कौन-कौन सी चीजों का सेवन प्रेगनेंसी के नौवें महीने में नहीं करना चाहिए

प्रेगनेंसी का नौवां महीना लगते ही महिला अपने बच्चे की आने की तैयारियां करने लगती है और उस पल का बेसब्री से इंतज़ार करती है की कब उसकी डिलीवरी होगी। साथ ही इस दौरान महिला की शारीरिक परेशानियां भी बढ़ सकती है। ऐसे में बच्चे के आने की ख़ुशी के उत्साह में महिला को अपनी सेहत का ध्यान रखने में किसी तरह की लापरवाही नहीं करनी चाहिए जिसके कारण डिलीवरी में दिक्कत हो जाये। साथ ही इस दौरान महिला को अपने खान पान का भी ध्यान रखना चाहिए। जैसे की कुछ चीजें हैं जिनका सेवन प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को नहीं करना चाहिए। क्योंकि उनका सेवन करने से माँ व् बच्चे दोनों को दिक्कत हो सकती है। जैसे की:

गैस बनाने वाले आहार

वजन बढ़ने के कारण प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को वैसे भी कब्ज़ व् पाचन क्रिया से सम्बंधित परेशानियां अधिक हो सकती है। ऐसे में ऐसी चीजों का सेवन करना जिसे कहने से महिला को गैस बनती है महिला की पेट सम्बन्धी परेशानियों को बढ़ा सकती है। तो महिला को ऐसी कोई दिक्कत न हो इसके लिए महिला को ऐसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।

कच्चा दूध

प्रेग्नेंट महिला को नौवें महीने में कच्चे दूध का सेवन करने से भी बचना चाहिए। क्योंकि कच्चे दूध में बेड बैक्टेरिया मौजूद होता है। जिसकी वजह से माँ व् बच्चे दोनों को संक्रमण होने का खतरा होता है।

कैफीन

नौवें महीने में महिला को ज्यादा चाय, कॉफ़ी, चॉकलेट आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसके कारण महिला को पेट सम्बन्धी परेशानियां अधिक होने के साथ शिशु के वजन में कमी जैसी समस्या होने का खतरा भी रहता है।

कच्चे अंडे, कच्चा मास, मर्करी युक्त मछली

गर्भावस्था के नौवें महीने में महिला को कच्चे अंडे, कच्चे मास व् मर्करी युक्त मछली का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें लिस्टेरिया, साल्मोनेला, इ कोलाई जैसे बैक्टेरिया मौजूद होते हैं जो माँ व् बच्चे दोनों की सेहत पर नकारात्मक असर डाल सकते हैं। साथ ही इसके कारण डिलीवरी में भी कॉम्प्लीकेशन्स आने का खतरा होता है।

नशीली चीजें

प्रेगनेंसी के आखिरी महीने में महिला को शराब, तम्बाकू, धूम्रपान आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनके कारण डिलीवरी में कम्प्लीकेशन आने के साथ जन्म के समय शिशु के वजन में कमी, दिमागी विकास में कमी व् और भी दिक्कतें होने का खतरा बढ़ जाता है।

जंक फ़ूड

गर्भावस्था के नौवें महीने में प्रेग्नेंट महिला को जंक फ़ूड भी नहीं खाना चाहिए। क्योंकि जंक फ़ूड खाने से महिला को पेट सम्बन्धी परेशानियां अधिक होने का खतरा रहता है।

तो यह हैं कुछ चीजें जिनका सेवन प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को नहीं करना चाहिए। इसके अलावा किसी भी सब्ज़ी या फल का प्रयोग करने से पहले उसे अच्छे से धो लेना चाहिए ताकि उस पर मौजूद बेड बैक्टेरिया के कारण आपकी सेहत को कोई नुकसान न हो। और जितना हो सके आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन्स से भरपूर आहार लेना चाहिए। जिससे माँ व् बच्चे दोनों को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके, प्रेगनेंसी के नौवें महीने में महिला को अधिक परेशानियां न हो और डिलीवरी में किसी भी तरह की दिक्कत न आये।