Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

मेनोपॉज़ के बाद होने वाली समस्या और समाधान

0

मेनोपॉज़ को महिला का जिंदगी का सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट भी कहा जाता है क्योंकि इस दौरान महिला को बहुत सी ऐसी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है जो की उसने पहले कभी नहीं किया है। कुछ महिलाओं को मेनोपॉज़ के दौरान ज्यादा परेशानी नहीं होती है लेकिन कुछ महिलाओं को बहुत अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता है। यह एक ऐसी अवस्था होती है जो हर महिला को अलग अलग तरह से प्रभावित करती है क्योंकि यह उसके शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलाव पर निर्भर करती है। इस दौरान महिला को तनाव, अनिंद्रा, अकेलापन, हदय सम्बन्धी आदि कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

यह समय हर महिला की जिंदगी का अहम हिस्सा होता है इस दौरान महिला को पीरियड्स आने बंद हो जाते है। और महिला के गर्भाशय में अंडे बनने की प्रक्रिया भी खत्म हो जाती है इसके बाद महिला के प्राकृतिक रूप से माँ बनने की सम्भावना बिल्कुल खत्म हो जाती है। ज्यादातर महिलाओं को यह पेंतालिस से पचास वर्ष की आयु में हो जाता है। और कुछ महिलाओं को इस उम्र के बाद भी हो सकता है, यह हर महिला के बॉडी में हो रहे बदलाव पर निर्भर करता है। तो आइये अब जानते हैं की मेओपोज के दौरान महिला के साथ कौन कौन सी समस्याए हो सकती है।

मेनोपॉज़ के दौरान होने वाली समस्याए:- यह हर महिला की लाइफ में होने वाली एक शारीरिक प्रक्रिया होती है। और इस समय महिला को कई बार बहुत पीड़ा का सामना भी करना पड़ता है, साथ ही इस समय महिला के को शारीरिक के साथ मानसिक रूप से भी बहुत से बदलाव का सामना करना पड़ सकता है। तो आइए अब जानते हैं की महिला को मेनोपॉज़ के दौरान कौन कौन सी परेशानियां होती है।

  • शरीर में बहुत तेजी से हार्मोनल बदलाव होते हैं।
  • महिला की सोच पर असर पड़ता है कई बार उसकी स्मरण शक्ति भी कम होने लगती है।
  • मूड में बहुत से बदलाव आते हैं, जिसके कारण तनाव होना आम बात होती है।
  • महिला के प्राइवेट पार्ट में सूखापन आने लगता है, जिसके कारण उसे सम्बन्ध बनाने में परेशानी हो सकती है ।
  • बॉडी में दर्द आदि की समस्या रहने लगती है।
  • अनिंद्रा की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
  • यूरिन पास करते समय दर्द व् जलन महसूस हो सकती है।
  • शरीर में बहुत अधिक कमजोरी आने लगती है, थकावट आदि की समस्या के कारण भी आपको परेशान होना पड़ सकता है।
  • हाई ब्लड प्रैशर की समस्या का सामना भी आपको करना पड़ सकता है।
  • मेनोपॉज़ होने पर हदय सम्बन्धी समस्या भी आपको हो सकती है।
  • इस दौरान महिला का वजन भी कई बार बढ़ने लगता है।

मेनोपॉज़ का उपचार:- मेनोपॉज़ के दौरान महिला कई परेशानियों से गुजरती है। लेकिन ऐसा हर महिला के साथ हो कोई जरुरी नहीं होता है। लेकिन कुछ महिलाओं को इस दौरान काफी पीड़ा होती है। ऐसे में आज हम आपको मेनोपॉज़ की समस्या से निपटने के लिए कुछ उपचार बताने जा रहे हैं जिससे आपको मेनोपॉज़ के दौरान होने वाली परेशानी से बचाव करने में मदद मिलती है।

गर्म पसीना आने पर करें यह उपचार:- मेनोपॉज़ के दौरान महिला को बहुत अधिक पसीना आता है तो ऐसा लगता है की जैसे गर्म पानी बॉडी पर रखा हुआ है। तो आइये जानते हैं की इस समस्या से बचने के लिए महिला क्या क्या कर सकती है।

  • ऐसे में महिला को ज्यादा गर्मी में काम नहीं करना चाहिए बल्कि काम करते हुए पंखे या ए सी का प्रयोग करना चाहिए।
  • कई बार अधिक वजन भी मेनोपॉज़ में पसीना आने का कारण होता है इसीलिए अपने वजन को कम करना चाहिए।
  • यदि महिला धूम्रपान या अल्कोहल का सेवन करती है तो ऐसा भी नहीं करना चाहिए।
  • अधिक तीखा, मसालें वाले, तला हुआ भोजन आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जब भी आपको अधिक पसीना आए तो ठन्डे में बैठकर गहरी सांस लेना चाहिए इससे आपको आराम मिलेगा।
  • ज्यादा टाइट कपडे न पहने, और चाय कॉफ़ी जैसी चीजों का अधिक सेवन न करें।

अनिद्रा की समस्या को कैसे दूर करें:- शरीर में हो रहे लगातार हार्मोनल बदलाव के कारण आपको अनिंद्रा की परेशानी बी हो सकती है। या बार बार नींद खुलती रहती है तो इससे बचने के लिए आप आइये जानते हैं क्या कर सकते है।

  • अपने सोने के स्थान को साफ सुथरा और आरामदायक रखें।
  • नींद की गोली आदि का सेवन करें।
  • रोजाना सोने का समय बनाएं ताकि आपका रूटीन सेट हो जाए।
  • सोते समय हल्के और आरामदायक कपडे पहने और कमरे को ठंडा रखें।
  • रात का भोजन हल्का करें और देरी से भोजन न करें क्योंकि इसके कारण भी आपको नींद से जुडी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • सोने से पहले न तो कैफीन का सेवन करें और न ही फ़ोन आदि का इस्तेमाल करें इससे आपको परेशानी बढ़ सकती है।

