की आपकी होने वाली संतान गोरी व् सूंदर हो तो आप भी प्रेगनेंसी के दौरान केसर दूध का सेवन कर सकती है।

आयरन युक्त सब्जियां व् फल (Fruits and vegetables rich in iron)

जिन फलों व् सब्जियों में आयरन की मात्रा भरपूर होती है जैसे की हरी सब्जियां, सेब, अनार, गाजर, चुकंदर, आदि। उनका सेवन भी गर्भवती महिला को जरूर करना चाहिए। क्योंकि आयरन से भरपूर डाइट लेने से भी गर्भ में शिशु का शारीरिक व् मानसिक विकास बेहतर होने के साथ शिशु की स्किन को भी पोषण मिलता है। जिससे आपका होने वाला बच्चा गोरा व् निखरा हुआ होता है।

देसी घी (Desi Ghee)

गर्भावस्था के दौरान देसी घी का सिमित मात्रा में सेवन माँ व् बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही ऐसा भी माना जाता है की यदि प्रेग्नेंट महिला देसी घी का सेवन करती है तो इससे होने वाले शिशु की रंगत में निखार आता है।

अंडा (Egg)

प्रोटीन व् अन्य मिनरल्स से भरपूर अंडे का सेवन करने से गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर शारीरिक व् मानसिक विकास होने के साथ आपके होने वाले शिशु की रंगत को निखारने में भी मदद मिलती है। ऐसे में यदि आप अंडा खाती है तो प्रेगनेंसी के दौरान अपनी डाइट में अंडे को जरूर शामिल करें।

दूध (Milk)

दूध पोषक तत्वों से भरपूर होता है दूध का सेवन करने से गर्भवती महिला को फिट रहने और गर्भ में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में मदद मिलती है। साथ ही दूध का सेवन करने से होने वाले शिशु की रंगत भी दूध की तरह निखरी हुई होती है। इसीलिए प्रेग्नेंट महिला को एक दिन में दो से तीन गिलास दूध पीने की सलाह दी जाती है।

भीगे हुए बादाम (Almond)

गर्भवती महिला यदि रोजाना भीगे हुए बादामों का सेवन करती है तो इससे न केवल गर्भ में शिशु के विकास को बेहतर होने में मदद मिलती है। बल्कि बादाम में मौजूद विटामिन इ शिशु की स्किन व् बालों के बेहतर विकास के लिए भी फायदेमंद होता है।

अंगूर (Grapes)

वैसे प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा अंगूर का सेवन करने की मनाही होती है लेकिन यदि प्रेग्नेंट महिला सिमित मात्रा में अंगूर का सेवन करती है। तो इससे गर्भवती महिला को सेहत सम्बन्धी फायदे तो मिलते ही हैं साथ ही अंगूर आपके होने वाले शिशु की रंगत को निखारने में भी मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ आहार जिन्हे खाने से गर्भ में पल रहे शिशु की रंगत को निखारने में मदद मिलती है। और आपका शिशु काला नहीं होता है, यदि आप भी चाहती हैं की आपका होने वाला शिशु गोरा हो। तो आप भी प्रेगनेंसी में इन बातों का अच्छे से ध्यान रखें।

How to protect your baby from getting black in the womb