Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

ये संकेत बताते हैं की गर्भाशय का मुँह खुल गया है

0

प्रेगनेंसी के आख्रिरी महीने में महिलाएं इस बात को लेकर चिंतित हो सकती है की उन्हें कैसे पता चलेगा की उनकी डिलीवरी होने वाली है या गर्भाशय का मुँह खुल गया है। वैसे तो प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को जल्दी जल्दी डॉक्टर के पास जाना होता है। तो डॉक्टर आपकी जांच करके बताती रहती है की डिलीवरी में कितना समय और लग सकता है। लेकिन घर में रहने पर आपको कैसे यह पता चलेगा की बच्चेदानी का मुँह खुल रहा है इसके बारे में भी जानना जरुरी होता है।

क्योंकि यदि आप घर में हैं और आपको बॉडी में प्रसव के लक्षण महसूस हो रहे हैं तो इन लक्षणों के पता होने पर आपको आसानी से पता चल जाता है की आपकी डिलीवरी में अब कुछ ही समय रह गया है। तो आइये अब इस आर्टिकल में जानते हैं की गर्भाशय का मुँह खुलने पर बॉडी में कौन से लक्षण महसूस हो सकते हैं।

चलने पर ऐसा लगना बच्चा बहुत नीचे आ गया है

प्रेगनेंसी के दौरान नौवें महीने में बच्चा अपनी जन्म लेने की पोजीशन में आ जाता है जिसके कारण पेट के निचले हिस्से पर अधिक दबाव महसूस होता है। ऐसे में यदि आपको चलने पर ऐसा महसूस होता है की यदि आप थोड़ा तेज चलेंगी तो बच्चा नीचे निकल जायेगा। तो यह इस बात का संकेत होता है की गर्भाशय का मुँह खुल रहा है।

पेट और सीने में हल्कापन

यदि प्रेग्नेंट महिला को बच्चे का सारा भार नीचे की तरफ महसूस होता है और पेट व् सीने में हल्कापन महसूस होता है। तो यह भी गर्भाशय का मुँह खुलने का संकेत होता है।

बहुत ज्यादा यूरिन आना

बच्चे के नीचे आने पर पेट के निचले हिस्से पर दबाव बढ़ जाने के कारण महिला की यूरिन पास करने की इच्छा बढ़ जाती है। ऐसे में यदि महिला को जल्दी जल्दी यूरिन करने की इच्छा होती है तो यह भी बच्चेदानी का मुँह खुलने का संकेत होता है।

सफ़ेद पानी

यदि प्रेग्नेंट महिला को प्राइवेट पार्ट से गाढ़ा चिपचिपा सफ़ेद पदार्थ आता हुआ महसूस होता है। तो इसका मतलब यह होता है की बच्चेदानी का मुँह खुल गया है और अब डिलीवरी किसी भी समय हो सकती है। और इस लक्षण के महसूस होने पर महिला को ज्यादा इंतज़ार भी नहीं करना चाहिए। और तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

पेट दर्द

गर्भावस्था के दौरान वैसे तो पेट में दर्द महसूस होना आम बात होती है। लेकिन डिलीवरी का समय पास आने पर यदि महिला को पहले धीरे फिर तेज या फिर रुक रुक कर पेट में दर्द में दर्द बढ़ रहा है तो इसका मतलब भी यही होता है की बच्चेदानी का मुँह खुल रहा है।

पीठ के निचले हिस्से में दर्द

जैसे जैसे पीठ के निचले हिस्से में दर्द बढ़ता है तो यह इस बात का लक्षण होता है की बच्चेदानी का मुँह खुल रहा है। क्योंकि बच्चे के नीचे की तरफ बढ़ने के साथ पीठ की मांसपेशियों में खिंचाव बढ़ता है जिसकी वजह से महिला को यह दिक्कत होती है।

तो यह हैं कुछ लक्षण जो इस बात का संकेत देते हैं की बच्चेदानी का मुँह खुल गया है। ऐसे में यदि आप भी प्रेग्नेंट हैं तो आपको भी इन लक्षणों का ध्यान रखना चाहिए। ताकि डिलीवरी के दौरान आपको किसी भी तरह की परेशानी से बचे रहने में मदद मिल सके।

Leave a comment