आहार से न करें लापवाही:- मेनोपॉज़ होने पर शरीर में कमजोरी आने लगती है। और ऐसे में आपको अपनी डाइट का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए और उसमे किसी भी तरह की लापरवाही नहीं करनी चाहिए। स्वस्थ संतुलित व् पौष्टिक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। आइये जानते है की आपको अपने आहार का कैसे ध्यान रखना चाहिए।

  • सबसे पहले तो शरीर में पानी की कमी नहीं होने देना चाहिए क्योंकि पानी आपके शरीर के लिए ऊर्जा स्त्रोत का काम करता है, और आपको दिन में आठ से दस गिलास पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • प्रोटीन और कैल्शियम युक्त आहार का सबसे ज्यादा सेवन करना चाहिए जैसे की सुबह नाश्ते में अंडे का सेवन करना चाहिए और दिन में दो से तीन गिलास दूध जरूर पीना चाहिए।
  • ऐसे आहार से परहेज करना चाहिए जो मोटापा बढ़ाते हैं या फिर जिन्हे खाने से आपको अधिक पसीना आता है, जैसे की ज्यादा तला हुआ, या तीखा खाना नहीं खाना चाहिए।
  • आहार में हरी सब्जियों और फलों का भरपूर सेवन करना चाहिए।
  • सुबह उठकर सूर्य की किरणों को भी बॉडी को लेना चाहिए इससे आपके शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिन डी मिलता है।

तनाव का उपचार:- यह महिला के लिए एक ऐसी स्थिति होती है जिसमे बॉडी में हो रहे हार्मोनल बदलाव के कारण महिला के मूड में भी बदलाव आना आम बात होती है। ऐसे में चिड़चिड़ापन होना, अधिक गुस्सा करना, सोचने की शक्ति कम होना, मानसिक रूप से परेशान होना आम बात होती है। ऐसे में आप इससे बचने के लिए क्या कर सकते हैं आइये जानते हैं।

  • जितना हो सके मस्तिष्क को आराम देना चाहिए और अपनी सोच को पॉजिटिव रखना चाहिए।
  • अपने आप को खुश रखने के लिए वो काम करें जिससे आपको ख़ुशी मिलती है।
  • अकेले न रहें हमेशा लोगो से बाते करें परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताएं।
  • योगासन व् मैडिटेशन करने से भी आपको मानसिक रूप से आराम से रहने में मदद मिलती है।
  • ज्यादा परेशानी होने पर एक बार आप अपने डॉक्टर से भी राय ले सकते है।

बालों और त्वचा से सम्बंधित समस्या का समाधान ऐसे करें:- मेनोपॉज़ का असर आपकी स्किन और बालों पर भी देखने को मिलता है, जैसे की स्किन का रुखा होना, बाल पतले होना, या बालों के झड़ने की समस्या का अधिक होना। तो आइये जानते हैं की आप इस समस्या का समाधान कैसे कर सकते हैं।

  • धूप में निकालने से पहले बालों और स्किन को अच्छे से ढक कर निकलें, साथ ही स्किन के लिए मॉइस्चराइजर का या सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें।
  • बालों के लिए उन्हें धोते समय कंडीशनर का इस्तेमाल करें।
  • स्किन के लिए अच्छे से मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें।
  • जितना हो सकें अधिक केमिकल का प्रयोग करने की बजाय हर्बल चीजों का इस्तेमाल करें।

सम्बन्ध से जुडी परेशानी होने पर:- मेनोपॉज़ के होने पर आपको अपनी शादीशुदा जिंदगी में भी थोड़ी परेशानी हो सकती है। जैसे की शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय आपको अधिक दर्द का आभास होना, और सम्बन्ध बनाने की इच्छा न होना। तो आइये अब जानते हैं की आप इस समस्या से बचने के लिए क्या कर सकते है।

  • प्राइवेट पार्ट के लिए अच्छी सी क्रीम या चिकनाई युक्त पदार्थ का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • ज्यादा टाइट कपडे न पहने और अंडरवियर हमेशा कॉटन का पहने।
  • पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज करने से भी आपको आराम मिलता है, इसे करने के लिए आप अपने यूरिन को रोक रोक कर करें इसी को पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज कहा जाता है।
  • इसके अलावा आपको इन बदलाव के बारे में अपने पार्टनर से भी बात करनी चाहिए।

हार्मोनल बदलाव के लिए उपचार:- मेनोपॉज़ की अवस्था में लगातार और तेजी से हार्मोनल बदलाव होते हैं ऐसे में आपको इसके लिए या तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। या फिर अपनी दिनचर्या में अच्छे तरीके से बदलाव करना चाहिए जिससे आपको शारीरिक के साथ मानसिक रूप से भी फिट रहने में मदद मिल सकें। इसके लावा यदि आपको ज्यादा समस्या है तो आप डॉक्टर की राय के बाद इस समस्या से निजता पाने के लिए हार्मोनल थेरेपी का इस्तेमाल भी कर सकते है।

तो यह है कुछ समस्ये जो आपको मेनोपॉज़ के बाद हो सकती है। जिसके कारण आपको बहुत परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन आप यदि चाहे तो आसानी से इस समस्या का सामना कर सकती हैं, और इस दौरान होने वाली परेशानियों का समाधान भी कर सकती है। और इस दौरान होने वाली परेशानियों से बचाव के लिए आप ऊपर दिए गए टिप्स का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे आपको मेनोपॉज़ के दौरान होने वाली परेशानियों से बचाव करने में मदद मिलती है।

Leave a comment