प्रेगनेंसी में केक क्यों नहीं खाना चाहिए?

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला की अलग अलग चीजें खाने की क्रेविंग होती है। जैसे की कुछ गर्भवती महिलाओं की प्रेगनेंसी के दौरान मीठा खाने की क्रेविंग होती है और कुछ की तीखा और चटपटा, आदि। और जिन महिलाओं की मीठा खाने की इच्छा होती है उन्हें केक, पेस्ट्री आदि खाने की इच्छा भी हो सकती है। लेकिन प्रेगनेंसी में केक का सेवन करने से पहले इस बात के बारे में जानना जरुरी होता है। की क्या गर्भवती महिला को केक का सेवन करना चाहिए या नहीं?

प्रेगनेंसी के दौरान केक खाएं या नहीं?

गर्भावस्था के दौरान किसी भी चीज को खाने से थोड़ा सा भी माँ या बच्चे को नुकसान हो तो उस चीज का सेवन करने से बचना चाहिए। और केक एक ऐसा ही खाद्य पदार्थ है जिसे चाहे घर में बनाकर खाएं या बाहर से खाएं दोनों तरह से ही यह गर्भवती महिला व् बच्चे की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि इसे बनाने के लिए आर्टिफिशल क्रीम व् स्वीटनर, कच्चे अंडे, अल्कोहल, आदि का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान केक का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में केक खाने के नुकसान

गर्भावस्था के दौरान यदि महिला केक का सेवन करती है तो इसके कारण गर्भवती महिला और होने वाले बच्चे की सेहत को बहुत से नुकसान हो सकते हैं। जैसे की:

इन्फेक्शन का होता है खतरा

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला की इम्युनिटी कमजोर हो जाती है। जिसके कारण महिला को ऐसी किसी भी चीज का सेवन न करने की सलाह दी जाती है जिससे महिला को इन्फेक्शन का खतरा हो। ऐसे में केक बनाने के लिए कच्चे अंडे का इस्तेमाल किया जाता है और कच्चे अंडे में साल्मोनेला, इ कोलाई, जैसे बैक्टेरिया मौजूद होते हैं। साथ ही घर में आप जो केक बनाते हैं उसके बैटर में भी बैक्टेरिया के होने का खतरा होता है। जिसकी वजह से गर्भवती महिला को बहुत जल्दी इन्फेक्शन होने का खतरा होता है। ऐसे में गर्भवती महिला को संक्रमण न हो इससे बचने के लिए प्रेगनेंसी के दौरान केक खाने की मनाही होती है।

वजन जरुरत से ज्यादा हो सकता है

केक स्वाद में मीठा होता है और इसे और ज्यादा मीठा करने के लिए इसमें आर्टिफिशल स्वीटनर भी मिलाया जाता है। ऐसे में केक का अधिक सेवन महिला के वजन को तेजी से बढ़ाता है। और गर्भावस्था के दौरान महिला का वजन यदि जरुरत से ज्यादा बढ़ जाता है तो इसके कारण न केवल प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स बढ़ जाती है। बल्कि इसकी वजह से बच्चे को भी दिक्कत होने का खतरा रहता है।

केक में हो सकते हैं अनहेल्दी सप्लीमेंट्स

मार्केट से ख़रीदे केक में फ्लेवर या स्वाद बढ़ाने वाली चीजों के रूप में अनहेल्दी सप्लीमेंट्स की मिलावट की जा सकती हैं जिससे आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास को नुकसान हो सकता है। साथ ही महिला को भी सेहत सम्बन्धी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

कुछ केक में अल्कोहल भी होता है

कुछ केक को बनाने के लिए रम का इस्तेमाल भी किया जाता है। और ऐसे केक गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए बहुत अधिक नुकसानदायक हो सकते हैं। इसीलिए प्रेग्नेंट महिला को जितना हो सके ऐसे केक को चखने से भी बचना चाहिए।

तो यह हैं कुछ नुकसान जो गर्भवती महिला को केक का सेवन करने से हो सकते हैं। ऐसे में गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी के दौरान अपनी जीभ के स्वाद पर थोड़ा कण्ट्रोल करना चाहिए। और जितना हो सके केक व् अन्य मीठी चीजें और जंक फ़ूड के सेवन से परहेज करना चाहिए।

Harmful effect of eating cake in Pregnancy